Breaking News
लीबिया में अगवा डॉक्टर की रिहाई की डब्ल्यूएचओ ने अपील की         ||           दलवीर भंडारी दूसरी बार आईसीजे न्यायाधीश बने         ||           रहमान ने कहा मैं और मजीदी दोनों विशिष्ट वर्ग के         ||           बिहार भाजपा अध्यक्ष ने अपने विवादित बयान पर दी सफाई         ||           प्रधानमंत्री मोदी ने आईसीजे में भंडारी के दोबारा चुने जाने को सराहा         ||           श्रीनगर में सबसे ठंडी रात, लेह में तापमान शून्य से 10.2 डिग्री नीचे         ||           लुधियाना कारखाना हादसे में मरने वालो की संख्या बढ़कर 10         ||           कमल हासन ने कहा दीपिका की स्वतंत्रता का सम्मान किया जाए         ||           तेल की कीमतों में ओपेक की बैठक से पहले गिरावट         ||           राजधानी दिल्ली में सुबह रहा हल्का कोहरा         ||           जिम्बाब्वे के राष्ट्रपति मुगाबे के खिलाफ महाभियोग की प्रक्रिया शुरू होगी         ||           शेयर बाजारों के शुरुआती कारोबार में तेजी का असर         ||           जेटली ने कहा संसद का शीतकालीन सत्र बुलाने में पहले भी देर हुई थी         ||           वीवो वी7 18990 की कीमत में लांच         ||           विराट कोहली ने लगाया अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट शतकों का अर्धशतक         ||           प्रधानमंत्री मोदी ने दासमुंशी के निधन पर शोक जताया         ||           फरहान अख्तर ने कहा संगीत की भाषा सार्वभौमिक         ||           सेंसेक्स 17 अंकों की तेजी पर बंद         ||           ममता ने कहा 'पद्मावती' विवाद दुर्भाग्यपूर्ण         ||           आखिरी दिन भारत ने दिखाया दम, पहला टेस्ट ड्रा         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> रालोद ने कहा किसानों के साथ छल कर रही है योगी सरकार

रालोद ने कहा किसानों के साथ छल कर रही है योगी सरकार


admin ,Vniindia.com | Monday September 11, 2017, 04:22:18 | Visits: 38







लखनऊ, 11 सितंबर (वीएनआई)| राष्ट्रीय लोकदल ने उत्तरप्रदेश सरकार द्वारा की जा रही कर्ज माफी को किसानों के साथ छलावा करार देते हुए, साथ ही गन्ना और चावल के मिल मालिकों के साथ सरकार की सांठगांठ का भी आरोप लगाया है। 



रालोद के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. मसूद अहमद ने आज कहा, एक ओर यह सरकार किसानों की आर्थिक स्थिति पर आंसू बहाने का नाटक करती है और दूसरी ओर कर्जमाफी के नाम पर भद्दा मजाक करती है। सरकार के प्रभारी मंत्रियों द्वारा विभिन्न जनपदों में बांटे जा रहे कर्जमाफी प्रमाण पत्र की आड़ में सरकार करोड़ों रुपया टेंट आदि लगाने के नाम पर खर्च कर रही है तथा स्टेज पर बुलाकर किसानों की आर्थिक स्थिति का मखौल बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा, कई जनपदों में आठ रुपये, 25 रुपये, 55 रुपये से लेकर 238 रुपये तक की कर्जमाफी का प्रमाण पत्र देकर किसानों को बेइज्जत किया जा रहा है, जो सर्वथा निंदनीय है।



डॉ. अहमद ने कहा, गन्ना किसान अब तक स्वयं को सुखी नहीं महसूस कर पा रहा और पुन: गन्ना के आवंटन का समय आ गया है। धन्ना सेठों ने अपनी-अपनी मिलों के लिए दौड़ लगानी शुरू कर दी है ताकि अधिक से अधिक गन्ने का आवंटन उनकी मिल के पक्ष में हो सके, भले ही किसानों के लिए उस मिल की दूरी अधिक क्यों न हो। उन्होंने कहा कि यही स्थिति कमोबेश धान किसानों की भी है, जहां चावल के मील मालिकों द्वारा भी धान की सीधी खरीद में अपनी भागीदारी सरकार द्वारा सुनिश्चित करने का प्रयास किया जा रहा है। दोनों ही स्थितियां किसानों के लिए लाभप्रद नहीं हो सकतीं। रालोद प्रदेश अध्यक्ष ने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि प्रदेश सरकार द्वारा जल्द ही गन्ना किसानों की मिलों का आवंटन नजदीक की मिलों में न किया गया और धान किसानों को धान क्रय केंद्रों पर उचित सुविधाएं न दी गईं तो रालोद के कार्यकर्ता और किसान धरना प्रदर्शन के लिए बाध्य होंगे, जिसकी जिम्मेदारी प्रदेश सरकार की होगी।



Latest News




कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें