Breaking News
आज का दिन :         ||           आईपीएल कार्यक्रम         ||           संघ लोक सेवा आयोग की सिविल सर्विसेज परीक्षा के लिए अधिसूचना         ||           माघ पूर्णिमा         ||           किडनी-लिवर बेचने वाले गिरोह का कानपुर पुलिस ने किया पर्दाफाश         ||           सहमति शिव सेना और बीजेपी में         ||           कुलभूषण जाधव केस मे इंटरनेशन कोर्ट में सुनवाई शुरू         ||           राहुल की मौजूदगी मे कांग्रेस में शामिल हुए सांसद कीर्ति आजाद         ||           मारा गया पुलवामा आतंकी हमले का मास्टरमाइंड ग़ाज़ी         ||           आज का दिन :         ||           आज का दिन :         ||           वायु शक्ति-2019         ||           क्रिकेट क्लब ऑफ इंडिया का अनूठा विरोध         ||           पुलवामा हमला-कश्मीर के पॉच अलगाववादी नेताओं की सुरक्षा हटाई गई         ||           महानायक शहीदों की आर्थिक मदद के लिए आगे आए हैं.         ||           Hyderabad Special Tomato Chutney         ||           ब्रिटेन ने अपने नागरिकों को पाकिस्तान से सटे सीमाई इलाकों से दूर रहने की सलाह दी         ||           पुलवामा आतंकी हमले पर चीन की संवेदना में पाकिस्तान व जैश का जिक्र नही         ||           ठोको ताली-सिद्धू का कपिल शर्मा शो से जाना पहले से तय था         ||           प्रधानमंत्री मोदी ने कहा हम छेाड़ते नहीं, किसी ने छेड़ा तो छोड़ते नहीं         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> निर्मला सीतारमण ने कहा तूफान ओखी के बचाव अभियान को लेकर उम्मीद कायम

निर्मला सीतारमण ने कहा तूफान ओखी के बचाव अभियान को लेकर उम्मीद कायम


admin ,Vniindia.com | Monday December 04, 2017, 02:38:05 | Visits: 168







तिरुवनंतपुरम, 4 दिसम्बर (वीएनआई)| रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने तूफान ओखी से प्रभावित तमिलनाडु के दक्षिणी जिलों और केरल का दो दिवसीय दौरा समाप्त करने के बाद आज कहा कि बचाव कार्य तब तक जारी रहेगा जब तक कि गहरे समुद्र में फंसे आखिरी मछुआरे को नहीं बचा लिया जाता। 



दिल्ली के लिए उड़ान में रवाना होने से पहले हवाईअड्डे पर संवाददाताओं को संबोधित करते हुए सीतारमण ने कहा कि उन्होंने केरल के मछुआरों के दो गांवों विझिंजम और पून्थुरा का दौरा किया और पाया कि लोग 'अत्यधिक तनाव और गंभीर संकट' में हैं। उन्होंने कहा, मैंने उनसे कहा है कि खोज अभियान चल रहा है जिसमें युद्धपोत भी शामिल हैं और यह अभियान आखिरी लापता मछुआरे को वापस लाने तक जारी रहेगा। उन्होंने आगे कहा, मैं उम्मीद नहीं खोऊंगी क्योंकि संयुक्त खोज अभियान के तहत उन मछुआरों को भी बचा लिया गया है जो समुद्र में 15 दिन पहले उतरे थे। हमें खबर मिली है कि कई नावें महाराष्ट्र, गोवा और कर्नाटक तट पर पहुंची हैं।



सीतारमन ने कहा, मैंने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री (देवेंद्र फडणवीस) से बात की है कि सुरक्षित घर वापस लौटने की स्थिति तक इन मछुआरों को वहीं आश्रय दिया जाए उन्होंने हालांकि खोज अभियानों को लेकर हो रही आलोचनाओं के सवालों पर जवाब देने से इनकार कर दिया। उन्होंने कहा कि बचाव और खोजबीन अभियानों पर उनका ध्यान बना रहेगा। मंत्री ने कहा कि वह कृषि और घरेलू मामलों को संभालने वाले अपने सहयोगियों से मिलेंगी और यहां की स्थिति के बारे में बात करेंगी। सीतारमण ने कहा, मैंने केरल के मुख्यमंत्री (पिनाराई विजयन) को इस मामले पर अपनी सलाह भेजने के लिए कहा है।" 

 



Latest News



Latest Videos



कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें