Breaking News
वार्नर ने कहा स्टोक्स ने कई लोगों की उम्मीदों को तोड़ा है         ||           अनंत कुमार ने कहा संसद के शीतकालीन सत्र की घोषणा जल्द         ||           विराट कोहली टेस्ट रैंकिंग में पांचवें स्थान पर पहुंचे         ||           राष्ट्रपति कोविंद हड़ताल के बीच मणिपुर पहुंचे         ||           सेंसेक्स 118 अंकों की तेजी पर बंद         ||           प्रियरंजन दासमुंशी के निधन पर विजय मल्होत्रा ने शोक जताया         ||           योगी आदित्यनाथ ने कहा राहुल गांधी वंशवाद की परम्परा को ही आगे बढ़ाएंगे         ||           कांग्रेस ने कहा गुजरात चुनाव के कारण संसद से बच रही है सरकार         ||           आज का दिन:         ||           छिल्लर की जीत पर शिवसेना ने भाजपा पर तंज कसे         ||           ममता ने कहा आधार संख्या जोड़ना समस्याओं से भरा         ||           भारतीय बास्केट में कच्चे तेल की कीमत 60.86 डॉलर प्रति बैरल         ||           माजिद मजीदी ने कहा अपने देश से ज्यादा भारत में मशहूर हूं         ||           पुतिन ने सीरिया युद्ध पर चर्चा के लिए असद से मुलाकात की         ||           इटली फुटबाल संघ के अध्यक्ष का इस्तीफा         ||           नौसेना का आरपीए विमान दुर्घटनाग्रस्त         ||           राजद अध्यक्ष के रूप में लालू की 10वीं बार ताजपोशी         ||           जद (यू) गुजरात में 50 से ज्यादा सीटों पर लड़ेगी चुनाव         ||           आसियान के साथ चीन सहयोग बढ़ाने के लिए तैयार         ||           लीबिया में अगवा डॉक्टर की रिहाई की डब्ल्यूएचओ ने अपील की         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> शरद यादव ने कहा केंद्र गौरक्षकों पर लगाम कसने में नाकाम

शरद यादव ने कहा केंद्र गौरक्षकों पर लगाम कसने में नाकाम


admin ,Vniindia.com | Tuesday November 14, 2017, 02:44:22 | Visits: 50







नई दिल्ली, 14 नवंबर (वीएनआई)| जनता दल (युनाइटेड) के वरिष्ठ नेता शरद यादव ने आज कहा कि राजस्थान में गौरक्षकों द्वारा एक डेयरी किसान की पीट-पीटकर हत्या दुर्भाग्यपूर्ण घटना है। इसके साथ ही उन्होंने इस तरह की घटनाओं पर नियंत्रण में नाकाम रहने के लिए केंद्र सरकार की आलोचना की। 



शरद यादव ने एक ट्वीट में कहा, सरकार गौरक्षकों को नियंत्रित करने में असमर्थ है, क्योंकि एक बार फिर उमर (खान) को अलवर में मार दिया गया है, जो गाय और बछड़ों को खरीदकर ला रहा था। उन्होंने कहा, यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि ऐसी घटनाएं बढ़ रही हैं। इस तरह के अमानवीय कृत्यों द्वारा खेती-बाड़ी का समुदाय भी बुरी तरह प्रभावित हो रहा है।



गोविंदगढ़ में गौरक्षकों ने पशुओं की तस्करी के संदेह में उमर खान (35) की गोली मारकर हत्या कर दी थी, जबकि इस घटना में एक अन्य व्यक्ति घायल हो गया था। गोविंदगढ़ में शुक्रवार को खान का क्षत-विक्षत शव रेल पटरी पर पाया गया था। गौरक्षकों ने इसके पहले एक अप्रैल को राष्ट्रीय राजमार्ग-आठ पर हरियाणा के 55 वर्षीय डेयरी किसान पहलू खान पर जानलेवा हमला किया था। दो दिन बाद खान की मौत हो गई थी।



Latest News




कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें