Breaking News
अमित शाह ने छत्तीसगढ़ में कहा अबकी बार जड़ से उखाड़ फेकेंगे कांग्रेस को         ||           भारत ने टॉस जीता, बांग्लादेश को पहले बल्लेबाज़ी का न्योता         ||           सेंसेक्स 280 अंक की गिरावट पर बंद         ||           राहुल गांधी ने पश्चिम बंगाल कांग्रेस में किया बड़ा बदलाव         ||           राजीव गांधी खेलरत्न पुरस्कार         ||           डोनाल्ड ट्रंप ने सहारा रेगिस्तान पर स्पेन को दीवार बनाने को कहा था         ||           जेडीयू ने अयोध्या में राम मंदिर को लेकर दिया बड़ा बयान         ||           अमेरिका ने भारत-पाक के विदेश मंत्रियों की बैठक को शानदार बताया         ||           आज का दिन : विश्व अल्जाइमर दिवस         ||           जम्मू-कश्मीर में आतंकियों ने तीन पुलिसकर्मियों को अगवा कर हत्या की         ||           वियतनाम के राष्ट्रपति त्रान दाई का 61 वर्ष की आयु में निधन         ||           मायावती के दोहरे झटके के बाद की कमलनाथ ने दी पहली प्रतिक्रिया         ||           नील नितिन मुकेश बेटी के पिता बने         ||           मायावती का छत्‍तीसगढ़ में अजीत जोगी से गठबंधन         ||           मायावती ने मध्‍य प्रदेश में अकेले लड़ने का ऐलान किया         ||           अक्षर पटेल और शार्दुल ठाकुर भी चोट के कारण एशिया कप से बाहर         ||           पाकिस्‍तान प्रधानमंत्री इमरान ने प्रधानमंत्री मोदी से शांति की अपील की         ||           हसन नसरुल्ला ने कहा अगली सूचना तक सीरिया में बना रहेगा हिज्बुल्ला         ||           कांग्रेस ने सीमा पर जवान के साथ दरिंदगी पर पूछा, 56 इंच का सीना और लाल आंख कहां हैं         ||           आज का दिन :         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> सर्वोच्च न्यायलय ने पेट्रोलियम मंत्रालय' को लगाई कड़ी फटकार

सर्वोच्च न्यायलय ने पेट्रोलियम मंत्रालय' को लगाई कड़ी फटकार


admin ,Vniindia.com | Tuesday July 10, 2018, 09:49:00 | Visits: 58







नई दिल्ली, 10 जुलाई, (वीएनआई) पेटकोक के इस्तेमाल से संबंधित मामले में सुनवाई के दौरान सर्वोच्च न्यायलय ने नाराजगी जाहिर करते हुए प्राकृतिक गैस और पेट्रोलियम मंत्रालय को कड़ी फटकार लगाई है। 



जस्टिस मदन बी लोकुर और जस्टिस दीपक गुप्ता की बेंच पेट्रोलियम मंत्रालय के रवैये पर नाराजगी जाहिर करते हुए पूछा कि क्या पेट्रोलियम मंत्रालय खुद को भगवान या कोई सुपर सरकार मानता है?  इससे पहले सर्वोच्च न्यायलय को सूचित किया गया था कि रविवार को ही मंत्रालय ने पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय को पेटकोक के आयात पर प्रतिबंध लगाने के मुद्दे से अवगत कराया है, जिसका औद्योगिक ईंधन के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। इसको लेकर न्यायलय ने नाराजगी जाहिर की थी।



सर्वोच्च न्यायलय ने इस रवैये पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि इसका मतलब मंत्रालय खुद को भगवान मानता है। न्यायलय ने पूछा, 'क्या मंत्रालय भारत सरकार से भी ऊपर है?, वे किसी भी आदेश का पालन क्यों नहीं कर रहे हैं? " ?' क्या वो सोचते हैं कि सुप्रीम कोर्ट के 'बेरोजगार' जज उन्हें समय देंगे? क्या हमें पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय की दया पर चलना चाहिए। पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय के इस लापरवाह रवैये के लिए सर्वोच्च न्यायलय ने 25 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया।



Latest News



Latest Videos



कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें