Breaking News
विराट कोहली टेस्ट रैंकिंग में पांचवें स्थान पर पहुंचे         ||           राष्ट्रपति कोविंद हड़ताल के बीच मणिपुर पहुंचे         ||           सेंसेक्स 118 अंकों की तेजी पर बंद         ||           प्रियरंजन दासमुंशी के निधन पर विजय मल्होत्रा ने शोक जताया         ||           योगी आदित्यनाथ ने कहा राहुल गांधी वंशवाद की परम्परा को ही आगे बढ़ाएंगे         ||           कांग्रेस ने कहा गुजरात चुनाव के कारण संसद से बच रही है सरकार         ||           आज का दिन:         ||           छिल्लर की जीत पर शिवसेना ने भाजपा पर तंज कसे         ||           ममता ने कहा आधार संख्या जोड़ना समस्याओं से भरा         ||           भारतीय बास्केट में कच्चे तेल की कीमत 60.86 डॉलर प्रति बैरल         ||           माजिद मजीदी ने कहा अपने देश से ज्यादा भारत में मशहूर हूं         ||           पुतिन ने सीरिया युद्ध पर चर्चा के लिए असद से मुलाकात की         ||           इटली फुटबाल संघ के अध्यक्ष का इस्तीफा         ||           नौसेना का आरपीए विमान दुर्घटनाग्रस्त         ||           राजद अध्यक्ष के रूप में लालू की 10वीं बार ताजपोशी         ||           जद (यू) गुजरात में 50 से ज्यादा सीटों पर लड़ेगी चुनाव         ||           आसियान के साथ चीन सहयोग बढ़ाने के लिए तैयार         ||           लीबिया में अगवा डॉक्टर की रिहाई की डब्ल्यूएचओ ने अपील की         ||           दलवीर भंडारी दूसरी बार आईसीजे न्यायाधीश बने         ||           रहमान ने कहा मैं और मजीदी दोनों विशिष्ट वर्ग के         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> अब होगी गिद्धों की गणना

अब होगी गिद्धों की गणना


Vniindia.com | Thursday December 31, 2015, 10:27:54 | Visits: 452







अब होगी गिद्धों की गणना

भोपाल, 31 दिसंबर (वीएनआई)गिद्धों की गणना...जी मध्य प्रदेश मे विलुप्त होने की कगार पर पहुंच चुके गिद्ध को बचाने के लिए गिद्धों की संख्या गिनी जा रही है। यह गणना 23 जनवरी को होगी। राज्य में किए गए सर्वेक्षण में 30 जिलों में 592 स्थानों पर गिद्घों के घोंसले पाए गए हैं।
आधकारिक जानकारी के अनुसार वर्ष 2016 में सरकार दो चरण में राज्यव्यापी गणना करवाएगी। प्रथम चरण गणना 23 जनवरी और द्वितीय चरण गणना मई में होगी। संकलित जानकारी एवं गणना के आंकड़ों के आधार पर भारतीय वन प्रबंध संस्थान, भोपाल प्रादेशिक गिद्घ एटलस तैयार करेगा। एटलस के आधार पर गिद्घ और गिद्घ घोंसलो के संरक्षण की रणनीति तैयार की जाएगी।्वी एन आई

Latest News




कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें