Breaking News
स्मृति ने कहा कांग्रेस मुखिया के परिवार ने खुद को ही दिए भारत रत्न         ||           आज का दिन:         ||           मोदी ने कहा कांग्रेस ने केरल में परियोजनाओं को सालों लटकाए रखा         ||           डॉनल्ड ट्रंप ने कहा चीन और भारत के साथ संबंध रखना अच्छा है         ||           देश के शेयर बाज़ारो के शुरूआती कारोबार में तेजी का असर         ||           संतों व श्रद्धालुओं के पहले शाही स्नान के साथ कुम्भ 2019 का आगाज         ||           कुमारस्वामी ने येदुरप्पा पर विधायकों के खरीद-फरोख्त का आरोप लगाया         ||           प्रशांत भूषण सीबीआई के अंतरिम निदेशक नागेश्वर राव की नियुक्ति के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंचे         ||           कन्हैया कुमार ने देशद्रोह मामले में चार्जशीट दायर होने पर कहा थैंक यू मोदी जी         ||           अमेरिका की खाड़ी विवाद खत्म करने की अपील         ||           लाईब्रेरी मज़ाक नही विकास की राह है         ||           प्रयागराज कुंभ में सिलेंडर ब्लास्ट से दिगंबर अखाड़े में लगी आग         ||           हिजबुल मुजाहिद्दीन का आतंकी सरफराज जम्‍मू कश्‍मीर के बांदीपोरा से पकड़ा गया         ||           मुंबई में सातवें दिन भी जारी है बेस्ट बसों की हड़ताल         ||           राजधानी दिल्ली में ठंड बढ़ी, कोहरे के कारण 12 ट्रेनें लेट         ||           आज का दिन :         ||           राम माधव ने कहा राहुल गांधी के विदेश दौरे का मतलब देश की छवि को खराब करना         ||           उद्धव ने कहा शिवसेना को हराने वाला पैदा नहीं हुआ         ||           कांग्रेस ने कहा यूपी में सभी 80 सीटों पर अकेले लड़ेंगे         ||           राष्ट्रपति ने सवर्णों को 10 फीसदी आरक्षण बिल को दी मंजूरी         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> सर्वोच्च न्यायलय ने निर्भया गैंगरेप मामले में तीन दोषियों की फांसी की सजा बरकरार रखी

सर्वोच्च न्यायलय ने निर्भया गैंगरेप मामले में तीन दोषियों की फांसी की सजा बरकरार रखी


admin ,Vniindia.com | Monday July 09, 2018, 02:50:00 | Visits: 129







नई दिल्ली, 09 जुलाई, (वीएनआई) सर्वोच्च न्यायलय ने 2012 के निर्भया गैंगरेप मामले में चार में से तीन दोषियों की दायर पुनर्विचार याचिका को ख़ारिज कर दिया है।  न्यायलय ने तीनों दोषियों की फांसी की सजा को बरकरार रखा गया है। न्यायलय में निर्भया का परिवार भी मौजूद था। 



मुख्य न्यायधीश जस्टिस दीपक मिश्रा, जस्टिस अशोक भूषण, जस्टिस आर भानुमति की बेंच ने पुनर्विचार याचिका को खारिज कर दिया। मौत की सजा पाए चौथे आरोपी अक्षय कुमार सिंह ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ समीक्षा याचिका दायर नहीं की थी। इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने 5 मई 2017 को निर्भया केस में चारों दोषी मुकेश, अक्षय, विनय और पवन को दिल्ली हाई कोर्ट द्वारा दी गई फांसी की सजा को बरकरार रखा था। सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि ये मामला रेयरेस्ट ऑफ रेयर की श्रेणी में आता है। अदालत ने कहा था कि पीड़िता ने अंतिम समय में जो बयान दिया वह बेहद अहम और पुख्ता साक्ष्य हैं।



गौरतलब है 2012 में निर्भया के साथ दक्षिणी दिल्ली में चलती बस में छह लोगों ने सामूहिक बलात्कार किया था और गंभीर चोट पहुंचाने के बाद सड़क पर फेंक दिया था। इसके बाद देशभर में रेप जैसे जघन्य अपराध के खिलाफ आवाजें बुलंद होने लगी थी। 



Latest News



Latest Videos



कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें