Breaking News
केजरीवाल ने कहा पहले कांग्रेस ने घोटाले किए, अब भाजपा कर रही         ||           अभिनेत्री मनोरमा की याद में         ||           भारत की नजरें जोहान्सबर्ग टी-20 में अब एक और ऐतिहासिक जीत पर         ||           यश चोपड़ा मेमोरियल अवॉर्ड से आशा भोंसले सम्मानित         ||           स्वामी प्रसाद मौर्य के भतीजे सहित कई दिग्गज सपा में शामिल         ||           कोहली ने कहा अभी मुझमें 8-9 साल की क्रिकेट बाकी है         ||           जे.कृष्णामूर्ति :         ||           अरविंदर सिंह लवली की कांग्रेस में वापसी         ||           फिलिस्तीन और इजराइल संतुलन के साथ प्रगाढ़ता         ||           मोदी और रूहानी ने द्विपक्षीय सहयोग और क्षेत्रीय मुद्दों पर चर्चा की         ||           ईरान के राष्ट्रपति से सुषमा स्वराज ने मुलाकात की         ||           मेघना नायडू लंबे अर्से बाद बांग्ला फिल्म से जुड़ीं         ||           उप्र में सुबह तेज धूप निकली         ||           शेयर बाजार बीते सप्ताह सपाट बंद (साप्ताहिक समीक्षा)         ||           भंसाली ने कहा जौहर दृश्य भावनात्मक रूप से ज्यादा चुनौतीपूर्ण था         ||           अलगाववादियों के विरोध प्रदर्शन के मद्देनजर श्रीनगर में प्रतिबंध         ||           राजधानी दिल्ली में सुबह धुंध छाई         ||           फ्लोरिडा गवर्नर ने कहा एफबीआई निदेशक को इस्तीफा देना चाहिए         ||           डोनाल्ड ट्रंप फ्लोरिडा अस्पताल में घायलों से मिले         ||           मेक्सिको में भूकंप के तेज झटके         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन और पूर्व वित्तमंत्री चिदंबरम ने माल्या की मदद के आरोप नकारे

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन और पूर्व वित्तमंत्री चिदंबरम ने माल्या की मदद के आरोप नकारे


Vniindia.com | Monday January 30, 2017, 08:47:10 | Visits: 343







नई दिल्ली, 30 जनवरी (वीएनआई)| पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और पूर्व वित्तमंत्री पी. विदंबरम ने आज भाजपा के उस आरोप को खारिज कर दिया, जिसमें कहा गया है कि दोनों नेताओं ने शराब कारोबारी विजय माल्या को ऋण दिलाने में मदद की थी। कांग्रेस के दोनों वरिष्ठ नेताओं ने जोर देकर कहा कि माल्या के पत्र उन सैकड़ों पत्रों के हिस्सा हैं, जो नियमित तौर पर तत्कालीन संप्रग सरकार को मिलते रहते थे।

भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने माल्या की तरफ से मनमोहन और चिदंबरम को लिखे गए कई पत्रों का जिक्र करते हुए आरोप लगाया कि दोनों ने अब बंद हो चुकी किंगफिशर एयरलाइंस को बचाने के लिए भारी ऋण दिलाने में माल्या की मदद की थी। कांग्रेस ने इस आरोप को खारिज करते हुए माल्या के ऋण माफ करने और उसे देश से भागने को लेकर भाजपा तथा नरेंद्र मोदी सरकार पर उंगली उठाई।

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने मीडिया से कहा, किसी भी सरकार के सभी प्रधानमंत्रियों और अन्य मंत्रियों को विभिन्न उद्योगपतियों की ओर से पत्र प्राप्त होते हैं, जिसे हम सामान्य प्रक्रिया के तहत उचित प्राधिकारी के पास भेज देते हैं। मैंने यही किया और पूरे संतोष के साथ कि हम कुछ ऐसा नहीं कर रहे थे जो देश के कानून के खिलाफ था। मनमोहन ने पात्रा के आरोपों पर प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए कहा, जिस पत्र का जिक्र किया गया है, वह एक साधारण पत्र के सिवा कुछ नहीं है, जिसके साथ मेरी जगह कोई भी सरकार होती तो वही करती। यह एक नियमित प्रक्रिया थी।

चिदंबरम ने पात्रा के उस दावे को खारिज कर दिया, जिसमें उन्होंने कहा था कि मनमोहन सिंह ने अपने तत्कालीन प्रधान सचिव से कहा था कि माल्या की मदद सुनिश्चित कराई जाए। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री कार्यालय या अन्य मंत्रालयों को लिखे गए पत्रों को संबंधित अधिकारी के पास भेजना एक नियमित कामकाज है। चिदंबरम ने कहा, यदि पीएमओ को प्राप्त हुए किसी पत्र को प्रधान सचिव के पास भेजा जाता है, और उसके बाद संबंधित विभाग को भेजा जाता है, तो यह सामान्य-सी बात है। उन्होंने कहा, सरकार, खासतौर से पीएमओ या वित्तमंत्री कार्यालय को प्रतिदिन सैकड़ों पत्र प्राप्त होते हैं। कोई भी मंत्री व्यक्तिगत तौर पर इन पत्रों को नहीं देखता और उन्हें संबंधित अधिकारियों के पास भेज दिया जाता है, जो उसपर आगे की उचित कार्रवाई करते हैं।

पूर्व वित्तमंत्री ने कहा, मौजूदा सरकार से पूछिए कि पिछले तीन वर्षो से क्या उन्हें पत्र प्राप्त हुए हैं या नहीं। यदि वे कहते हैं कि उन्हें कोई पत्र नहीं प्राप्त हुआ है, तो यह सरकार के कामकाज की गंभीर स्थिति को जाहिर करती है। वहीं कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा, कांग्रेस जानना चाहती है कि माल्या को भागने की अनुमति किसने दी, किसने उसके ऋण माफ किए। हम पूछना चाहते हैं कि क्या भाजपा ने वोट देकर माल्या को राज्यसभा सदस्य नहीं बनाया।

Latest News




कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें