Breaking News
स्वीडन फीफा विश्व कप में कप्तान ग्रैंक्विस्ट के पेनाल्टी गोल से जीता         ||           राजनाथ ने कहा साइबर अपराध की ऑनलाइन शिकायत के लिए पोर्टल जल्द         ||           राहुल गाँधी ने केजरीवाल और भाजपा दोनों पर निशाना साधा         ||           आस्ट्रेलिया आईसीसी वनडे रैकिंग में 34 साल के सबसे निचले स्तर पर         ||           प्रकाश जावड़ेकर ने कहा राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2018 के अंत तक         ||           सेंसेक्स 74 अंकों की गिरावट पर बंद         ||           कांग्रेस ने कहा दिल्ली संकट के लिए आप, भाजपा दोनों जिम्मेदार         ||           पीयूष गोयल ने कहा वित्त वर्ष की चौथी तिमाही तक 10 फीसदी की जीडीपी का लक्ष्य हासिल         ||           वित्तमंत्री जेटली ने जीडीपी वृद्धि दर को सराहा         ||           शंघाई फिल्मोत्सव में 'हिचकी' को स्टैंडिंग ओवेशन         ||           आज का दिन         ||           बॉल टेम्परिंग से चंडीमल का साफ इनकार         ||           पाकिस्तान के 108 विस्थापितों को भारतीय नागरिकता मिली         ||           मनीष सिसोदिया अस्पताल में भर्ती         ||           एकॉन ने कहा अच्छा इंसान होना धर्म पर निर्भर नहीं         ||           रणबीर ने कहा असफलताओं ने काफी कुछ सिखाया         ||           मेंडिस, डिकवेला के दम पर श्रीलंका की सेंट लूसिया टेस्ट में 287 रनों की बढ़त         ||           मेलानिया ने कहा प्रवासी बच्चों को मां-बाप से दूर करने वाली नीति समाप्त हो         ||           त्रिपुरा विधानसभा का बजट सत्र मंगलवार से शुरू         ||           जम्मू एवं कश्मीर में दो आतंकवादी ढेर         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> अपना दूरदर्शन

अपना दूरदर्शन


Vniindia.com | Friday September 16, 2016, 08:42:19 | Visits: 543








सुनील जैन ,नयी दिल्ली ,वी एन आई,16 /9 /16

"सादगी की ताकत को नज़रअंदाज़ नहीं किया जा सकता"
"सादगी से ही बेजोड़ खूबसूरती सामने आती है"
लगता है किसी ने दूरदर्शन के लिए ही ये पंक्तियाँ कही हैं ! कल ,15 /9 /2016 को दूरदर्शन का स्थापना दिवस था ,इसी अवसर पर कल नयी दिल्ली में एक रंगारंग कार्यक्रम "सत्यम शिवम् सुंदरम " आयोजित किया गया ,इस अवसर पर सुचना प्रसारण मंत्री श्री वेंकैय्या नायडू मौजूद थे ! सादगी में रच बसा दूरदर्शन भारतीय जनमानस के जीवन का अभिन्न हिस्सा रहा है! कौन भूल सकता है दूरदर्शन की वो लुभावनी सिग्नेचर ट्यून ,वो साधना श्रीवास्तव ,ज्योत्सना ,मुक्ता श्रीवास्तव ,जसलीन वोरा के सौम्य , सादगी भरे चेहरे, व् सलमा सुल्तान ,प्रतिमा पूरी ,रमन ,सरला जरीवाला का गंभीरता व् ठहराव से हिंदी समाचार पढ़ना और गीतांजलि अय्यर ,नीति रवीन्द्रन रिनी साइमन का स्टाइल व् ग्रेस से अंग्रेजी ख़बरें पढ़ना, हालत ये थी की लोगबाग तरीके से हिंदी ,अंग्रेजी बोलने की प्रेरणा इन से लेते थे!
आज भी धारावाहिकों हम लोग,बुनियाद ,नुक्कड़ के चरित्रों को लोग नहीं भूले हैं
और हाँ धारावाहिक रामायण , महाभारत जो घरों के टीवी को पूजा की वेदी बना देते थे ,घर को मंदिर , अगरबत्ती ,धूप का धुंआ माहौल को भक्तिमय बना देते थे !इस दौरान सड़कें , गलियां ,मोहल्ले सब सूने हो जाते थे !
रही बात रविवार की फिल्म की और चित्रहार की ,तो ये घर में उत्सव जैसा माहौल बना देते थे ! पडोसी और मित्रगण इक्कठे ही जाते थे और मेजबान द्वारा उन्हें गर्म गर्म नाश्ता भी परोसा जाता था!
दूरदर्शन महज टीवी नहीं था बल्कि होली ,दिवाली ,राखी ,नवरात्र की तरह एक उत्सव था ! आज भी प्राइवेट चैनल्स की भीड़ में दूरदर्शन( (अपने विभिन्न चैनलों के जरिये ) अपनी सबसे ज्यादा पहुँच के साथ,अलग पहचान बनाये हुए हैं!दूरदर्शन साहित्य, कला ,भारतीयता को जिस तरह आगे बढा रहा है वो अतुल्य है

Latest News




कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें