Breaking News
फिल्म 'पद्मावती' का पहला पोस्टर जारी         ||           उप्र में बूंदाबांदी से गर्मी और उमस से राहत         ||           प्रधानमंत्री मोदी ने राष्ट्र को नवरात्रि की शुभकामनाएं दी         ||           भारत और आस्ट्रेलिया कोलकाता वनडे आज होंगे आमने-सामने         ||           राहुल गांधी ने कहा भारत में असहिष्णुता से विदेशों में छवि बिगड़ी         ||           राजधानी दिल्ली में आज बदली छाई         ||           डोनाल्ड ट्रंप ने भूकंप प्रभावित मेक्सिको की मदद के लिए हाथ बढ़ाया         ||           शेयर बाजारों के शुरुआती कारोबार में तेजी का असर         ||           मेक्सिको में तीन दिवसीय राष्ट्रीय शोक का ऐलान         ||           भूकंप से मेक्सिको में मरने वालों की संख्या 230 हुई         ||           जापान में भूकंप के तेज झटके         ||           वित्तमंत्री जेटली ने कहा अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए पैकेज जल्द         ||           मायावती ने कहा योगी का श्वेत पत्र अपनी कमियों को छिपाने का जरिया         ||           पटना ने प्रो कबड्डी लीग में घर में हासिल की रोमांचक जीत         ||           अखिलेश यादव ने कहा योगी सरकार का श्वेत पत्र सफेद झूठ         ||           सेंसेक्स 2 अंक की गिरावट पर बंद         ||           शिवराज सिंह चौहान ने नवरात्रि की शुभकामनाएं दीं         ||           भारतीय बास्केट में कच्चे तेल की कीमत 54.76 डॉलर प्रति बैरल         ||           आम आदमी पार्टी ने कहा ईंधन कीमतों को अंतर्राष्ट्रीय बाजार से जोड़ा जाए         ||           बीसीसीआई ने पद्म भूषण के लिए धौनी के नाम की सिफारिश की         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> मायावती ने कहा रोहिंग्या मुसलमानों के प्रति सख्त रवैया न अपनाए भारत सरकार

मायावती ने कहा रोहिंग्या मुसलमानों के प्रति सख्त रवैया न अपनाए भारत सरकार


admin ,Vniindia.com | Wednesday September 13, 2017, 05:02:41 | Visits: 74







लखनऊ, 13 सितंबर (वीएनआई)। बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने भारत में शरणार्थी के तौर पर रह रहे रोहिंग्या मुसलमान परिवारों के प्रति सहानुभूति व्यक्त करते हुए भारत सरकार से मांग की है कि उनके प्रति मानवता व इंसानियत के नाते सख्त रवैया नहीं अपनाना चाहिए और न ही राज्यों को इसके लिए मजबूर किया जाना चाहिए।



गौरतलब है म्यांमार के सीमावर्ती राज्य में अशांति के कारण लाखों रोहिंग्या मुसलमानों ने बंगलादेश में शरण ली तथा कई हजार भारत के विभिन्न राज्यों में भी शरणार्थी बनकर रह रहे हैं। उनके प्रति प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार का रवैया पूरी तरह से स्पष्ट नहीं होने के कारण असमंजस की स्थिति है, जिसके संबंध में उच्चतम न्यायालय ने भी केंद्र सरकार से अपना रुख स्पष्ट करने को कहा है। 



मायावती ने कहा, ऐसी परिस्थिति में अदालत की कार्रवाई अपनी जगह है, परंतु भारत सरकार को इन शरणार्थियों के प्रति मानवीय दृष्टिकोण से व्यवहार करना चाहिए जैसा कि भारत की परंपरा रही है। साथ ही, म्यांमार व बंगलादेश की सरकार से वार्ता करके रोहिंग्या मुसलमानों के मामले को सुलझाने का प्रयास करना चाहिए ताकि उनका अपने देश से पलायन भी रुक सके।



Latest News




कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें