Breaking News
अभिनेता श्याम के जन्मदिन पर         ||           मोरक्को के साथ रेल सहयोग समझौते को केंद्रीय मंत्रिमंडल की मंजूरी         ||           आज का दिन :         ||           राशिद की बदौलत अफगानिस्तान ने 4-1 से जीती सीरीज         ||           अग्नि 2 मिसाइल का भारत ने परीक्षण किया         ||           सीबीआई की पीएनबी घोटाले में पूछताछ जारी         ||           जम्मू एवं कश्मीर में हल्के भूकंप के झटके         ||           तेजस्वी ने नीतीश की जापान यात्रा पर कसा तंज         ||           आप और भाजपा में दिल्ली के मुख्य सचिव के साथ 'बदसलूकी' पर तकरार         ||           प्रधानमंत्री मोदी ने अरुणाचल, मिजोरम को स्थापना दिवस की बधाई दी         ||           भारतीय हॉकी टीम की सुल्तान अजलान शाह कप के लिए घोषणा         ||           ऋचा चड्ढा ने कहा मैं फिल्म की क्षमता के आधार पर ही हामी भरती हूं         ||           हरदीप पुरी ने कहा स्मार्ट सिटीज योजना देश के शहरों में बदलाव की शुरुआत         ||           बाहुबली महामस्तकाभिषेक के प्रथम कलश की अलौकिक अनुभूति और जन कल्याण...         ||           शीर्ष न्यायालय पीएनबी घोटाले में बैंक उच्च अधिकारियों की भूमिका पर करेगा सुनवाई         ||           सीबीआई की रोटोमैक मामले में छापेमारी जारी         ||           पेरू के पूर्व राष्ट्रपति पर फिर चलेगा मुकदमा         ||           राजधानी दिल्ली में सुबह हल्का कोहरा छाया         ||           शेयर बाजार हरे निशान पर खुले         ||           मिस्र को इजरायल का गैस निर्यात के लिए करार         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> अब होगी गिद्धों की गणना

अब होगी गिद्धों की गणना


Vniindia.com | Thursday December 31, 2015, 10:27:54 | Visits: 505







अब होगी गिद्धों की गणना

भोपाल, 31 दिसंबर (वीएनआई)गिद्धों की गणना...जी मध्य प्रदेश मे विलुप्त होने की कगार पर पहुंच चुके गिद्ध को बचाने के लिए गिद्धों की संख्या गिनी जा रही है। यह गणना 23 जनवरी को होगी। राज्य में किए गए सर्वेक्षण में 30 जिलों में 592 स्थानों पर गिद्घों के घोंसले पाए गए हैं।
आधकारिक जानकारी के अनुसार वर्ष 2016 में सरकार दो चरण में राज्यव्यापी गणना करवाएगी। प्रथम चरण गणना 23 जनवरी और द्वितीय चरण गणना मई में होगी। संकलित जानकारी एवं गणना के आंकड़ों के आधार पर भारतीय वन प्रबंध संस्थान, भोपाल प्रादेशिक गिद्घ एटलस तैयार करेगा। एटलस के आधार पर गिद्घ और गिद्घ घोंसलो के संरक्षण की रणनीति तैयार की जाएगी।्वी एन आई

Latest News




कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें