Breaking News
शहनाज हुसैन ने बताये होली में कैसे हानिकारक रंगों से बाल, त्वचा को बचाएं         ||           शेयर बाजार : आगामी सप्ताह में आर्थिक आंकड़ें तय करेंगे बाजार की चाल         ||           सीरियाई संघर्षविराम का प्रस्ताव संयुक्त राष्ट्र में पारित         ||           मोगादिशू विस्फोट में मरने वालो की संख्या बढ़कर 32 हुई         ||           मेक्सिको के राष्ट्रपति ने अमेरिकी दौरा रद्द किया         ||           अभिनेत्री श्रीदेवी का दिल का दौरा पड़ने से निधन         ||           रोमांचक मुक़ाबले में भारत ने दक्षिण अफ्रीका को 7 रन से हराकर सीरीज 2-1 से जीती         ||           धवन-रैना की पारी की बदौलत भारत ने दक्षिण अफ्रीका को दिया 173 का लक्ष्य         ||           राहुल गाँधी ने कहा कांग्रेस ने कर्नाटक में स्वच्छ प्रशासन दिया         ||           मायावती ने कहा धन्नासेठों का तुष्टीकरण कर रही मोदी सरकार         ||           प्रधानमंत्री मोदी ने उबर के सीईओ से चर्चा की         ||           राहुल गाँधी का दिल्ली में 390 करोड़ रुपये के घोटाले पर मोदी पर हमला         ||           द. अफ्रीका ने टॉस जीता, पहले गेंदबाजी का फैसला         ||           अमिताभ ने कहा गाने रिकॉर्ड करना अब ज्यादा जटिल हो गया है         ||           कनाडा से रिश्तो पर काली छाया         ||           रूसी सेना को राष्ट्रपति पुतिन ने सम्मानित किया         ||           जेडीयू ने कहा बिहार में 46 नरसंहारों में 378 दलितों की हत्या के लिए माफी मांगें तेजस्वी         ||           मप्र उपचुनाव में कोलारस में 44 और मुंगावली में 47 प्रतिशत मतदान         ||           कांग्रेस ने कहा मोदी दुनिया के सबसे महंगे चौकीदार         ||           केन विलियमसन ने कहा टी-20 के खराब प्रदर्शन का असर वनडे में नहीं दिखेगा         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> सर्वोच्च न्यायालय ने कहा गोरक्षकों को रोकना होगा

सर्वोच्च न्यायालय ने कहा गोरक्षकों को रोकना होगा


admin ,Vniindia.com | Wednesday September 06, 2017, 03:59:38 | Visits: 140







नई दिल्ली, 6 सितम्बर (वीएनआई)| सर्वोच्च न्यायालय ने आज कहा कि गोरक्षकों की हरकतों (काउ विजिलांटिज्म) को रोकना होगा और यह कानून के तहत स्वीकार्य नहीं हैं।



अदालत ने राज्यों को हर जिले में नोडल अधिकारी तैनात करने के निर्देश दिए जो इस तरह की हिंसा की घटनाओं को रोकने और इसे अंजाम देने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए कदम उठाएं। प्रधान न्यायाधीश न्यायमूर्ति दीपक मिश्रा, न्यायमूर्ति अमिताव राय व न्यायमूर्ति ए. एम. खानविलकर की पीठ ने कहा, "इसे रोकना होगा। आप ने क्या कार्रवाई की है। यह स्वीकार्य नहीं है। इस पर कार्रवाई करनी ही होगी। अदालत की यह टिप्पणी वकील इंदिरा जयसिंह द्वारा अदालत का ध्यान देश भर में गोमांस के संदेह पर गोरक्षा समूहों द्वारा की जा रही हिंसा पर आकर्षित किए जाने के बाद आई है।



नोडल अधिकारियों की नियुक्ति का निर्देश देते हुए अदालत ने राज्य के मुख्य सचिवों को राजमार्ग पर गश्त की तैनाती सहित, मामले में की गई कार्रवाई का हलफनामा दायर करने को कहा है। अदालत ने केंद्र से पूछा कि क्यों न उसे धारा 256 के तहत इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिए जिम्मेदार ठहराया जाए।अदालत का आदेश तुषार गांधी सहित याचिकाओं के एक समूह पर आया है। तुषार गांधी महात्मा गांधी के पोते हैं।



Latest News



Latest Videos



कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें