Breaking News
कौन कौन रहा अब तक फुटबॉल वर्डकप का चैंपियन         ||           आज का दिन :         ||           प्रधानमंत्री मोदी ने भारत-अफगानिस्तान टेस्ट को ऐतिहासिक बताया         ||           प्रधानमंत्री मोदी ने जीएसटी को ईमानदारी की जीत करार दिया         ||           उप्र के कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर मुख्यमंत्री योगी से नाराज, बोले-गर्मी बढ़ चुकी है         ||           फीफा विश्व कप 2018 : आज 11वें दिन के होने वाले मैच         ||           भारतीय हॉकी टीम ने चैंपियंस ट्रॉफी के पहले मैच में पाकिस्तान को 4-0 से हराया         ||           आईएएस पहली बार ले रहे है फि्ल्म सराहने का प्रशिक्षण         ||           अमित शाह ने कहा बीजेपी में सरकार गिरने पर 'भारत माता की जय' के नारे लगाते हैं         ||           अखिलेश यादव की सरकारी बंगले में तोड़फोड़ मामले में बढ़ सकती हैं मुश्किलें         ||           राफेल नडाल विंबलडन के लिए आत्मविश्वास से भरपूर         ||           प्रधानमंत्री मोदी ने कहा शिवराज सरकार ने विकास की नई गाथा लिखी         ||           बातें फुटबॉल वर्डकप की         ||           क्या सेशल्स बहाल करेगा भरोसा?         ||           चिदंबरम ने कहा राहुल को जेहादियों, नक्सलियों से सहानुभूति रखने वाला बताना गलत         ||           प्रधानमंत्री मोदी ने मप्र में सिंचाई परियोजना का डिजिटल लोकार्पण किया         ||           भाजपा अध्यक्ष अमित शाह जम्मू पहुंचे         ||           आज का दिन :         ||           प्रधानमंत्री मोदी भोपाल पहुंचे         ||           सुनिधि ने कहा रियलिटी शो की सफलता प्रतियोगियों पर निर्भर         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> घर से दूर रह कर भी घर के पास.. एक शाम जर्मनी और भारत को जोड़ने वाली

घर से दूर रह कर भी घर के पास.. एक शाम जर्मनी और भारत को जोड़ने वाली


admin ,Vniindia.com | Wednesday June 13, 2018, 06:10:00 | Visits: 63







बर्लिन, 13 जून (वीएनआई) घर से दूर रह कर भी घर के पास ... बर्लिन की 10 जून की शाम जब शहर में भारत की समृद्ध संस्कृति की झलक ने न/न केवल वहा मौजूद भारतीयों और भारतीय मूल के मन को इस अनुभूति ने छू लिया बल्कि जर्मनी और भारत को भी जोड़ा. शहर मे रंगारंग भारतीय  नृत्य संगीत लहरियों के सासंकृतिक समारोह के साथ लजीज भारतीय व्यंजनों की खुशबू से महक रहा था. और भारतीय मूल के साथ साथ जर्मन निवासी और अन्य विदेशी  भारतीय नृत्य संगीत के इस आलम में बिरयानी,करी, इडली, डोसा,पूरी भाजी, शर्बत, गोलगप्पे, चाट आदि तमाम परंपरागत  भारतीय व्यंजनो के चटखारे ले कर खा रहे थे.



बर्लिन  स्थित भारतीय दूतावास ने यह  दूसरा इंडियन फूड फेस्टिवल  आयो्जित किया जिस मे बड़ी तादाद मे कद्रदानों ने भारतीय व्यंजनों का स्वाद लिया.इन मे से काफी वो भारतीय थे जो जर्मनी मे पढाई अथवा रोजगार के सिलसिले में यहा आये हुए है  लेकिन उस से भे ज्यादा भारतीय खान पान के विदेशी कद्र दानो ने जम कर इन का स्वाद लिया. इस के साथ ही  भरत नाट्यम और  भारतीय लोक नृत्यो के सांस्कृतिक समारोहों  और योग कार्यक्रमो ने इस आयोजन ्की शोभा दुगनी कर दी.



भारतीय दूतावास की ओर से 2017 में जब पहला ऐसा आयोजन किया गया था, तब करीब दो हजार लोग यहां भारतीय व्यंजनों का लुत्फ उठाने पहुंचे थे. पहले कार्यक्रम की सफलता के बाद भारतीय दूतावास ने ऐसा दूसरा आयोजन जून 2018 में आयोजित किया, जिस मे इस वर्ष लगभग ३,००० कद्र दानों ने हिस्सा लिया. इस आयोजन में  भारत के विभिन्न प्रदेशो के खान पान के 12  स्टॉल लगाये गये. जिन्हें  वहा बसे भारतीयों की एसोसिएशन ने लगाया था. इसमें गुजरात, तमिलनाडु, केरल, नगालैंड, मणिपुर, असम, पश्चिम बंगाल के व्यंजन शामिल थे.



Latest News




कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें