Breaking News
मायावती का छत्‍तीसगढ़ में अजीत जोगी से गठबंधन         ||           मायावती ने मध्‍य प्रदेश में अकेले लड़ने का ऐलान किया         ||           अक्षर पटेल और शार्दुल ठाकुर भी चोट के कारण एशिया कप से बाहर         ||           पाकिस्‍तान प्रधानमंत्री इमरान ने प्रधानमंत्री मोदी से शांति की अपील की         ||           हसन नसरुल्ला ने कहा अगली सूचना तक सीरिया में बना रहेगा हिज्बुल्ला         ||           कांग्रेस ने सीमा पर जवान के साथ दरिंदगी पर पूछा, 56 इंच का सीना और लाल आंख कहां हैं         ||           आज का दिन :         ||           अमेरिका ने कहा पाकिस्तानी आतंकी भारत में लगातार कर रहे हैं हमले         ||           हार्दिक पांड्या चोट के कारण एशिया कप से बाहर         ||           मोदी सरकार ने कई छोटी बचत योजनाओं में बढ़ाई ब्‍याज दरें         ||           मुख्तार अब्बास नकवी ने राहुल गांधी को पायरेटेड लैपटॉप बताया         ||           अनुराग कश्यप ने विवादित सीन्स पर सिख समुदाय से माफी मांगी         ||           डीके शिवकुमार ने भाजपा पर किया पलटवार, कहा मैं डरकर भागने वालों में से नहीं         ||           नवाज शरीफ और बेटी मरियम को इस्‍लामाबाद हाई कोर्ट ने दिया जेल से रिहा करने का आदेश         ||           सेंसेक्स 169 अंक की गिरावट पर बंद         ||           भाजपा ने कहा हवाला कारोबार से जुड़ी है कांग्रेस         ||           रविशंकर प्रसाद ने कांग्रेस ने वोट बैंक के लिए नहीं पास होने दिया तीन तलाक बिल         ||           आज का दिन :         ||           कांग्रेस ने तीन तलाक अध्यादेश पर लगाया राजनीति का आरोप         ||           मोदी सरकार ने तीन तलाक अध्यादेश को दी मंजूरी         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> आंग सान सू ची ने रोहिंग्या रिपोर्टिंग पर पत्रकारों की सजा के फैसले का समर्थन किया

आंग सान सू ची ने रोहिंग्या रिपोर्टिंग पर पत्रकारों की सजा के फैसले का समर्थन किया


admin ,Vniindia.com | Thursday September 13, 2018, 05:41:00 | Visits: 21







हनोई, 13 सितम्बर, (वीएनआई) नोबल शांति पुरस्कार विजेता और म्यांमार की नेता आंग सान सू ची ने कहा कि रॉयटर के दो पत्रकारों को कानून उल्लंघन के लिए सजा मिली है। 



आंग सान सू ने कहा रखाइन प्रांत में एक नरसंहार की जांच करने के लिए जेल की सजा पाने वाले रॉयटर के दो पत्रकारों को इसलिए सजा नहीं दी गई है कि वे पत्रकार हैं। उन्हें कानून तोड़ने पर सजा दी गई है। गौरतलब है वा लोन (32) और क्याव सोए ओ (28) को रखाइन में रोहिंग्या समुदाय पर सैन्य कार्रवाई के दौरान हुए अत्याचारों की रिपोर्टिंग करते हुए देश के कड़े सरकारी गोपनीयता कानून तोड़ने के लिए पिछले सप्ताह सात-सात साल की जेल की सजा सुनाई गई। वहीं इस सजा पर दुनियाभर में रोष प्रकट किया गया और इसे अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर हमला बताया गया। 



Latest News



Latest Videos



कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें