Breaking News
राहुल गाँधी ने हाफिज की रिहाई को लेकर मोदी पर कसा तंज         ||           आज का दिन :         ||           मुरली विजय का शतक, पुजारा ने भी जड़ा अर्धशतक, चायकाल तक भारत ने बनाये 185/1 रन         ||           सीजेआई मिश्रा ने कहा नागरिकों के मूलभूत अधिकारों के लिए खड़े होना न्यायपालिका का नैतिक दायित्व         ||           प्रधानमंत्री मोदी की कुपोषण से निपटने के लिए उच्चस्तरीय बैठक         ||           सोनिया गाँधी ने मिस्र में हुए आतंकवादी हमले की निंदा की         ||           रानी मुखर्जी ने कहा आदित्य से फिल्मों को लेकर बातचीत नहीं होती         ||           मिस्त्र मस्जिद आतंकी हमले पर संयुक्त राष्ट्र सहित दुनिया भर मे रोष, 135 नमाजी मारे गये,109 घायल         ||           राष्ट्रीय शिविर के लिए 33 सदस्यीय महिला हॉकी टीम की घोषणा         ||           राष्ट्रपति कोविंद ने कहा गरीबों को निशुल्क सेवाएं मुहैया कराए कानूनी बिरादरी         ||           मुरली विजय ने जड़ा अर्धशतक, भोजनकाल तक भारत ने बनाये 97/1 रन         ||           ट्विटर ने 45 संदिग्ध खाते बंद किए         ||           भारत और फिनलैंड ने द्विपक्षीय संबंधों की समीक्षा की         ||           उप्र में तेज धूप और कोहरे से राहत         ||           निर्देशक ने कहा 'कड़वी हवा' के प्रति सकारात्मक शब्द दर्शकों को सिनेमाघर लाएंगे         ||           ठाणे इमारत हादसे में मृतकों की संख्या बढ़कर 4 हुई         ||           राजधानी दिल्ली में सुबह कोहरा छाया         ||           डोनाल्ड ट्रंप ने कहा आतंकवादियों से सैन्य कार्रवाई से निपटने की जरूरत         ||           मिस्र के राष्ट्रपति ने कहा मस्जिद हमले का बदला लिया जाएगा         ||           मिस्र के हवाई हमलों में मस्जिद के हमलावर भी ढेर         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> काम के घंटे लंबे होने से दिल के दौरे का खतरा

काम के घंटे लंबे होने से दिल के दौरे का खतरा


admin ,Vniindia.com | Saturday July 15, 2017, 09:28:00 | Visits: 154







खास बातें


1 दिल की धड़कन काम के घंटे लंबे होने से अनियमित होने का जोखिम हो सकता है 2 इस अवस्था को आट्रियल फाइब्रलेशन कहते हैं 3 इस शोध का प्रकाशन 'यूरोपियन हार्ट जनरल' में किया गया है

लंदन, 15 जुलाई (वीएनआई)। दिल की धड़कन काम के घंटे लंबे होने से अनियमित होने का जोखिम हो सकता है। इस अवस्था को आट्रियल फाइब्रलेशन कहते हैं। यह स्ट्रोक व हार्ट फेल्योर को बढ़ाने का काम करता है। शोध में पता चला है कि ऐसे लोग जो सप्ताह में 35 से 40 घंटे काम करते हैं, उनकी तुलना में 55 घंटे काम करने वालों में आट्रियल फाइब्रलेशन के होने की संभावना करीब 40 फीसदी होती है।



यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन के प्रोफेसर मिका किविमाकी ने कहा, उन लोगों में अतिरिक्त 40 फीसदी जोखिम बढ़ना एक गंभीर खतरा है, जिन्हें पहले ही दूसरे कारकों जैसे ज्यादा उम्र, पुरुष, मधुमेह, उच्च रक्त चाप, उच्च कोलेस्ट्रॉल, मोटापा धूम्रपान व शारीरिक गतिविधि नहीं करने से दिल के रोगों का ज्यादा खतरा है या जो पहले ही दिल के रोगों से पीड़ित हैं। किविमाकी ने कहा, यह उन प्रक्रियाओं में से एक हो सकता है जिसे पहले के अध्ययनों में लंबे समय तक काम करने वालों में स्ट्रोक के खतरे की संभावना बताई गई है। आट्रियल फाइब्रलेशन स्ट्रोक के विकास व स्वास्थ्य पर दूसरे प्रतिकूल असर डालता है। इसमें हार्ट फेल्योर व स्ट्रोक से जुड़े डेमेंशिया शामिल हैं। इस शोध का प्रकाशन 'यूरोपियन हार्ट जनरल' में किया गया है।



Latest News




कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें