Breaking News
सर्वोच्च न्यायालय में 'पद्मावत' पर मध्य प्रदेश और राजस्थान की याचिका पर मंगलवार को सुनवाई         ||           राष्ट्रपति कोविंद और प्रधानमंत्री मोदी ने राष्ट्र को बसंत पंचमी की बधाई दी         ||           विश्व आर्थिक मंच में शामिल होने के लिए प्रधानमंत्री मोदी दावोस रवाना         ||           सिद्धांत कपूर ने कहा बहन श्रद्धा से स्पर्धा नहीं         ||           राजधानी दिल्ली में सुबह आंशिक बदली छाई, 10 ट्रेनें रद्द         ||           शेयर बाजारों के शुरुआती कारोबार में तेजी का असर         ||           काबुल हमले की संयुक्त राष्ट्र ने निंदा की         ||           काबुल हमले में मृतकों की संख्या बढ़कर 18 हुई         ||           पाकिस्तानी गोलीबारी में एक नागरिक की मौत         ||           अमेरिकी उपराष्ट्रपति माइक पेंस इजरायल पहुंचे         ||           नए मुख्य निर्वाचन आयुक्त बने ओम प्रकाश रावत         ||           केजरीवाल ने कहा भगवान ने इसी दिन के लिए हमें 67 सीटें दी थी         ||           अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप के विरोध में पूरे अमेरिका में महिलाओं की अगुआई में 'गुलाबी टोपी जुलूस         ||           डावोस मे विश्व आर्थिक मंच में महकेंगी भारतीय व्यजंनो की महक और योग की छटा         ||           गीता बाली की पुण्य तिथि पर         ||           केजरीवाल सरकार के 20 विधायक आज अयोग्य करार, राष्ट्रपति ने लगाई मुहर         ||           आज का दिन :         ||           भारत 4-नेशन्स इन्विटेशनल हॉकी टूर्नामेंट के पहले चरण के फाइनल में हारा         ||           राष्ट्रपति कोविंद ने दिल्ली आग हादसे पर दुख जताया         ||           प्रधानमंत्री मोदी ने पूर्वोत्तर राज्यों को स्थापना दिवस के मौके पर बधाई दी         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> इस मंदिर में पूजा की जाती है एक मुस्लिम 'मॉ'-डोला की , जो मानी जाती है गॉव की रक्षक

इस मंदिर में पूजा की जाती है एक मुस्लिम 'मॉ'-डोला की , जो मानी जाती है गॉव की रक्षक


admin ,Vniindia.com | Thursday July 20, 2017, 12:09:00 | Visits: 168







खास बातें


1 गुजरात का अनोखा मंदिर जहां हिंदू करते हैं एक मुस्लिम महिला मॉ'-डोला की पूजा 2 गुजरात के अहमदाबाद से करीब 40 किलोमीटर दूर एक गांव है झुलासन 3 देश ही नहीं बल्कि विश्व भर में प्रसिद्ध है यह मंदिर

अहमदबाद,20 जुलाई (वी एन आई)गुजरात के अहमदाबाद से करीब 40 किलोमीटर दूर एक गांव है झुलासन। बेहद समृद्ध और विकसित इस गांव की आबादी करीब 5000 है और इस गांव के 1700 से भी ज्यादा लोग अमेरिका और कैनेडा जैसी जगहों पर बस चुके हैं। इस गांव की सबसे बड़ी पहचान में से एक यह भी है कि यह भारतीय मूल की अमेरिकन एस्ट्रोनॉट सुनीता विलियम्स का पैतृक गांव है। 1960 में उनके पिता दीपकभाई पंड्या यहां से यूएसए चले गए थे और बाद में बोस्टन में डॉक्टर के तौर पर काम करने लगे। 


 


बहरहाल इस गांव की जिस दूसरी सबसे खास बात का हम यहां जिक्र कर रहे हैं वो हिन्दू मुस्लिम एकता की एक अनूठी मिसाल है। वैसे तो यहां पर हिन्दुओं के कई मंदिर हैं लेकिन सबसे बड़ा मंदिर डोला माँ का मंदिर है जो देश ही नहीं बल्कि विश्व भर में प्रसिद्ध है। आपने नाम पर गौर किया ? डोला माँ का मंदिर। क्या आप जानते हैं ये डोला माँ कौन थीं जो इस मंदिर में पूजीं जाती हैं।



दरसल ये डोला माँ, एक मुस्लिम महिला थीं। ऐसा कहते हैं कि आज से लगभग 250 साल पहले इस गांव में घुसपैठियों और लूटेरों का आक्रमण हुआ था और डोला माँ ने बेहद बहादुरी से उनका सामना किया था। इस लड़ाई में गांव को बचाते बचाते उन्होंने अपनी जान दे दी। मान्यता है कि मरने के बाद डोला माँ, एक फूल में बदल गयीं थीं। जिस जगह वे फूल में बदलीं थीं वहीं पर लोगों ने एक भव्य मंदिर बनवा दिया और डोला माँ की पूजा होने लगी। 



गांव के लोगों का विश्वास है कि डोला ्मॉ आज भी गांव की रक्षा करती हैं और साथ ही साथ लोगों के दुःख दर्द भी दूर करती हैं। आपको जानकर आश्चर्य होगा कि पिछले कई सालों से इस गांव में कोई मुस्लिम परिवार नहीं रहता और डोला माँ की पूजा हिन्दुओं द्वारा ही प्रमुखता से की जाती है। क्योंकि इस गांव के ज्यादातर लोग विदेश जा चुके हैं इसलिए इस मंदिर को "डॉलर माता का मंदिर" नाम से भी जाना जाता है। 



जब सुनीता विलियम्स यहां आयीं थीं तो गांव वालों ने उनकी अंतरिक्ष यात्रा के लिए इस मंदिर में एक अखंड जोत जलाई थी जो सुनीता के स्पेस से लौटने तक लगातार 4 महीने जलती रही थी।


 



 


 


 


 


Latest News



Latest Videos



कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें