Breaking News
हिज्बुल मुजाहिदीन का आतंकी दिल्ली में गिरफ्तार         ||           केंद्रीय मंत्री हरिभाई चौधरी ने कहा अगर आरोप सही हुए तो राजनीति छोड़ दूंगा         ||           एमसी मैरीकॉम वर्ल्ड चैंपियनशिप के सेमीफाइनल में         ||           अमृतसर ब्लास्ट मामले में दो संदिग्ध छात्र बठिंडा से गिरफ्तार         ||           सचिवालय में मुख्यमंत्री केजरीवाल पर मिर्च पाउडर से हमला         ||           सेंसेक्स 300 अंक की गिरावट पर बंद         ||           सुषमा स्वराज ने कहा नहीं लड़ेंगी अगला लोकसभा चुनाव         ||           अशोक गहलोत ने कहा वसुंधरा ने जोधपुर के साथ किया सौतेला बर्ताव         ||           क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने कहा स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर पर प्रतिबंध रहेगा बरकरार         ||           शिकागो के अस्पताल में गोलीबारी मे चार लोगों की मौत         ||           बिहार की पूर्व मंत्री मंजू वर्मा ने सरेंडर किया         ||           पेट्रोल-डीजल की कीमतों में गिरावट जारी है         ||           महाराष्ट्र के वर्धा में आर्मी डिपो में धमाका, 6 लोगों की मौत         ||           कांग्रेस ने वरिष्ठ नेता सत्यव्रत चतुर्वेदी को पार्टी से निकाला         ||           शोपियां में आतंकियों के साथ मुठभेड़ में चार आतंकी ढेर         ||           देश के शेयर बाज़ारो के शुरूआती कारोबार में गिरावट का असर         ||           छत्तीसगढ़ मे 72 विधानसभा सीटों पर मतदान जारी         ||           ममता बनर्जी ने कहा हर कोई होगा महागठबंधन का चेहरा         ||           जम्मू कश्मीर मे सीमा पर हुए धमाके में एक जवान शहीद         ||           जोकोविच को हराकर ज्वेरेव ने अपना पहला एटीपी फाइनल्स जीता         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> ये है हमारे सबसे ज्यादा'परोपकारी' अमीर, चुपचाप जुटे है सेवा में

ये है हमारे सबसे ज्यादा'परोपकारी' अमीर, चुपचाप जुटे है सेवा में


Vniindia.com | Wednesday September 09, 2015, 09:34:48 | Visits: 457







ह्यूस्टन, 9 सितंबर (अनुपमा जैन,वीएनआई) दुनिया के सबसे परोपकारी धनाढ्यो मे सात भारतीय भी है जो चुपचाप अपनी कमाई का बड़ा हिस्सा परोपकार मे लगा रहे है.मशहूर पत्रिका फोर्ब्स एशिया की ‘हीरोज़ ऑफ फिलेंथ्रेपी’ (परोपकार के नायक) की 9वीं सूची ने परोपकारी कार्यों में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेने वाले 13 एशिया प्रशांत देशों के दानदाता धनाढ्यों की एक सूची तैयार की है जिसमे सात भारतीय है

मददगारो की इस सूची में जिस भारतीय का नाम शीर्ष पर है, केरल में जन्मे और दुबई में रहने वाले उद्योगपति सनी वर्की , जिन्होंने बिल गेट्स और वारेन बफे द्वारा शुरू की गई ‘गिविंग प्लेज’ (संपत्ति का एक हिस्सा कल्याणार्थ देने के संकल्प) की पहल के तहत जून के महीने में अपने 2.25 अरब डॉलर (लगभग 15 हजार करोड़ रुपये) का आधा हिस्सा दान में देने की घोषणा की थी. वर्की दुबई स्थित जीईएमएस कंपनी के संस्थापक हैं. 14 देशों में इस कंपनी के 70 निजी स्कूल है.

इसके बाद इस सूची में आईटी कंपनी इन्फ़ोसिस के चार सह संस्थापकों को शामिल किया गया है.इनमें सेनापथे गोपालकृष्णन, नंदन नीलेकणी और एसडी शिबूलाल के नाम हैं. उऩ्हें स्वास्थ्य और शिक्षा के क्षेत्र में विशेष तौर पर योगदान के लिए शामिल किया गया है.

इन्फ़ोसिस के एक और सह-संस्थापक एनआर नारायणमूर्ति के बेटे रोहन का नाम हार्वर्ड यूनिवर्सिटी प्रेस को 52 लाख डॉलर देने के लिए शामिल किया गया है. रोहन ने ये राशि प्राचीन भारतीय साहित्यिक कृतियों को बढ़ावा देने के लिए उपलब्ध कराई है.

इस सूची में लंदन के उद्योगपति भाई- सुरेश रामकृष्णन और महेश रामकृष्णन के नाम भी शामिल हैं.इन दोनों भाईयों ने भारत भर में 4,000 से अधिक लोगों को सिलाई का प्रशिक्षण देने के लिए तीस लाख अमरीकी डालर का गोगदान दिया.इन दान प्राप्तकारों में 2004 की सुनामी पीड़ित और ज़रूरतमंद महिलाएं भी शामिल हैं.वी एन आई.

Latest News




कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें