Breaking News
वाटसन का आईपीएल-11 में दमदार शतक, चेन्नई ने बनाये 204 रन         ||           जेटली ने कहा कांग्रेस राजनीतिक हथियार के तौर पर महाभियोग का कर रही है प्रयोग         ||           सीए ने कहा इंग्लैंड दौरे से पहले होगी नए कोच, वनडे कप्तान की घोषणा         ||           गेल ने कहा सहवाग ने मुझे चुनकर आईपीएल को बचा लिया         ||           राहुल गाँधी ने न्यायाधीश लोया मामले पर कहा, भारतीय सच्चाई देख सकते हैं         ||           भाजपा ने लोया मामले में अपने सांसदों से कहा, राहुल पर हमला बोलें         ||           सेंसेक्स 12 अंकों की गिरावट पर बंद         ||           शकील बदायूँनी की पुण्यतिथि पर         ||           आज का दिन:         ||           चिदंबरम ने ईंधन की कीमतों को लेकर सरकार पर साधा निशाना         ||           दिल्ली उच्च न्यायालय के पूर्व मुख्य न्यायाधीश राजिन्द्र सच्चर का निधन         ||           केंद्र की वादाखिलाफी के विरोध में चंद्रबाबू नायडू का एकदिवसीय अनशन         ||           'द वॉक ऑफ मिजवान' के रैंप पर रणबीर, दीपिका ने जलवा बिखेरा         ||           राफेल नडाल मोंटे कार्लो मास्टर्स के क्वार्टर फाइनल में         ||           7 विपक्षी दलों ने प्रधान न्यायाधीश के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव सौंपा         ||           नरोदा पाटिया नरसंहार मामले में कोडनानी बरी         ||           राष्ट्रमंडल सम्मेलन अधर में छोड़कर दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति स्वदेश लौटे         ||           राजधानी दिल्ली में बारिश के आसार         ||           अनिल कपूर ने कहा 'चलती का नाम गाड़ी' का रीमेक बनाने के लिए तैयार         ||           एंटोनियो गुटेरेस ने कहा संयुक्त राष्ट्र कर्मियों पर हमले बढ़े         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> प्रधानमंत्री मोदी ने कहा सुनिश्चित करना होगा, विरोधी ताकतें डिजिटल स्पेस को खेल का मैदान न बनाएं

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा सुनिश्चित करना होगा, विरोधी ताकतें डिजिटल स्पेस को खेल का मैदान न बनाएं


admin ,Vniindia.com | Thursday November 23, 2017, 02:42:00 | Visits: 79







नई दिल्ली, 23 नवंबर (वीएनआई)| प्रधानमंत्री मोदी ने आज कहा कि राष्ट्र को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि डिजिटल स्पेस विरोधी ताकतों के लिए खेल का मैदान न बने। 



ग्लोबल कांफ्रेंस ऑन साइबर स्पेस (जीसीसीएस) के 5वें संस्करण के उद्घाटन सत्र में मोदी ने कहा, साइबर हमले वैश्विक समुदाय के लिए बड़ा खतरा हैं। हमें यह सुनिश्चित करने की जरूरत है कि समाज का कमजोर तबका इसका शिकार नहीं बने। उन्होंने कहा कि इसमें साइबर हमलों को रोकने में निपुण योद्धाओं पर ध्यान देने की जरूरत है, जो साइबर हमले करने वाले शरारती तत्वों के प्रति सर्तक रहें। दो दिवसीय जीसीसीएस कांफ्रेस का विषय 'साइबर4ऑल : स्तत विकास के लिए सुरक्षित व समावेशी साइबर स्पेस' है। उन्होंने कहा कि इंटरनेट ने भारतीयों के जीवन को आसान बनाया है। मोदी ने कहा, भारत सरकार का लक्ष्य डिजिटल पहुंच बढ़ाने के जरिए सशक्तिकरण करना है। उन्होंने कहा, "हम अपने नागरिकों को सशक्त बनाने के लिए मोबाइल पॉवर या एम-पॉवर में विश्वास रखते हैं।"



प्रधानमंत्री ने आगे कहा कि जनधन योजना के जरिए वित्तीय समावेशन, आधार के जरिए विशिष्ट पहचान व मोबाइल फोन्स ने भ्रष्टाचार को कम करने व देश में पारदर्शिता लाने में सहायता की है। भारत की आईटी प्रतिभा के बारे में मोदी ने कहा, "भारतीय आईटी प्रतिभा को पूरी दुनिया ने मान्यता दी है। भारतीय आईटी कंपनियां ने अपना नाम बनाया है। महिलाएं आईटी कार्यबल का महत्वपूर्ण हिस्सा हैं और आईटी सेक्टर ने लैंगिक सशक्तिकरण में योगदान दिया है।"उन्होंने कहा कि तकनीक बाधाओं को तोड़ देती है।



जीसीसीएस की शुरुआत 2011 में लंदन में हुई। दूसरी बार इसका आयोजन 2012 में बुडापेस्ट में किया गया। इसमें इंटरनेट अधिकार व इंटरनेट सुरक्षा के संबंध पर ध्यान केंद्रित किया गया। तीसरी बार इस सम्मेलन का आयोजन सियोल में 2013 में हुआ। इसके चौथे संस्करण का आयोजन 2015 में हेग में किया गया, जिसमें 97 देशों ने भाग लिया। श्रीलंका के प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे ने भी इस समारोह में भाग लिया।



Latest News



Latest Videos



कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें