Breaking News
शिवसेना ने कहा बीजेपी भगोड़े माल्या को 'मेक इन इंडिया' का ब्रांड अंबेसडर बना दे         ||           बीरेन सिंह ने कहा अगर मणिपुर का बंटवारा हुआ तो इस्तीफा दे दूंगा         ||           अनुष्का ने विराट कोहली के साथ पोस्ट की बेहद प्यारी तस्वीर         ||           जावडे़कर ने कहा खुद को मुसलमानों की पार्टी कहने वाली कांग्रेस घोर सांप्रदायिक         ||           आज का दिन : अरुणा आसफ अली         ||           अक्षय-करीना की जोड़ी बॉलीवुड में फिर दिखेगी         ||           सेंसेक्स 218 अंक की गिरावट पर बंद         ||           हरभजन सिंह ने कहा 50 लाख आबादी वाला क्रोएशिया फुटबॉल खेल रहा है और हम हिंदु-मुसलमान         ||           थोक महंगाई दर जून में 5.77 फीसदी, चार साल के उच्चतम स्तर पर         ||           रमेश पवार महिला क्रिकेट टीम के नए अंतरिम कोच बने         ||           प्रधानमंत्री की रैली में टेंट गिरने से 22 लोग घायल         ||           प्रधानमंत्री मोदी ने पश्चिम बंगाल की किसान रैली में विपक्ष पर फिर साधा निशाना         ||           राहुल गांधी ने महिला आरक्षण पर प्रधानमंत्री मोदी को लिखी चिट्ठी         ||           गिरिराज सिंह ने कहा राहुल देश को तोड़ने की साजिश कर रहे हैं         ||           उत्तराखंड के चमोली में बादल फटने भयंकर तबाही, जन-जीवन अस्त-व्यस्त         ||           जम्मू एवं कश्मीर के कुपवाड़ा में मुठभेड़ में एक आतंकी की मौत         ||           नोवाक जोकोविच चौथी बार विंबलडन चैंपियन बने         ||           प्रधानमंत्री मोदी की आज पं. बंगाल के मिदनापुर में किसान रैली         ||           राष्ट्रपति कोविंद और प्रधानमंत्री मोदी ने फ्रांस को दूसरी बार फीफा चैंपियन बनने पर दी बधाई         ||           शेयर बाजार के शुरूआती कारोबार में गिरावट का असर         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> रूहानी शांति और माहौल मे गूंजता "ओ दूर के मुसाफिर हमको भी साथ ले ले, हम रह गये अकेले"

रूहानी शांति और माहौल मे गूंजता "ओ दूर के मुसाफिर हमको भी साथ ले ले, हम रह गये अकेले"


Vniindia.com | Sunday November 29, 2015, 04:38:39 | Visits: 729







नयी दिल्ली,29 नवंबर (सुनील कुमार/वीएनआई) ऑडीटोरियम "ओ दूर के मुसाफिर हमको भी साथ लेले , हम रह गए अकेले "मोहम्मद रफी के सदाबहार गाने से गूंज रहा है, हॉल मे अजीब सी चुप्पी पसरी है,एक रूहानी सी शांति,लग रहा था सभी संगीत प्रेमी श्रोता गाने के गायक और 'संगीत की आत्मा' मोहम्मद रफी से यह इल्तजा कर रहे है. राजधानी मे हाल ही मे एक नयी तरह की संगीत संध्या संगीत उपासको की तरफ से सुनने को मिली, जहा संगीत ने सारी स्मृतियॉ मानो सजीव कर दी हो. नयी तरह की संगीत संध्या इसलिये कि यहा वीणावादिनी सरस्वती और मॉ लक्षमी एक ही शरीर् मे प्रवेश कर गई.इन गानो को पेश किया था पेशे और व्यवसाय से बिल्डर ,डेवलपर के साथ साथ संगीत के उपासक ,मोहम्मद रफ़ी के 'पुजारी ',गायक सुरेश रहेजा ने, जिम्होने नौशाद और रफ़ी साहिब की जोड़ी वाले नग्मों को पेश किया और एक रूहानी समॉ बॉध दिया.ऑडिटोरियम की बैकग्राउंड में हर गाने के साथ गाने से जुडी स्लाइड एक अलग माहौल ,पेश कर रही थीं नौशाद ,रफ़ी की जोड़ी के सारे रंग हॉल में बिखर रहे थे .सतरंगी गानो की लड़ी मे कभी उदास रंग थे ,कभी चहकते रंग और कभी खिलखिलाते रंगो वाले गीत .
सुरेश के गानो मे एक उपासक की साधना देखने को मिली. गाना चाहे 'ओ दूर के मुसाफिर','ऐ दुनिया के रखवाले' रहा हो या 'आज पुरानी राहों सेकोई मुझे आवाज न दे', या फिर'मुझे दुनिया वालों शराबी न समझो' की मस्ती, या फिर 'याद में तेरी जाग जाग कर' की तड़प, मानो दोनो अद्वितीय संगीतज्ञो की जोड़ी ्के सारे भाव फिर से सजीव कर दिये हो सुरेश जी का स्टेज पर साथ दिया युवा गायिका झनक ने,स्टेज पर सुरेशजी व् झनक गा रहे थे ,हॉल में बैठा हर दर्शक अपने आपको गाने से रोक नहीं पा रहा था ,साथ ही दर्शकों के कदम सुर ताल के साथ थिरक रहे थे शायद सही ही कहा जाता है अच्छे संगीत की कोई एक्सपायरी डेट नहीं होती.
·सुरेश रहेजा आज संगीत की दुनिया का एक जाना पहचाना नाम है ,सच है लोगों लिए वे कंक्रीट के मकान बनाते हैं पर खुद मौसिकी की इमारत में सुकून से रहते हैं दिल्ली ,मुंबई के संगीत प्रेमी अक्सर उनके कार्यक्रमो में उनके गीतों का लुत्फ़ उठाते रहते हैं । सुरेश जी ,आशा भोंसले ,अलका याग्निक ,श्रेया घोषाल व् अन्य जानी मानी गायिकाओं के साथ फ़िल्मी गाने गा चुके हैं.संगीत कार्यक्रम खत्म हो गया है मै वापस लौट रहा हूं. रफी के इंतकाल पर नौशाद की कही कुछ लाईने याद आ रही है

कहता है कोई दिल गया, दिलबर चला गया,साहिल पुकारता है,समंदर चला गया।

लेकिन जो बात सच है, वो कहता नहीं कोई,दुनिया से मौसकी का,पयम्बर चला गया॥

पर सुरेश रहेजा जैसे संगीत उपासक रफ़ी साहिब की यादों को हमेशा ज़िंदा रखेंगे. सोच रहा हूं कोई भी चीज़ आपको हिट करती है आपको तकलीफ देती है ,पर संगीत जब आपको हिट करता है तो आपको आनंद देता है. वीएनआई

Latest News




कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें