Breaking News
अखिलेश यादव ने कहा योगी सरकार का श्वेत पत्र सफेद झूठ         ||           सेंसेक्स 2 अंक की गिरावट पर बंद         ||           शिवराज सिंह चौहान ने नवरात्रि की शुभकामनाएं दीं         ||           भारतीय बास्केट में कच्चे तेल की कीमत 54.76 डॉलर प्रति बैरल         ||           आम आदमी पार्टी ने कहा ईंधन कीमतों को अंतर्राष्ट्रीय बाजार से जोड़ा जाए         ||           बीसीसीआई ने पद्म भूषण के लिए धौनी के नाम की सिफारिश की         ||           क्रेग ब्राथवेट अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में गेंदबाजी कर सकेंगे         ||           मद्रास उच्च न्यायालय ने कहा अगले आदेश तक कोई बहुमत परीक्षण नहीं         ||           हर्षवर्धन ने कहा अनिल कपूर ने बिंद्रा पर बायोपिक की तैयारी शुरू की         ||           राहुल गाँधी ने कहा मोदी सरकार के खिलाफ जनता में बढ़ रहा है गुस्सा         ||           भारी बारिश से मुंबई में उड़ानें प्रभावित         ||           विश्वकप 2019 में श्रीलंका को वेस्टइंडीज की हार से मिला प्रवेश         ||           जापान बैडमिंटन ओपन में जीते किदांबी, प्रणॉय, समीर         ||           नीतीश कुमार के उद्घाटन करने के पूर्व ही बिहार में टूटा नहर सिंचाई परियोजना बांध         ||           पाकिस्तान सीमा के पास बीएसएफ ने दो तस्कर मार गिराए         ||           पंजाब में पटाखे के गोदाम में विस्फोट, पांच लोगो की मौत         ||           नोएडा में पुलिस के साथ मुठभेड़ में 1 अपराधी ढेर         ||           राजधानी दिल्ली में धूपभरी सुबह, बारिश होने की संभावना         ||           उप्र में आंशिक बदली, बूंदबांदी के आसार         ||           मेक्सिको में तेज भूकंप के झटके, 149 लोगो की मौत         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> महाराष्ट्र : अबतक मात्र 3200 किसानों को मिली तात्कालिक राहत राशि

महाराष्ट्र : अबतक मात्र 3200 किसानों को मिली तात्कालिक राहत राशि


admin ,Vniindia.com | Saturday July 22, 2017, 03:21:46 | Visits: 53







नागपुर, 22 जुलाई | महाराष्ट्र सरकार की एक समिति ने किसान ऋण माफी की एक व्यापक योजना के हिस्से के रूप में तात्कालिक राहत के रूप में 10,000 रुपये वितरित करने में हुए भारी विलंब पर शनिवार को सवाल खड़े किए। यह योजना एक महीने से अधिक समय पहले घोषित की गई थी।



मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के लिए यह एक बड़ी शर्मिदगी की बात है। वसंतराव नाईक शेति स्वावलंबी मिशन (वीएनएसएसएम) के अध्यक्ष किशोर तिवारी ने कहा है कि पात्र 90 लाख किसानों को राहत मुहैया कराने के सरकार के दावे के विपरीत अभी तक मात्र 3,200 किसानों को ही यह धनराशि वितरित की गई है। तिवारी ने कहा, "यह किसानों का मजाक है, जो घोषित 10,000 रुपये की आपात राहत के लिए पिछले लगभग 28 दिनों से दर-दर भटक रहे हैं। अब बुवाई का मौसम बीत चला है और मॉनसून भी जल्द विदा हो जाएगा।" 



आधिकारिक आंकड़े के अनुसार, राज्य के कुल एक करोड़ बीस लाख किसानों में से पात्र लगभग 90 लाख किसानों में से मात्र 3,200 को उनकी खेती की गतिविधियों के लिए अबतक समय पर सहायता मिल पाई है, बाकी अन्य किसान दर-दर भटक रहे हैं या फिर आत्महत्या कर रहे हैं। तिवारी ने कहा, "यह स्थिति राज्य सरकार द्वारा भारतीय रिजर्व बैंक को गारंटी की पेशकश के बावजूद है, लेकिन सार्वजनिक क्षेत्र के अधिकांश बैंकों ने इस छोटी-सी राशि के वितरण के लिए कदम नहीं उठाया है, जो कि इस महत्वपूर्ण बुवाई मौसम में किसानों के लिए बड़ी राहत हो सकती है।"



अभी तक मात्र विदर्भ-कोकण ग्रामीण बैंक, महाराष्ट्र ग्रामीण बैंक और डीसीसीबी ने 3,200 किसानों को धनराशि जारी की है। किसानों के प्रति शत्रुतापूर्ण रवैया रखने का नौकरशाही और बैंकों पर आरोप लगाते हुए तिवारी ने कहा कि अबतक सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों ने आरबीआई-नाबार्ड द्वारा खरीफ मौसम के लिए लक्षित फसल ऋण का मुश्किल से 15 प्रतिशत हिस्सा ही वितरित किया है, जबकि पिछले वर्ष 21 जुलाई तक लक्ष्य का 80 प्रतिशत फसल ऋण वितरित कर दिया गया था। --आईएएनएस



Latest News




कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें