Breaking News
पंजाब ने चेन्नई को दिया 154 का लक्ष्य         ||           भारतीय महिला हॉकी टीम एशियाई चैम्पियंस ट्रॉफी के फाइनल में हारी         ||           राष्ट्रपति कोविंद चार दिन के अवकाश पर शिमला पहुंचे         ||           पेट्रोल, डीजल की कीमतें दिल्ली में रिकॉर्ड उच्च स्तर पर         ||           छग के दंतेवाड़ा में विस्फोट, 5 जवान शहीद         ||           जिम्बाब्वे के राष्ट्रपति मई के अंत में चुनाव की तारीखों का ऐलान करेंगे         ||           मेलानिया ट्रंप किडनी की सर्जरी के बाद व्हाइट हाउस लौटीं         ||           कश्मीर में संघर्ष में नाबालिग घायल         ||           भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के असम दौरे से पहले आरटीआई कार्यकर्ता गिरफ्तार         ||           ईरान का यूरोप से परमाणु समझौते के प्रति प्रतिबद्ध रहने का आग्रह         ||           शेयर बाजार में घरेलू कंपनियों के नतीजों, विदेशी संकेतों पर रहेगी नजर         ||           कोलकाता ने हैदराबाद को 5 विकेट से हराया         ||           राजस्थान ने बेंगलोर को 30 रनों से हराया         ||           ममता बनर्जी ने कहा येदियुरप्पा का इस्तीफा लोकतंत्र की जीत         ||           प्रधानमंत्री मोदी का ओडिशा दौरा 26 मई को         ||           भारतीय महिला हॉकी टीम ने एशियाई चैंपियंस ट्रॉफी में द. कोरिया से ड्रॉ खेला         ||           कर्नाटक में मुख्यमंत्री येदियुरप्पा का इस्तीफा         ||           चिदंबरम ने कहा सर्वोच्च न्यायालय का शुक्रिया         ||           येदियुरप्पा और श्रीरामुलू का लोकसभा से इस्तीफा         ||           कांग्रेस ने कहा मतदान के समय हमारे सभी विधायक उपस्थित रहेंगे         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> रविशंकर प्रसाद ने कहा आधार और निजता के बीच संतुलन बनाने की जरूरत

रविशंकर प्रसाद ने कहा आधार और निजता के बीच संतुलन बनाने की जरूरत


admin ,Vniindia.com | Wednesday September 13, 2017, 11:04:37 | Visits: 90







नई दिल्ली, 13 सितम्बर (वीएनआई)| इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी रवि शंकर प्रसाद ने आज कहा कि आधार डेटा उपयोगिता और निजता के बीच संतुलन कायम रखने की जरूरत है। 



प्रसाद ने संयुक्त राष्ट्र द्वारा भारत वित्तीय समावेशन पर आयोजित एक सम्मेलन में कहा, आधार डेटा उपलब्धता, उपयोगिता, गोपनीयता और गुमनामीपन के बीच संतुलन बनाने की जरूरत है। सर्वोच्च न्यायालय ने 24 अगस्त को निजता के अधिकार को मौलिक अधिकार घोषित किया था, जिसकी गारंटी देश का संविधान देता है। इस फैसले से आधार से संबंधित मामलों पर असर पड़ सकता है, जिसे विभिन्न सेवाओं के लिए अनिवार्य कर दिया गया है। पैन कार्ड के साथ आधार को जोड़ने का मामला सर्वोच्च न्यायालय में लंबित है। 



प्रसाद ने कहा, सर्वोच्च न्यायालय ने निजता के अधिकार को अनुच्छेद 21 के तहत रखा है। हम इस फैसले और लोगों के अधिकार का सम्मान करने को प्रतिबद्ध हैं, लेकिन यह पूर्ण नहीं है। गोपनीयता का अधिकार राष्ट्रीय सुरक्षा और सामाजिक लाभों के प्रसार के लिए स्पष्ट बंधन है। सरकार को साबित करना होगा कि आधार सामाजिक लाभों के प्रसार के लिए जरूरी है। उन्होंने कहा कि आधार के आंकड़े सुरक्षित हैं और इस तकनीक का स्वदेश में भी आविष्कार किया गया है। उन्होंने कहा, आधार की सूचना लीक करने पर 7 लाख रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा।



Latest News



Latest Videos



कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें