Breaking News
शहनाज हुसैन ने बताये होली में कैसे हानिकारक रंगों से बाल, त्वचा को बचाएं         ||           शेयर बाजार : आगामी सप्ताह में आर्थिक आंकड़ें तय करेंगे बाजार की चाल         ||           सीरियाई संघर्षविराम का प्रस्ताव संयुक्त राष्ट्र में पारित         ||           मोगादिशू विस्फोट में मरने वालो की संख्या बढ़कर 32 हुई         ||           मेक्सिको के राष्ट्रपति ने अमेरिकी दौरा रद्द किया         ||           अभिनेत्री श्रीदेवी का दिल का दौरा पड़ने से निधन         ||           रोमांचक मुक़ाबले में भारत ने दक्षिण अफ्रीका को 7 रन से हराकर सीरीज 2-1 से जीती         ||           धवन-रैना की पारी की बदौलत भारत ने दक्षिण अफ्रीका को दिया 173 का लक्ष्य         ||           राहुल गाँधी ने कहा कांग्रेस ने कर्नाटक में स्वच्छ प्रशासन दिया         ||           मायावती ने कहा धन्नासेठों का तुष्टीकरण कर रही मोदी सरकार         ||           प्रधानमंत्री मोदी ने उबर के सीईओ से चर्चा की         ||           राहुल गाँधी का दिल्ली में 390 करोड़ रुपये के घोटाले पर मोदी पर हमला         ||           द. अफ्रीका ने टॉस जीता, पहले गेंदबाजी का फैसला         ||           अमिताभ ने कहा गाने रिकॉर्ड करना अब ज्यादा जटिल हो गया है         ||           कनाडा से रिश्तो पर काली छाया         ||           रूसी सेना को राष्ट्रपति पुतिन ने सम्मानित किया         ||           जेडीयू ने कहा बिहार में 46 नरसंहारों में 378 दलितों की हत्या के लिए माफी मांगें तेजस्वी         ||           मप्र उपचुनाव में कोलारस में 44 और मुंगावली में 47 प्रतिशत मतदान         ||           कांग्रेस ने कहा मोदी दुनिया के सबसे महंगे चौकीदार         ||           केन विलियमसन ने कहा टी-20 के खराब प्रदर्शन का असर वनडे में नहीं दिखेगा         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> जावेद अख्तर ने कहा 'पद्मावती' की कहानी सलीम अनारकली जितनी नकली

जावेद अख्तर ने कहा 'पद्मावती' की कहानी सलीम अनारकली जितनी नकली


admin ,Vniindia.com | Saturday November 11, 2017, 03:33:57 | Visits: 50







नई दिल्ली, 11 नवंबर (वीएनआई)| जाने माने गीतकार और शायर जावेद अख्तर 'पद्मावती' की कहानी को ऐतिहासिक नहीं मानते। उन्होंने कहा कि इसकी कहानी उतनी ही नकली है, जितनी सलीम अनारकली की। इसका इतिहास में कहीं भी उल्लेख नहीं है। उन्होंने सलाह दी है कि अगर लोगों को वाकई इतिहास में अधिक रुचि ही है, तो इन फिल्मों की बजाए गंभीर किताबों से समझाना चाहिए।



जावेद साहब ने साहित्य 'आज तक' के लंबे सेशन में ये बातें कहीं। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, मैं इतिहासकार तो हूं नहीं, मैं तो जो मान्य इतिहासकार हैं उनको पढ़कर आपको ये बात बता सकता हूं। एक टीवी डिबेट का हवाला देते हुए जावेद अखतर ने कहा, "टीवी पर इतिहास के एक प्रोफेसर को सुन रहा था। वो बता रहे थे कि 'पद्मावती' की रचना और अलाउद्दीन खिलजी के समय में काफी फर्फ था। जायसी ने जिस वक्त इसे लिखा और खिलजी के शासनकाल में करीब 200 से 250 साल का फर्क था। इतने साल में जब तक कि जायसी ने पद्मावती नहीं लिखी, कहीं रानी पद्मावती का जिक्र ही नहीं है।"



जावेद अख्तर ने कहा, उस दौर (अलाउद्दीन के) में इतिहास बहुत लिखा गया। उस जमाने के सारे रिकॉर्ड भी मौजूद हैं, लेकिन कहीं पद्मावती का नाम नहीं है। अब मिसाल के तौर पर जोधा-अकबर पिक्च र बन गई। जोधाबाई 'मुगल-ए-आजम' में भी थीं। तथ्य है कि जोधाबाई, अकबर की पत्नी नहीं थी, अब वो किस्सा महशूर हो गया। मगर हकीकत में अकबर की पत्नी का नाम जोधाबाई नहीं था, कहानियां बन जाती हैं उसमें क्या है।' नई पीढ़ी को इतिहास की सलाह देते हुए जावेद साहब ने कहा, "फिल्मों को इतिहास मत समझिए और इतिहास को भी फिल्म से मत समझिए। हां, आप गौर से फिल्में देखिए और आनंद लिजिए, इतिहास में रुचि है, तो गंभीरता से इतिहास पढ़िए, तमाम इतिहासकार हैं उन्हें आप पढ़ सकते हैं।"



Latest News



Latest Videos



कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें