Breaking News
विराट कोहली टेस्ट रैंकिंग में पांचवें स्थान पर पहुंचे         ||           राष्ट्रपति कोविंद हड़ताल के बीच मणिपुर पहुंचे         ||           सेंसेक्स 118 अंकों की तेजी पर बंद         ||           प्रियरंजन दासमुंशी के निधन पर विजय मल्होत्रा ने शोक जताया         ||           योगी आदित्यनाथ ने कहा राहुल गांधी वंशवाद की परम्परा को ही आगे बढ़ाएंगे         ||           कांग्रेस ने कहा गुजरात चुनाव के कारण संसद से बच रही है सरकार         ||           आज का दिन:         ||           छिल्लर की जीत पर शिवसेना ने भाजपा पर तंज कसे         ||           ममता ने कहा आधार संख्या जोड़ना समस्याओं से भरा         ||           भारतीय बास्केट में कच्चे तेल की कीमत 60.86 डॉलर प्रति बैरल         ||           माजिद मजीदी ने कहा अपने देश से ज्यादा भारत में मशहूर हूं         ||           पुतिन ने सीरिया युद्ध पर चर्चा के लिए असद से मुलाकात की         ||           इटली फुटबाल संघ के अध्यक्ष का इस्तीफा         ||           नौसेना का आरपीए विमान दुर्घटनाग्रस्त         ||           राजद अध्यक्ष के रूप में लालू की 10वीं बार ताजपोशी         ||           जद (यू) गुजरात में 50 से ज्यादा सीटों पर लड़ेगी चुनाव         ||           आसियान के साथ चीन सहयोग बढ़ाने के लिए तैयार         ||           लीबिया में अगवा डॉक्टर की रिहाई की डब्ल्यूएचओ ने अपील की         ||           दलवीर भंडारी दूसरी बार आईसीजे न्यायाधीश बने         ||           रहमान ने कहा मैं और मजीदी दोनों विशिष्ट वर्ग के         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> तमिलनाडु के विवादास्पद खेल जल्लीकट्टू पर से प्रतिबंध हटा

तमिलनाडु के विवादास्पद खेल जल्लीकट्टू पर से प्रतिबंध हटा


Vniindia.com | Friday January 08, 2016, 03:03:49 | Visits: 482







नई दिल्ली 8 जनवरी (वीएनआई) केंद्र सरकार ने तमिलनाडु में सांड को काबू में करने के विवादास्पद खेल 'जल्लीकट्टू यानी ' मंजू विरट्टू (सांड को काबू करना ), पर से प्रतिबंध हटा दिया है। तमिलनाडु में जल्लीकट्टू एक लोकप्रिय खेल रहा है, मदुरई के पास स्थित कई गाँवों में जनवरी में पोंगल के मौके (फसल कटाई का त्यौहार ) पर मट्टू पोंगल के दिन विशेष तौर पर जल्लीकट्टू यानी सांड को काबू में करने के खेल का आयोजन होता है. हालांकि पशुप्रेमी संगठन इस खेल का विरोध करते रहे हैं पर अब पर्यावरण और वन मंत्रालय ने एक अधिसूचना जारी करते हुए खेल को मंज़ूरी दे दी है.इससे तमिलनाडु में जश्न का माहौल बन गया है
तमिलनाडु में इस साल विधानसभा चुनाव होने हैं और इसे देखते हुए ये फ़ैसला अहम माना जा रहा है. तमिलनाडु सरकार के अलावा कई किसान संगठनों ने भी मांग की थी कि केंद्र सरकार क़ानून में बदलाव करे.तमिलनाडु के राजनीतिक दल इस प्रतिबंध को हटाने की मांग कर रहे थे।
पर्यावरण मंत्रालय ने 2011 की अधिसूचना में थोड़ा बदलाव करके आज नई अधिसूचना जारी की, जिसमें जल्लीकट्टू और देश के कुछ राज्यों में होने वाली परंपरागत बैलगाड़ी दौड़ पर से प्रतिबंध हटा दिया गया है। , अधिसूचना केअनुसार जल्लीकट्टू के तहत सांड या बैलों को 15 मीटर के दायरे के अंदर ही काबू करना होगा। महाराष्ट्र, कर्नाटक, पंजाब, हरियाणा, केरल और गुजरात में होने वाले परंपरागत बैलगाड़ी दौड़ पर भी लगी रोक हट गई है। बशर्ते ये दौड़ एक विशेष ट्रैक पर ही कराई जाए, जो दो किलोमीटर से ज्यादा लंबा ना हो। पूर्वोत्तर के दौरे पर गये पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि उचित सुरक्षा और जानवरों पर अत्याचार नहीं करने की शर्त पर जल्लीकट्टू की इजाजत दी गई है।
तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे जयललिता ने जल्लीकट्टू पर से प्रतिबंध हटाने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार व्यक्त किया है। इस अधिसूचना के बाद तमिलनाडु में जश्न सा माहौल है।
गौरतलब है किं सुप्रीम कोर्ट ने मई 2014 में केंद्र सरकार के तब के नोटिफ़िकेशन को सही ठहराया था जिस पर जल्लीकट्टू पर बैन लगाया गया था

Latest News




कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें