Breaking News
मुबंई इंडियंस ने जहीर खान को डॉयरेक्टर नियुक्त किया         ||           प्रधानमंत्री मोदी ने कहा चार साल पहले किसने सोचा था कांग्रेस नेताओ को सजा होगी         ||           अरुण जेटली ने कहा सरकार ने उर्ज‍ित पटेल से नहीं मांगा इस्‍तीफा         ||           कमलनाथ ने कहा पंचायत के काम के लिए कोई मंत्रालय के चक्कर लगाए, ये बर्दाश्त नहीं         ||           सज्जन कुमार ने राहुल गांधी को पत्र लिख कांग्रेस से दिया इस्तीफा         ||           अमित शाह ने कहा 1984 दंगों में कांग्रेस नेताओं ने किया महिलाओं से बलात्कार         ||           अमेरिका ने कहा सीरिया में रह सकते हैं असद         ||           यूपी विधानसभा का आज से शीतकालीन सत्र         ||           ऑस्ट्रेलिया ने भारत को दूसरे टेस्ट में 146 रन से हराकर सीरीज में बराबरी की         ||           राजधानी दिल्ली पर सर्दी का सितम, उत्तर भारत में अलर्ट जारी         ||           उमर अब्दुल्ला ने कहा इस हाल में मनोहर पर्रिकर से काम कराना अमानवीय         ||           कमलनाथ ने किसानों की कर्जमाफी से जुड़ी फाइल पर किया हस्ताक्षर         ||           कमलनाथ ने मध्‍य प्रदेश के मुख्यमंत्री के तौर पर ली शपथ         ||           मालदीव के राष्‍ट्रपति पहली विदेश यात्रा पर भारत पहुंचे         ||           लोकसभा में विपक्ष के हंगामा बीच तीन तलाक बिल पेश         ||           कांग्रेस ने कहा कमलनाथ दोषी तो मोदी भी दोषी         ||           जेटली ने कहा सिख दंगो में कांग्रेस के पाप छुप नहीं सकते         ||           पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़े         ||           राजस्थान में अशोक गहलोत ने मुख्यमंत्री और सचिन पायलट ने उप मुख्यमंत्री पद की शपथ ली         ||           कांग्रेस नेता सज्जन कुमार को सिख विरोधी दंगों में उम्रकैद         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> बच्चों को बादाम, मछली, सोयाबीन रखेंगे दमा से दूर

बच्चों को बादाम, मछली, सोयाबीन रखेंगे दमा से दूर


admin ,Vniindia.com | Thursday December 07, 2017, 10:06:00 | Visits: 343







लंदन, 7 दिसंबर (वीएनआई)| आप अपने बच्चों के आहार में बादाम, मछली जैसे सैलमॉन, पटसन के बीज व सोयाबीन तेल में मौजूद जरूरी पॉलीअनसेचुरेटेड वसा अम्ल शामिल कर उन्हें एलर्जी संबंधी बीमारियों से दूर रखेंगे। इनका सेवन आपके बच्चे को खास तौर से दमा (अस्थमा) व नाक में जलन व श्लेष्मा झिल्ली में सूजन के जोखिम को रोकने में कारगर होगा। 



दमा व नाक के एलर्जी संबंधी रोग से बच्चों के बचपन पर असर पड़ता है। इसकी वजह या तो आनुवांशिक होती है या पर्यावरणीय कारकों का असर होता है।शोध के परिणाम बताते हैं कि पॉलीअनसेचुरेटेड वसा अम्लों की रक्त में बढ़ी मात्रा बच्चों में एलर्जी संबंधी रोगों के जोखिम को कम करने से जुड़ी हुई है। पॉलीअनसेचुरेड वसीय अम्ल में ओमेगा-3 व ओमेगा-6 वसा अम्ल आते हैं, जिन्हें एराकिडोनिक अम्ल कहते हैं। ऐसे बच्चों में, जिनमें आठ साल की उम्र में ओमेगा 3 का उच्च रक्त स्तर होता है, उनमें 16 साल की उम्र में दमा या नाक में जलन या श्लेष्मा झिल्ली में एलर्जी के विकसित होने की संभावना कम होती है। उच्चस्तर वाले ओमेगा-6 वसा अम्ल जिसे एराकिडोनिक अम्ल कहते हैं, यह 16 साल की उम्र में दमा के कम जोखिम से जुड़ा हुआ है। स्वीडेन के कारोलिंस्का इंस्टीट्यूट की शोधकर्ता एना बर्गस्ट्रोम ने कहा, "चूंकि एलर्जी की अक्सर शुरुआत बचपन के दौरान होती है, ऐसे में इस शोध का मकसद पर्यावरण व जीवनशैली का एलर्जी संबंधी बीमारियों पर असर देखना था।" 



Latest News




कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें