Breaking News
जेटली ने कहा संसद का शीतकालीन सत्र बुलाने में पहले भी देर हुई थी         ||           वीवो वी7 18990 की कीमत में लांच         ||           विराट कोहली ने लगाया अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट शतकों का अर्धशतक         ||           प्रधानमंत्री मोदी ने दासमुंशी के निधन पर शोक जताया         ||           फरहान अख्तर ने कहा संगीत की भाषा सार्वभौमिक         ||           सेंसेक्स 17 अंकों की तेजी पर बंद         ||           ममता ने कहा 'पद्मावती' विवाद दुर्भाग्यपूर्ण         ||           आखिरी दिन भारत ने दिखाया दम, पहला टेस्ट ड्रा         ||           सोनिया गाँधी ने मोदी पर निशाना साधा         ||           मुकुल की याचिका पर न्यायालय ने केंद्र, बंगाल से जवाब मांगा         ||           राहुल गाँधी ने कहा भाजपा विकास के मुद्दे से ध्यान हटाने की कोशिश करेगी         ||           प्रसून जोशी ने कहा बिना प्रमाण पत्र 'पद्मावती' की स्क्रीनिंग करना निराशाजनक         ||           भारतीय बास्केट में कच्चे तेल की कीमत 60.27 डॉलर प्रति बैरल         ||           कांग्रेस नेत्ता और पूर्व एआईएफएफ अध्यक्ष प्रियरंजन दासमुंशी का निधन         ||           गुजरात चुनाव के लिए भाजपा ने उम्मीदवारों की तीसरी सूची जारी की         ||           शिवराज ने कहा मप्र में प्रदर्शित नहीं होगी पद्मावती         ||           विराट कोहली ने शतक के साथ 352/8 पर पारी घोषित की, श्रीलंका को 231 का लक्ष्य मिला         ||           दिमित्रोव ने एटीपी फाइनल्स खिताब जीतकर रचा इतिहास         ||           योगेंद्र यादव ने कहा केंद्र को सभी राज्यों में कृषि ऋण माफ करना चाहिए         ||           16 दिसंबर को नए कांग्रेस अध्यक्ष का चुनाव         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> मायावती ने कहा रोहिंग्या मुसलमानों के प्रति सख्त रवैया न अपनाए भारत सरकार

मायावती ने कहा रोहिंग्या मुसलमानों के प्रति सख्त रवैया न अपनाए भारत सरकार


admin ,Vniindia.com | Wednesday September 13, 2017, 05:02:41 | Visits: 93







लखनऊ, 13 सितंबर (वीएनआई)। बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने भारत में शरणार्थी के तौर पर रह रहे रोहिंग्या मुसलमान परिवारों के प्रति सहानुभूति व्यक्त करते हुए भारत सरकार से मांग की है कि उनके प्रति मानवता व इंसानियत के नाते सख्त रवैया नहीं अपनाना चाहिए और न ही राज्यों को इसके लिए मजबूर किया जाना चाहिए।



गौरतलब है म्यांमार के सीमावर्ती राज्य में अशांति के कारण लाखों रोहिंग्या मुसलमानों ने बंगलादेश में शरण ली तथा कई हजार भारत के विभिन्न राज्यों में भी शरणार्थी बनकर रह रहे हैं। उनके प्रति प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार का रवैया पूरी तरह से स्पष्ट नहीं होने के कारण असमंजस की स्थिति है, जिसके संबंध में उच्चतम न्यायालय ने भी केंद्र सरकार से अपना रुख स्पष्ट करने को कहा है। 



मायावती ने कहा, ऐसी परिस्थिति में अदालत की कार्रवाई अपनी जगह है, परंतु भारत सरकार को इन शरणार्थियों के प्रति मानवीय दृष्टिकोण से व्यवहार करना चाहिए जैसा कि भारत की परंपरा रही है। साथ ही, म्यांमार व बंगलादेश की सरकार से वार्ता करके रोहिंग्या मुसलमानों के मामले को सुलझाने का प्रयास करना चाहिए ताकि उनका अपने देश से पलायन भी रुक सके।



Latest News




कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें