Breaking News
वाटसन का आईपीएल-11 में दमदार शतक, चेन्नई ने बनाये 204 रन         ||           जेटली ने कहा कांग्रेस राजनीतिक हथियार के तौर पर महाभियोग का कर रही है प्रयोग         ||           सीए ने कहा इंग्लैंड दौरे से पहले होगी नए कोच, वनडे कप्तान की घोषणा         ||           गेल ने कहा सहवाग ने मुझे चुनकर आईपीएल को बचा लिया         ||           राहुल गाँधी ने न्यायाधीश लोया मामले पर कहा, भारतीय सच्चाई देख सकते हैं         ||           भाजपा ने लोया मामले में अपने सांसदों से कहा, राहुल पर हमला बोलें         ||           सेंसेक्स 12 अंकों की गिरावट पर बंद         ||           शकील बदायूँनी की पुण्यतिथि पर         ||           आज का दिन:         ||           चिदंबरम ने ईंधन की कीमतों को लेकर सरकार पर साधा निशाना         ||           दिल्ली उच्च न्यायालय के पूर्व मुख्य न्यायाधीश राजिन्द्र सच्चर का निधन         ||           केंद्र की वादाखिलाफी के विरोध में चंद्रबाबू नायडू का एकदिवसीय अनशन         ||           'द वॉक ऑफ मिजवान' के रैंप पर रणबीर, दीपिका ने जलवा बिखेरा         ||           राफेल नडाल मोंटे कार्लो मास्टर्स के क्वार्टर फाइनल में         ||           7 विपक्षी दलों ने प्रधान न्यायाधीश के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव सौंपा         ||           नरोदा पाटिया नरसंहार मामले में कोडनानी बरी         ||           राष्ट्रमंडल सम्मेलन अधर में छोड़कर दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति स्वदेश लौटे         ||           राजधानी दिल्ली में बारिश के आसार         ||           अनिल कपूर ने कहा 'चलती का नाम गाड़ी' का रीमेक बनाने के लिए तैयार         ||           एंटोनियो गुटेरेस ने कहा संयुक्त राष्ट्र कर्मियों पर हमले बढ़े         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> राहुल गाँधी ने पोरबंदर में मछुआरा समुदाय को संबोधित किया

राहुल गाँधी ने पोरबंदर में मछुआरा समुदाय को संबोधित किया


admin ,Vniindia.com | Friday November 24, 2017, 05:59:02 | Visits: 134







पोरबंदर, 24 नवंबर (वीएनआई)| कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने आज पोरबंदर में मछुआरों की एक रैली को संबोधित करते हुए कहा कि राज्य और केंद्र में सत्तारूढ़ भाजपा उद्योगपतियों को फायदा पहुंचाने के लिए काम कर रही है और उन्होंने भरोसा जताया कि कांग्रेस राज्य में अगली सरकार बनाएगी। 



राज्य के दो दिवसीय दौरे के दौरान राहुल ने मछुआरा समुदाय के नेता भरत मोदी के साथ मंच साझा किया। वह हाल तक क्षेत्र के वरिष्ठ भाजपा नेता थे। राहुल ने कहा कि कांग्रेस सरकार और कांग्रेस के मुख्यमंत्री का दरवाजा राज्य में सभी के लिए हमेशा खुला रहेगा। उन्होंने कहा, मोदीजी आपको 'मन की बात' सुनाते हैं। लेकिन कोई आपके 'मन की बात' नहीं सुनता। कांग्रेस दिसंबर में गुजरात चुनाव जीतेगी और आपकी जरूरत के हिसाब से काम करेगी। राहुल ने कहा, "अगर कांग्रेस केंद्र में सत्ता में आएगी तो, हम स्वतंत्र मत्स्य मंत्रालय बनाने पर विचार करेंगे। भाजपा सरकार मछुआरों को 300 करोड़ रुपये का अनुदान देने पर विचार नहीं कर रही है, लेकिन उसने बड़े व्यापारिक घरानों के एक लाख करोड़ रुपये कर्ज माफ कर दिए हैं। उन्होंने कहा कि ये वही उद्योगपति हैं, जो मोदी सरकार के लिए मार्केटिंग कर रहे हैं। गांधी ने भरत मोदी को संबोधित करते हुए कहा, यह बहुत रोचक है। भाजपा का एक कार्यकर्ता कांग्रेस के मंच से आपकी आवाज उठा रहा है। प्रधानमंत्री आपके हैं, मुख्यमंत्री आपके हैं। अब आप यहां आए हैं और कांग्रेस गुजरात में जीतने वाली है। हम आपकी सुनेंगे। उन्होंने वस्तु एवं सेवा कर(जीएसटी) और नोटबंदी पर निशाना साधा और बताया कि किस तरह से इसकी वजह से लोगों पर असर पड़ा है। कांग्रेस उपाध्यक्ष शुक्रवार सुबह पोरबंदर पहुंचे और रैली संबोधित करने से पहले वह महात्मा गांधी की जन्मस्थली गए।



वहीं दूसरी ओर भाजपा ने राहुल पर महात्मा गांधी की मूर्ति हाथ से फिसलने पर निशाना साधा। यह मूर्ति पोरबंदर में उनके स्वागत के दौरान कांग्रेस के एक कार्यकर्ता ने भेंट की थी, जो लगभग उनके हाथ से फिसल गई थी। लेकिन उन्होंने किसी तरह उसे जमीन पर गिरने से बचा लिया। भाजपा ने इसे मुद्दा बनाने की कोशिश की, लेकिन गलती से उसने इस मूर्ति को सरदार पटेल की मूर्ति बता दी और कहा कि कांग्रेस सरदार पटेल को संभाल नहीं सकी। राहुल गांधी सरदार की मूर्ति को संभाल नहीं सके। जब रक्षामंत्री सीतारमण को यह बताया गया कि वह सरदार की नहीं, बल्कि महात्मा गांधी की मूर्ति थी तो उन्होंने कहा, आप सरदार या महात्मा की मूर्ति पकड़ नहीं सके। यह आपके हाथ से लगभग फिसल गई थी। यह मुझे कांग्रेस द्वारा सरदार पटेल के साथ किए गए व्यवहार की याद दिलाता है। सीतारमण ने राज्य में विपक्ष के रूप में पार्टी के रिकार्ड को उत्साहविहीन बताते हुए कहा, "लोगों ने कांग्रेस को अस्वीकार किया है, इसलिए पार्टी तीन-चार चुनावों से विपक्ष में है। वर्ष 2012 में उसके पास 182 विधायकों में से केवल 57 विधायक थे। कांग्रेस को ऐसे काम करने चाहिए कि ऐसा लगे कि वह दमदार प्रतिस्पर्धी के रूप में उभर रही है। लेकिन इसके बदले वे लोग इस बार 43 सीटों तक सिमट जाएंगे।"



Latest News




कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें