Breaking News
आज का दिन :         ||           ममता बनर्जी ने कहा अमित शाह की रथ यात्रा नहीं 'रावण यात्रा' है         ||           भाजपा ने मध्य प्रदेश चुनाव के लिए जारी किया घोषणा पत्र         ||           पाकिस्तान के कराची में बम विस्फोट से दो लोगों की मौत         ||           प्रधानमंत्री मोदी आज पहली बार मालदीव में सोलेह के शपथ ग्रहण में होंगे शामिल         ||           जम्मू-कश्मीर में पंचायत चुनाव के पहले चरण में आज वोटिंग जारी         ||           संगीतकार रोशन की पुण्य तिथि पर         ||           राजा भैया ने जनसत्ता पार्टी नाम से नए राजनीतिक दल का ऐलान किया         ||           राहुल गांधी ने कहा 10 दिन के अंदर कांग्रेस के मुख्यमंत्री ने कर्ज माफ नहीं किया तो मुख्यमंत्री बदल दूंगा         ||           आज का दिन :         ||           सचिन पायलट ने कहा वसुंधरा राजे एकमात्र नेता जिन्होंने अमित शाह को उनकी जगह दिखाई         ||           सबरीमाला दर्शन करने पहुंचीं तृप्ति देसाई को कोच्चि एयरपोर्ट पर रोका         ||           दिल्ली सचिवालय के अंदर हेड कांस्टेबल ने मारी खुद को गोली         ||           दीपिका-रणवीर एक-दूसरे के हुए, शादी की पहली तस्वीर जारी         ||           आज का दिन : विनोबा भावे         ||           राहुल गांधी ने कहा फ्रांस ने सरकार को सौदे में कोई गारंटी नहीं दी         ||           सेंसेक्स 118 अंक की तेजी पर बंद         ||           हार्दिक पटेल ने भाजपा पर कसा तंज, देशवासियों का नाम बदलकर 'राम' रख देना चाहिए         ||           तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर लगाया जासूसी करवाने का आरोप         ||           अमेरिका ने कहा पाक को आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में और ज्यादा करने की जरूरत है         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> रुपये पैसों की दास्तान

रुपये पैसों की दास्तान


Vniindia.com | Friday December 16, 2016, 09:47:09 | Visits: 723







सुनील कुमार ,वी एन आई ,दिल्ली 16 -12 - 2016
रुपये पैसों की दास्तान
कहा जाता है जिंदगी और सिक्के में एक समानता है ,दोनों को आप अपने हिसाब से खर्च कर सकते हैं लेकिन सिर्फ एक बार खर्च कर सकते हैं
‘रुपया’ शब्द संस्कृत के शब्द ‘रुपयक’ से निकला है हुई जिसका अर्थ ‘चांदी’ है और रुपया का संस्कृत में मतलब ‘चिन्हित मुहर’ है।
रुपये का इतिहास 15 वीं सदी तक का है जब शेर शाह सूरी ने इसकी शुरुआत की थी। उस समय तांबे के 40 टुकड़े एक रुपये के बराबर थे।
मूलतः रुपया चांदी से बनाया जाता था जिसका वजन 11.34 ग्राम था। ब्रिटिश शासन के दौरान भी चांदी का रुपया चलता था ।
सन् 1815 तक मद्रास प्रेसिडेंसी ने फनम पर बेस्ड मुद्रा जारी कर दी थी। तब 12 फनम एक रुपये के तुल्य था।
सन् 1835 तक ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी की तीन प्रेसिडेंसियों बंगाल, बाॅम्बे और मद्रास ने अपने अपने कॉइंस जारी कर दिए थे।
बैंक नोटों की एक्सिस्टिंग सीरीज को महात्मा गांधी सीरीज कहा जाता है। इसे सन् 1966 में 10 रुपये के नोट से शुरु किया गया जिस पर महात्मा गांधी की तस्वीर थी।


Latest News




कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें