Breaking News
वाटसन का आईपीएल-11 में दमदार शतक, चेन्नई ने बनाये 204 रन         ||           जेटली ने कहा कांग्रेस राजनीतिक हथियार के तौर पर महाभियोग का कर रही है प्रयोग         ||           सीए ने कहा इंग्लैंड दौरे से पहले होगी नए कोच, वनडे कप्तान की घोषणा         ||           गेल ने कहा सहवाग ने मुझे चुनकर आईपीएल को बचा लिया         ||           राहुल गाँधी ने न्यायाधीश लोया मामले पर कहा, भारतीय सच्चाई देख सकते हैं         ||           भाजपा ने लोया मामले में अपने सांसदों से कहा, राहुल पर हमला बोलें         ||           सेंसेक्स 12 अंकों की गिरावट पर बंद         ||           शकील बदायूँनी की पुण्यतिथि पर         ||           आज का दिन:         ||           चिदंबरम ने ईंधन की कीमतों को लेकर सरकार पर साधा निशाना         ||           दिल्ली उच्च न्यायालय के पूर्व मुख्य न्यायाधीश राजिन्द्र सच्चर का निधन         ||           केंद्र की वादाखिलाफी के विरोध में चंद्रबाबू नायडू का एकदिवसीय अनशन         ||           'द वॉक ऑफ मिजवान' के रैंप पर रणबीर, दीपिका ने जलवा बिखेरा         ||           राफेल नडाल मोंटे कार्लो मास्टर्स के क्वार्टर फाइनल में         ||           7 विपक्षी दलों ने प्रधान न्यायाधीश के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव सौंपा         ||           नरोदा पाटिया नरसंहार मामले में कोडनानी बरी         ||           राष्ट्रमंडल सम्मेलन अधर में छोड़कर दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति स्वदेश लौटे         ||           राजधानी दिल्ली में बारिश के आसार         ||           अनिल कपूर ने कहा 'चलती का नाम गाड़ी' का रीमेक बनाने के लिए तैयार         ||           एंटोनियो गुटेरेस ने कहा संयुक्त राष्ट्र कर्मियों पर हमले बढ़े         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> इस मंदिर में पूजा की जाती है एक मुस्लिम 'मॉ'-डोला की , जो मानी जाती है गॉव की रक्षक

इस मंदिर में पूजा की जाती है एक मुस्लिम 'मॉ'-डोला की , जो मानी जाती है गॉव की रक्षक


admin ,Vniindia.com | Thursday July 20, 2017, 12:09:00 | Visits: 251







खास बातें


1 गुजरात का अनोखा मंदिर जहां हिंदू करते हैं एक मुस्लिम महिला मॉ'-डोला की पूजा 2 गुजरात के अहमदाबाद से करीब 40 किलोमीटर दूर एक गांव है झुलासन 3 देश ही नहीं बल्कि विश्व भर में प्रसिद्ध है यह मंदिर

अहमदबाद,20 जुलाई (वी एन आई)गुजरात के अहमदाबाद से करीब 40 किलोमीटर दूर एक गांव है झुलासन। बेहद समृद्ध और विकसित इस गांव की आबादी करीब 5000 है और इस गांव के 1700 से भी ज्यादा लोग अमेरिका और कैनेडा जैसी जगहों पर बस चुके हैं। इस गांव की सबसे बड़ी पहचान में से एक यह भी है कि यह भारतीय मूल की अमेरिकन एस्ट्रोनॉट सुनीता विलियम्स का पैतृक गांव है। 1960 में उनके पिता दीपकभाई पंड्या यहां से यूएसए चले गए थे और बाद में बोस्टन में डॉक्टर के तौर पर काम करने लगे। 


 


बहरहाल इस गांव की जिस दूसरी सबसे खास बात का हम यहां जिक्र कर रहे हैं वो हिन्दू मुस्लिम एकता की एक अनूठी मिसाल है। वैसे तो यहां पर हिन्दुओं के कई मंदिर हैं लेकिन सबसे बड़ा मंदिर डोला माँ का मंदिर है जो देश ही नहीं बल्कि विश्व भर में प्रसिद्ध है। आपने नाम पर गौर किया ? डोला माँ का मंदिर। क्या आप जानते हैं ये डोला माँ कौन थीं जो इस मंदिर में पूजीं जाती हैं।



दरसल ये डोला माँ, एक मुस्लिम महिला थीं। ऐसा कहते हैं कि आज से लगभग 250 साल पहले इस गांव में घुसपैठियों और लूटेरों का आक्रमण हुआ था और डोला माँ ने बेहद बहादुरी से उनका सामना किया था। इस लड़ाई में गांव को बचाते बचाते उन्होंने अपनी जान दे दी। मान्यता है कि मरने के बाद डोला माँ, एक फूल में बदल गयीं थीं। जिस जगह वे फूल में बदलीं थीं वहीं पर लोगों ने एक भव्य मंदिर बनवा दिया और डोला माँ की पूजा होने लगी। 



गांव के लोगों का विश्वास है कि डोला ्मॉ आज भी गांव की रक्षा करती हैं और साथ ही साथ लोगों के दुःख दर्द भी दूर करती हैं। आपको जानकर आश्चर्य होगा कि पिछले कई सालों से इस गांव में कोई मुस्लिम परिवार नहीं रहता और डोला माँ की पूजा हिन्दुओं द्वारा ही प्रमुखता से की जाती है। क्योंकि इस गांव के ज्यादातर लोग विदेश जा चुके हैं इसलिए इस मंदिर को "डॉलर माता का मंदिर" नाम से भी जाना जाता है। 



जब सुनीता विलियम्स यहां आयीं थीं तो गांव वालों ने उनकी अंतरिक्ष यात्रा के लिए इस मंदिर में एक अखंड जोत जलाई थी जो सुनीता के स्पेस से लौटने तक लगातार 4 महीने जलती रही थी।


 



 


 


 


 


Latest News



Latest Videos



कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें