Breaking News
आज का दिन :         ||           आईपीएल कार्यक्रम         ||           संघ लोक सेवा आयोग की सिविल सर्विसेज परीक्षा के लिए अधिसूचना         ||           माघ पूर्णिमा         ||           किडनी-लिवर बेचने वाले गिरोह का कानपुर पुलिस ने किया पर्दाफाश         ||           सहमति शिव सेना और बीजेपी में         ||           कुलभूषण जाधव केस मे इंटरनेशन कोर्ट में सुनवाई शुरू         ||           राहुल की मौजूदगी मे कांग्रेस में शामिल हुए सांसद कीर्ति आजाद         ||           मारा गया पुलवामा आतंकी हमले का मास्टरमाइंड ग़ाज़ी         ||           आज का दिन :         ||           आज का दिन :         ||           वायु शक्ति-2019         ||           क्रिकेट क्लब ऑफ इंडिया का अनूठा विरोध         ||           पुलवामा हमला-कश्मीर के पॉच अलगाववादी नेताओं की सुरक्षा हटाई गई         ||           महानायक शहीदों की आर्थिक मदद के लिए आगे आए हैं.         ||           Hyderabad Special Tomato Chutney         ||           ब्रिटेन ने अपने नागरिकों को पाकिस्तान से सटे सीमाई इलाकों से दूर रहने की सलाह दी         ||           पुलवामा आतंकी हमले पर चीन की संवेदना में पाकिस्तान व जैश का जिक्र नही         ||           ठोको ताली-सिद्धू का कपिल शर्मा शो से जाना पहले से तय था         ||           प्रधानमंत्री मोदी ने कहा हम छेाड़ते नहीं, किसी ने छेड़ा तो छोड़ते नहीं         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> राज्यसभा में तीन तलाक बिल आज फिर

राज्यसभा में तीन तलाक बिल आज फिर


admin ,Vniindia.com | Friday August 10, 2018, 11:07:00 | Visits: 180







नई दिल्ली, 10 अगस्त, (वीएनआई) संसद के मॉनसून सत्र के आखिरी दिन आज तीन तलाक़ बिल आज राज्यसभा में पेश किया जायेगा। सरकार एक बार फिर कोशिश करेगी कि तत्काल तीन तलाक को दंडनीय अपराध बनाने से संबंधित संशोधित बिल को पारित कराया जा सके। 



इससे पहले भाजपा ने आज सुबह संसद में तीन तलाक बिल पर अपनी रणनीति को अंतिम रूप देने के लिए अहम बैठक की है। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह, मुख्तार अब्बास नकवी, संसदीय कार्यमंत्री अनंत कुमार समेत कई बड़े नेता इस बैठक में शामिल हुए।



गौरतलब है कि मूल विधेयक को लोकसभा द्वारा पहले ही मंजूरी दी जा चुकी है और यह राज्यसभा में लंबित है, जहां बीजेपी की अगुआई वाले एनडीए के पास बहुमत नहीं है। इस बीच केंद्रीय कैबिनेट ने ‘मुस्लिम महिला विवाह अधिकार संरक्षण विधेयक 2017’ में तीन संशोधनों को मंजूरी दे दी है। अब सरकार राज्यसभा में इस संशोधित बिल को पेश करेगी। अगर विधेयक उच्च सदन में पारित हो जाता है तो इसे संशोधन पर मंजूरी के लिए वापस लोकसभा में पेश करना होगा। हालांकि अगर विपक्ष इसे पास नहीं होने देता है तो माना जा रहा है कि सरकार इस पर अध्यादेश भी ला सकती है।  



Latest News



Latest Videos



कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें