Breaking News
ओडिशा में सड़क दुर्घटनाओं में 6 लोगो की मौत         ||           वयोवृद्ध माकपा नेता निर्मल मुखर्जी का निधन         ||           सर्वोच्च न्यायालय में 'पद्मावत' पर मध्य प्रदेश और राजस्थान की याचिका पर मंगलवार को सुनवाई         ||           राष्ट्रपति कोविंद और प्रधानमंत्री मोदी ने राष्ट्र को बसंत पंचमी की बधाई दी         ||           विश्व आर्थिक मंच में शामिल होने के लिए प्रधानमंत्री मोदी दावोस रवाना         ||           सिद्धांत कपूर ने कहा बहन श्रद्धा से स्पर्धा नहीं         ||           राजधानी दिल्ली में सुबह आंशिक बदली छाई, 10 ट्रेनें रद्द         ||           शेयर बाजारों के शुरुआती कारोबार में तेजी का असर         ||           काबुल हमले की संयुक्त राष्ट्र ने निंदा की         ||           काबुल हमले में मृतकों की संख्या बढ़कर 18 हुई         ||           पाकिस्तानी गोलीबारी में एक नागरिक की मौत         ||           अमेरिकी उपराष्ट्रपति माइक पेंस इजरायल पहुंचे         ||           नए मुख्य निर्वाचन आयुक्त बने ओम प्रकाश रावत         ||           केजरीवाल ने कहा भगवान ने इसी दिन के लिए हमें 67 सीटें दी थी         ||           अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप के विरोध में पूरे अमेरिका में महिलाओं की अगुआई में 'गुलाबी टोपी जुलूस         ||           डावोस मे विश्व आर्थिक मंच में महकेंगी भारतीय व्यजंनो की महक और योग की छटा         ||           गीता बाली की पुण्य तिथि पर         ||           केजरीवाल सरकार के 20 विधायक आज अयोग्य करार, राष्ट्रपति ने लगाई मुहर         ||           आज का दिन :         ||           भारत 4-नेशन्स इन्विटेशनल हॉकी टूर्नामेंट के पहले चरण के फाइनल में हारा         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> सर्वोच्च न्यायालय का पटाखों पर राष्ट्रव्यापी प्रतिबंध को लेकर केंद्र को नोटिस

सर्वोच्च न्यायालय का पटाखों पर राष्ट्रव्यापी प्रतिबंध को लेकर केंद्र को नोटिस


admin ,Vniindia.com | Friday December 01, 2017, 02:30:02 | Visits: 40







नई दिल्ली, 1 दिसम्बर (वीएनआई)| सर्वोच्च न्यायालय ने पटाखे बनाने, जलाने और उनकी बिक्री पर राष्ट्रव्यापी प्रतिबंध लगाने की मांग करती एक याचिका पर सुनवाई करते हुए आज केंद्र को नोटिस जारी किया। इस याचिका में किसानों द्वारा पराली जलाने पर भी राष्ट्रव्यापी प्रतिबंध लगाने की मांग की गई है। 



न्यायमूर्ति ए.के. सिकरी और न्यायमूर्ति अशोक भूषण की पीठ ने अर्जुन गोपाल नामक एक बच्चे की याचिका का जवाब देने के लिए केंद्र को चार सप्ताह का समय दिया है। बच्चे का प्रतिनिधित्व वकील गोपाल शंकरनारायण कर रहे हैं। अन्य याचिकाकतार्ओं ने भी अदालत का दरवाजा खटखटाया है। वे बनाने, जलाने और उनकी बिक्री पर प्रतिबंध लगाने की मांग कर रहे है क्योंकि इसके कारण वायु प्रदूषण में इजाफा हो रहा है, जिसकी पहले से ही गंभीर स्थिति है।



Latest News



Latest Videos



कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें