Breaking News
आज का दिन:         ||           महाराष्ट्र कांग्रेस के प्रभारी बने मल्किार्जुन खड़गे         ||           गडकरी ने कहा चाबाहार बंदरगाह 2019 तक पूरा करने को प्रयासरत         ||           भाजपा ने आजाद के खिलाफ कार्रवाई की मांग की         ||           जोकोविक क्वींस क्लब के क्वार्टर फाइनल में         ||           प्रधानमंत्री मोदी ने वाणिज्य भवन की आधारशिला रखी         ||           राकेश सिंह ने कहा भाजपा के कई विधायकों के टिकट कटेंगे         ||           गोवा खनन संकट पर प्रधानमंत्री मोदी से पर्रिकर करेंगे मुलाकात         ||           रोजर फेडरर हाले टेनिस ओपन के क्वार्टर फाइनल में         ||           मेलानिया ट्रंप की जैकेट को लेकर विवाद         ||           आस्ट्रेलिया फिंच, मार्श के शतक के बावजूद चौथा वनडे हारी         ||           परिणीती के साथ काम से ब्रेक लेना चाहते हैं अर्जुन         ||           ट्रक चालकों ने हड़ताल वापस ली         ||           जापान में ज्वालामुखी विस्फोट         ||           जम्मू एवं कश्मीर मुठभेड़ में आईएस के तीन आतंकवादी ढेर         ||           जदयू ने कहा तेजस्वी 'लंपटीकरण' का 'टैग' हटाने के लिए कार्रवाई की हिम्मत दिखाएं         ||           फिल्म 'लव सोनिया' का फर्स्ट लुक जारी         ||           व्हाइट हाउस ने सरकार में सुधार के लिए योजना पेश की         ||           आइसलैंड फीफा विश्व कप में दूसरे मैच में नाइजीरिया से भिड़ेगा         ||           ब्राजील और कोस्टा रिका फीफा विश्व कप में आज होंगे आमने-सामने         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> जावेद अख्तर ने कहा 'पद्मावती' की कहानी सलीम अनारकली जितनी नकली

जावेद अख्तर ने कहा 'पद्मावती' की कहानी सलीम अनारकली जितनी नकली


admin ,Vniindia.com | Saturday November 11, 2017, 03:33:57 | Visits: 91







नई दिल्ली, 11 नवंबर (वीएनआई)| जाने माने गीतकार और शायर जावेद अख्तर 'पद्मावती' की कहानी को ऐतिहासिक नहीं मानते। उन्होंने कहा कि इसकी कहानी उतनी ही नकली है, जितनी सलीम अनारकली की। इसका इतिहास में कहीं भी उल्लेख नहीं है। उन्होंने सलाह दी है कि अगर लोगों को वाकई इतिहास में अधिक रुचि ही है, तो इन फिल्मों की बजाए गंभीर किताबों से समझाना चाहिए।



जावेद साहब ने साहित्य 'आज तक' के लंबे सेशन में ये बातें कहीं। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, मैं इतिहासकार तो हूं नहीं, मैं तो जो मान्य इतिहासकार हैं उनको पढ़कर आपको ये बात बता सकता हूं। एक टीवी डिबेट का हवाला देते हुए जावेद अखतर ने कहा, "टीवी पर इतिहास के एक प्रोफेसर को सुन रहा था। वो बता रहे थे कि 'पद्मावती' की रचना और अलाउद्दीन खिलजी के समय में काफी फर्फ था। जायसी ने जिस वक्त इसे लिखा और खिलजी के शासनकाल में करीब 200 से 250 साल का फर्क था। इतने साल में जब तक कि जायसी ने पद्मावती नहीं लिखी, कहीं रानी पद्मावती का जिक्र ही नहीं है।"



जावेद अख्तर ने कहा, उस दौर (अलाउद्दीन के) में इतिहास बहुत लिखा गया। उस जमाने के सारे रिकॉर्ड भी मौजूद हैं, लेकिन कहीं पद्मावती का नाम नहीं है। अब मिसाल के तौर पर जोधा-अकबर पिक्च र बन गई। जोधाबाई 'मुगल-ए-आजम' में भी थीं। तथ्य है कि जोधाबाई, अकबर की पत्नी नहीं थी, अब वो किस्सा महशूर हो गया। मगर हकीकत में अकबर की पत्नी का नाम जोधाबाई नहीं था, कहानियां बन जाती हैं उसमें क्या है।' नई पीढ़ी को इतिहास की सलाह देते हुए जावेद साहब ने कहा, "फिल्मों को इतिहास मत समझिए और इतिहास को भी फिल्म से मत समझिए। हां, आप गौर से फिल्में देखिए और आनंद लिजिए, इतिहास में रुचि है, तो गंभीरता से इतिहास पढ़िए, तमाम इतिहासकार हैं उन्हें आप पढ़ सकते हैं।"



Latest News



Latest Videos



कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें