Breaking News
भाजपा अध्यक्ष अमित शाह एम्स में भर्ती, स्वाइन फ्लू की शिकायत         ||           कोहली ने कहा भारत को टेस्ट की सुपरपावर बनते देखना चाहता हूं         ||           अमेरिका ने कहा चीन से कई देशों की संप्रभुता को खतरा         ||           केसीआर के बेटे रामाराव ने जगन मोहन रेड्डी से मुलाकात की         ||           ममता बनर्जी की मेगा रैली में राहुल-सोनिया नहीं होंगे शामिल         ||           ओडिशा कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष नाबा किसोर ने दिया इस्तीफा         ||           शीला दीक्षित के कार्यक्रम में दिखे जगदीश टाइटलर         ||           कमल हासन ने कहा लोकसभा चुनाव लड़ने पर पार्टी लेगी फैसला         ||           आज का दिन : शरदचंद्र चट्टोपाध्याय         ||           ब्रेग्जिट डील ब्रिटिश संसद में खारिज हुई, पीएम थेरेसा मे दे सकती है इस्तीफा         ||           राजधानी दिल्ली में ठंड से 96 बेघरों की मौत, कोहरे के कारण 11 ट्रेनें देरी से         ||           कीमतों में बढ़ोतरी के बाद पेट्रोल-डीजल आज हुआ सस्ता         ||           अमेरिका के साथ बातचीत खत्म करने की धमकी दी तालिबान ने         ||           केन्या के नैरोबी में आतंकी हमले में 5 लोगो की मौत         ||           शशि थरूर ने कहा प्रधानमंत्री मोदी के साथ मंदिर में प्रवेश से रोका गया         ||           देश के शेयर बाज़ारो के शुरूआती कारोबार में तेजी का असर         ||           स्मृति ने कहा कांग्रेस मुखिया के परिवार ने खुद को ही दिए भारत रत्न         ||           आज का दिन:         ||           मोदी ने कहा कांग्रेस ने केरल में परियोजनाओं को सालों लटकाए रखा         ||           डॉनल्ड ट्रंप ने कहा चीन और भारत के साथ संबंध रखना अच्छा है         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> आंग सान सू ची ने रोहिंग्या रिपोर्टिंग पर पत्रकारों की सजा के फैसले का समर्थन किया

आंग सान सू ची ने रोहिंग्या रिपोर्टिंग पर पत्रकारों की सजा के फैसले का समर्थन किया


admin ,Vniindia.com | Thursday September 13, 2018, 05:41:00 | Visits: 67







हनोई, 13 सितम्बर, (वीएनआई) नोबल शांति पुरस्कार विजेता और म्यांमार की नेता आंग सान सू ची ने कहा कि रॉयटर के दो पत्रकारों को कानून उल्लंघन के लिए सजा मिली है। 



आंग सान सू ने कहा रखाइन प्रांत में एक नरसंहार की जांच करने के लिए जेल की सजा पाने वाले रॉयटर के दो पत्रकारों को इसलिए सजा नहीं दी गई है कि वे पत्रकार हैं। उन्हें कानून तोड़ने पर सजा दी गई है। गौरतलब है वा लोन (32) और क्याव सोए ओ (28) को रखाइन में रोहिंग्या समुदाय पर सैन्य कार्रवाई के दौरान हुए अत्याचारों की रिपोर्टिंग करते हुए देश के कड़े सरकारी गोपनीयता कानून तोड़ने के लिए पिछले सप्ताह सात-सात साल की जेल की सजा सुनाई गई। वहीं इस सजा पर दुनियाभर में रोष प्रकट किया गया और इसे अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर हमला बताया गया। 



Latest News



Latest Videos



कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें