Breaking News
विदेशी पूंजी भंडार देश में 1.82 अरब डॉलर घटा         ||           राहुल गांधी ने केरल बाढ़ को राष्ट्रीय आपदा घोषित करने की मांग की         ||           प्रधानमंत्री मोदी ने बाढ़ प्रभावित केरल को 500 करोड़ रुपये की मदद का ऐलान किया         ||           आज का दिन : एशियन गेम्स         ||           नवजोत सिंह सिद्धू पाक आर्मी चीफ से मिले गले         ||           इमरान खान ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री की शपथ ली         ||           कर्नाटक में बाढ़ जैसे हालात, तीन लोगों की मौत         ||           गुजरात में ट्रक-ऑटो की टक्कर से 5 लोगों की मौत         ||           इमरान खान आज पाकिस्तान के प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे         ||           प्रधानमंत्री मोदी बाढ़ के हालात का जायजा लेने देर रात केरल पहुंचे         ||           बॉलिवुड स्टार केरल बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए आगे आए         ||           अलविदा अटलजी : कर्तव्य पथ         ||           किम जोंग-उन ने कहा ‘शत्रुतापूर्ण ताकतें’ कोरियाई जनता को बर्बाद करना चाहती है         ||           इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह के लिए नवजोत सिंह सिद्धू पाकिस्तान रवाना         ||           पंचतत्व में विलीन हो गए अटल बिहारी वाजपेयी         ||           सेंसेक्स 284 अंक की तेजी पर बंद         ||           अटल बिहारी को ज्योतिरादित्य सिंधिया ने माथा टेककर किया नमन         ||           पाकिस्तान में भी वाजपेयी के निधन से दुख की लहर         ||           वीरेंद्र सहवाग और मोहम्मद कैफ केरल में बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए आगे आए         ||           अटल बिहारी वाजपेयी की बायॉपिक बन रही है 'युगपुरुष अटल'         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> जर्मनी ने भी बुर्के पर प्रतिबंध लगाने की दिशा मे पहला कदम उठाया

जर्मनी ने भी बुर्के पर प्रतिबंध लगाने की दिशा मे पहला कदम उठाया


Vniindia.com | Saturday April 29, 2017, 08:47:09 | Visits: 349







बर्लिन,29 अप्रैल (वीएनआई) जर्मनी ने भी अब अन्य कई यूरोपियन देशों की हुए मुस्लिम महिलाओं द्वारा पहने जाने वाले बुर्के पर प्रतिबंध लगाने की दिशा मे पहला कदम उठा लिया है।
जर्मन की संसद मे प्रतिनिधियों ने "पूरे चेहरे को ढकने" पर आंशिक प्रतिबंध लगाने के लिए मतदान किये। इस मसौदे में विशेष रूप से पूरे इस्लामिक परिधान का उल्लेख नहीं किया गया है लेकिन इसमें स्पष्ट रूप से मुंह ढकने वाले, बुर्के को ध्यान में रखा गया है। अब इस कानून को अनुमोदन के लिए संसद के ऊपरी सदन में भेजा जायेगा.
दिसंबर 2016 में जर्मनी की चांसलर एंजेला मेर्केल ने कहा था कि " जहां भी कानूनी रूप से संभव हो सके, पूरे बुर्के पर ही प्रतिबंध लगा देना चाहिए।"
वहां के संविधान के अनुसार भी, महिला न्यायाधीशों और सैनिकों सहित जन प्रतिनिधियों और अधिकारीयों को अपने चेहरे खुले रखने ही चाहिए।
इस कानून के मसौदे के अनुसार लोगों के चेहरे को उनके पहचान पत्रों के साथ मिलाने के लिए चेहरे की कवरिंग को हटाने की आवश्यकता पड़ सकती है।
गौरतलब है कि फ्रांस यूरोप का पहला देश जिसने सार्वजानिक स्थान पर चेहरे को ढकने पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगाया। इसके लिए बना कानून अप्रैल 2011 से ही प्रभाव में आ गया था।
इसके खिलाफ अपील की गयी जिसमें कहा गया कि पूरे चेहरे को ढकने पर लगा प्रतिबंध धार्मिक आजादी का हनन है, लेकिन 2014 में यूरोपीय मानवाधिकार न्यायालय ने इस तर्क को नकार दिया और बुर्के पर प्रतिबंध के सरकार के फैसले को बरकरार रखा।
इस कानून के लागू हो जाने के बाद से लगभग 1600 गिरफ्तारियां हो चुकी हैं और नियम का उल्लंघन करने पर 150 पाउंड तक का जुर्माना लगाया गया। ब्रिटेन मे हालांकि ऐसा कोई कानून नहीं है जो धार्मिक कारणों से पहने जाने वाले परिधान पर रोक लगाता हो। हालांकि मार्च 2007 में, वहां के शिक्षा मंत्रालय ने सार्वजनिक प्रतिष्ठानों और सांप्रदायिक स्कूलों के निदेशकों को निकाब पर प्रतिबंध लगाने के निर्देश जारी कर दिए थे

Latest News




कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें