Breaking News
वित्तमंत्री जेटली कश्मीर में शांति बहाली के लिए सरकार कदम उठा रही         ||           नितिन पटेल ने कहा मूर्खो के फार्मूले को मूर्खो ने स्वीकारा         ||           सेंसेक्स 83 अंकों की तेजी पर बंद         ||           सोनम कपूर ने कहा मैं अहमियत रखने वाली चीजों पर ध्यान देती हूं         ||           सर्वोच्च न्यायालय ने कहा जेपी एसोसिएट्स 275 करोड़ रुपये जमा करे         ||           मुकुल संगमा ने कहा मेघालय के राजस्व संग्रह के आकलन में जीएसटी सक्षम नहीं         ||           दुनिया भर में शेयरइट के 1.2 अरब यूजर्स         ||           भारतीय बास्केट में कच्चे तेल की कीमत 60.95 डॉलर प्रति बैरल         ||           पीवी सिंधु हांगकांग ओपन के दूसरे दौर में पहुंची         ||           साइना नेहवाल हांगकांग ओपन के दूसरे दौर में, कश्यप और सौरभ बाहर         ||           शत्रुघ्न ने 'पद्मावती' पर मोदी, अमिताभ की चुप्पी पर उठाया सवाल         ||           योगी ने कहा संपूर्ण विकास के लिए निकायों में भी भाजपा की सरकार जरूरी         ||           हार्दिक ने कहा पाटीदार आरक्षण पर कांग्रेस का फार्मूला स्वीकार है         ||           आज का दिन :         ||           कश्मीर में तापमान शून्य से नीचे, लेह सबसे ठंडा         ||           राजधानी दिल्ली में सुबह कोहरा छाया         ||           अमेजन क्षेत्र में हत्याओं की ग्रीनपीस ने निंदा की         ||           मजीद मजीदी ने कहा भारत के पास प्रतिभा, लेकिन उनके पास मौके नहीं         ||           उप्र निकाय चुनाव में पहले चरण का मतदान जारी, योगी ने डाला वोट         ||           उप्र में तेज हवाओं ने बढ़ाई ठंड         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> प्रधानमंत्री मोदी ने फिलीपींस में चावल अनुसंधान केंद्र का दौरा किया

प्रधानमंत्री मोदी ने फिलीपींस में चावल अनुसंधान केंद्र का दौरा किया


admin ,Vniindia.com | Monday November 13, 2017, 04:50:06 | Visits: 24







मनीला, 13 नवंबर (वीएनआई)| प्रधानमंत्री मोदी ने आज अंतर्राष्ट्रीय चावल अनुसंधान संस्थान (आईआरआरआई) का दौरा किया। यह एक प्रमुख अनुसंधान संगठन है, जो फिलीपींस के लॉस बानॉस में चावल विज्ञान के जरिए गरीबी व भूखमरी को कम करने के प्रति समर्पित है। 



यह संस्थान चावल किसानों व उपभोक्ताओं व भविष्य की पीढ़ियों के लिए चावल उगाने के वातावरण के संरक्षण व कल्याण व स्वास्थ्य में सुधार के लिए काम करता है। मोदी ने ट्वीट किया, मेरी अंतर्राष्ट्रीय चावल अनुसंधान संस्थान (आईआरआरआई) की यात्रा एक बेहतरीन अनुभव रही। उन्होंने कहा, "चावल की खेती में सुधार के जरिए आईआरआरआई ने गरीबी व भूखभरी के उन्मूलन की दिशा में असाधारण कार्य किया है। इनके कार्य ने कई किसानों व उपभोक्ताओं को, खास तौर से एशिया व अफ्रीका में फायदा पहुंचाया है।



प्रधानमंत्री ने कहा कि उन्होंने आईआरआरआई में काम कर रहे भारतीय वैज्ञानिकों, छात्रों व शोककर्ताओं से बातचीत की। उन्होंने कहा, भारत का आईसीएआर (भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद) व आईआरआरआई एक-दूसरे के साथ चार दशकों से सहयोग कर रहे हैं। उन्होंने कहा, भारत भी आईआरआरआई की रणनीतिक योजना, मुख्य लक्ष्य के निर्धारण में सहायता व भूखमरी व गरीबी से निपटने के लिए कार्य व सहायता में शामिल है।



मोदी ने एक फोटो प्रदर्शनी की समीक्षा की, जिसमें बाढ़ सहने योग्य, व सूखा सहने योग्य व खारापन सहने योग्य चावल की किस्मों व महिला कृषि सहकारी समितियों के साथ आईआरआरआई के कार्यो का प्रदर्शन किया गया। उन्होंने पानी में डूबे हुए चावल की एक किस्म के लिए प्रतीक के तौर पर जमीन में बुवाई की। उन्होंने नरेंद्र मोदी रिसाइलेंट राइस फील्ड लैबोरेटरी की एक उद्घाटन पट्टिका का अनावरण किया। आईआरआरआई वाराणसी में दक्षिण एशिया क्षेत्रीय केंद्र स्थापित करेगा, जो फिलीपींस में इसके मुख्यालय के बाहर अपनी तरह का पहला केंद्र होगा।



Latest News



Latest Videos



कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें