Breaking News
आज का दिन :         ||           मैदानों इलाकों में हल्की सी ठंड बढ़ गई         ||           टोंक में प्रधानमंत्री की चुनावी सभा         ||           'गली' बॉय'         ||           एयरो इंडिया शो के पास पार्किंग एरिया में लगी भयानक आग, 100से अधिक कारें जलकर राख         ||           आज का दिन :         ||           स्टीव इरविन         ||           कश्मीरी छात्रों पर हमले पर सुप्रीम कोर्ट नाराज़, केंद्र सरकार और 10 राज्यों को नोटिस         ||           आज का दिन :         ||           (भारत ऑस्ट्रेलिया सीरीज) )पीठ में खिंचाव के कारण हार्दिक पंड्या सीरीज से बाहर         ||           पुलवामा हमले के बाद केंद्र सरकार ने दी जवानों को हवाई यात्रा की सुविधा         ||           सऊदी जेलों में बंद 850 भारतीय कैदी रिहा होंगे, हज कोटा भी बढा         ||           आज का दिन :         ||           अयोध्या जमीन विवाद मामले में सुप्रीम कोर्ट में 26 फरवरी को सुनवाई होगी         ||           सर्वोच्च अदालत ने अनिल अंबानी को अवमानना का दोषी करार दिया         ||           भारत-सऊदी अरब के बीच 5 अहम समझौते,पीएम ने कहा "आतंकवाद समर्थक देशों पर दबाव डालेंगे"         ||           सऊदी युवराज सलमान की भारत यात्रा- आज पॉच समझौते होने की उम्मीद         ||           मोदी सरकार ने केंद्रीय कर्मचारियों के महंगाई भत्ते में तीन फीसदी की बढ़ोतरी         ||           सिक्किम की पुलवामा शहीदों के परिजनों को आर्थिक सहयाता और बच्चों को शिक्षा की घोषणा         ||           Sikkim CM proposes to sponsor education for kids of Pulwama martyres         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> शिवसेना 61 करोड़ चंदा घटने के बाद भी क्षेत्रीय दलों में सबसे आगे

शिवसेना 61 करोड़ चंदा घटने के बाद भी क्षेत्रीय दलों में सबसे आगे


admin ,Vniindia.com | Thursday August 09, 2018, 05:50:00 | Visits: 66







नई दिल्‍ली, 09 अगस्त, (वीएनआई) वित्‍त वर्ष 2016-2017 में क्षेत्रीय पार्टियों में शिवसेना को सबसे ज्‍यादा चंदा मिला। लेकिन शिवसेना को पिछले वित्त वर्ष के मुक़ाबले इस बार करीब 61.19 करोड़ रुपए कम चंदा मिला है। 



एसोसिएशन ऑफ डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्‍स की ओर से बीते मंगलवार को जारी गई रिपोर्ट के मुताबिक, 48 में से 25 क्षेत्रीय दलों ने 91.37 करोड़ रुपए का चंदा प्राप्‍त होने की घोषणा की है। इन क्षेत्रीय दलों को 91.37 करोड़ रुपए की यह राशि 6,339 डोनेशन के रूप में प्राप्‍त हुई। क्षेत्रीय पार्टियों ने 20,000 से ज्‍यादा इससे कम दोनों प्रकार के चंदों की जानकारी उपलब्‍ध कराई है। गौरतलब है कि 91.37 करोड़ की इस राशि का 72.05 प्रतिशत हिस्‍सा यानी 65.83 करोड़ का चंदा केवल तीन पार्टियों शिवसेना, आम आदमी पार्टी और शिरोमणि अकाली दल को मिला। 



एडीआर की रिपोर्ट के अनुसार, क्षेत्रीय दलों में शिवसेना को 297 डोनेशन के जरिए 25.65 करोड़ का चंदा मिला, जो कि क्षेत्रीय दलों में सबसे ज्‍यादा रहा। इसके बाद दूसरे नंबर पर आम आदमी पार्टी का नाम आता है, जिसे 3,865 डोनेशन के जरिए 24.73 करोड़ का चंदा प्राप्‍त हुआ। शिरोमणि अकाली दल 15.45 करोड़ का चंदा प्राप्‍त हुआ। क्षेत्रीय दलों में भले ही शिवसेना को सबसे ज्‍यादा चंदा मिला हो, लेकिन पिछले साल की तुलना में उसे प्राप्‍त हुई राशि में कमी आई है। शिवसेना को पिछले वित्‍त वर्ष 2015-2016 में 86.84 करोड़ का चंदा मिला है। कुल मिलाकर शिवसेना का चंदा करीब 61.19 करोड़ रुपए कम हुआ है। दूसरी ओर आम आदमी पार्टी को पिछले साल की तुलना में चार गुना अधिक राशि प्राप्‍त हुई है। पिछले वित्‍त वर्ष में आम आदमी पार्टी को 6.6 करोड़ का चंदा मिला था।



Latest News




कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें