Breaking News
मुबंई इंडियंस ने जहीर खान को डॉयरेक्टर नियुक्त किया         ||           प्रधानमंत्री मोदी ने कहा चार साल पहले किसने सोचा था कांग्रेस नेताओ को सजा होगी         ||           अरुण जेटली ने कहा सरकार ने उर्ज‍ित पटेल से नहीं मांगा इस्‍तीफा         ||           कमलनाथ ने कहा पंचायत के काम के लिए कोई मंत्रालय के चक्कर लगाए, ये बर्दाश्त नहीं         ||           सज्जन कुमार ने राहुल गांधी को पत्र लिख कांग्रेस से दिया इस्तीफा         ||           अमित शाह ने कहा 1984 दंगों में कांग्रेस नेताओं ने किया महिलाओं से बलात्कार         ||           अमेरिका ने कहा सीरिया में रह सकते हैं असद         ||           यूपी विधानसभा का आज से शीतकालीन सत्र         ||           ऑस्ट्रेलिया ने भारत को दूसरे टेस्ट में 146 रन से हराकर सीरीज में बराबरी की         ||           राजधानी दिल्ली पर सर्दी का सितम, उत्तर भारत में अलर्ट जारी         ||           उमर अब्दुल्ला ने कहा इस हाल में मनोहर पर्रिकर से काम कराना अमानवीय         ||           कमलनाथ ने किसानों की कर्जमाफी से जुड़ी फाइल पर किया हस्ताक्षर         ||           कमलनाथ ने मध्‍य प्रदेश के मुख्यमंत्री के तौर पर ली शपथ         ||           मालदीव के राष्‍ट्रपति पहली विदेश यात्रा पर भारत पहुंचे         ||           लोकसभा में विपक्ष के हंगामा बीच तीन तलाक बिल पेश         ||           कांग्रेस ने कहा कमलनाथ दोषी तो मोदी भी दोषी         ||           जेटली ने कहा सिख दंगो में कांग्रेस के पाप छुप नहीं सकते         ||           पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़े         ||           राजस्थान में अशोक गहलोत ने मुख्यमंत्री और सचिन पायलट ने उप मुख्यमंत्री पद की शपथ ली         ||           कांग्रेस नेता सज्जन कुमार को सिख विरोधी दंगों में उम्रकैद         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> करियर से संतुष्ट होना आत्महत्या जैसा : इरफान खान

करियर से संतुष्ट होना आत्महत्या जैसा : इरफान खान


admin ,Vniindia.com | Saturday November 11, 2017, 09:49:52 | Visits: 140







नई दिल्ली, 11 नवंबर | लीक से हटकर फिल्में करने के लिए मशहूर इरफान खान लगभग 30 वर्षो के करियर के बाद भी अपने करियर से संतुष्ट नहीं हैं। वह कहते हैं कि जिस दिन मैं अपने करियर से संतुष्ट हो गया, वो दिन मेरे लिए आत्महत्या जैसा होगा। इरफान हर फिल्म के साथ दर्शकों को कुछ नया देने की कोशिश करते हैं। इसी कड़ी में उनकी नई फिल्म 'करीब करीब सिंगल' में उनकी रोमांटिक साइड खूब भा रही है। 



इरफान ने एक साक्षात्कार में अपने इस रोमांटिक अंदाज में बारे में बताया। उन्होंने कहा, मैं इमेज में बंधकर नहीं रहना चाहता, जिस दिन लोगों ने मुझे इमेज में बांधना शुरू कर दिया, उस दिन ही मेरे लिए खतरा शुरू हो जाएगा। इसलिए कोशिश होती है कि मैं हर दूसरी फिल्म में अपनी पुरानी इमेज तोड़ दूं। 'करीब करीब सिंगल' सीधे यूथ को टारगेट करती फिल्म है। आज का युवा प्यार ढूंढते-ढूंढते ऑनलाइन पहुंच गया है और यही फिल्म में भी दिखाया गया है। इरफान ऑनलाइन डेटिंग एप के बारे में बताते हैं, "आज के युवाओं के पास कई विकल्प हैं। ऑनलाइन ही कई तरह की वेबसाइट और एप हैं। डेटिंग और वेडिंग एप से बहुत मदद मिल रही है, लोगों की ऑनलाइन शादियां भी हो रही हैं। हमारी फिल्म की कहानी इसी लव ट्रेंड को बयां करती है।"



राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार विजेता इरफान के लिए इनाम कुछ खास मायने नहीं रखते। वह इनाम की तुलना में दर्शकों की संतुष्टि को तरजीह देते हैं। इरफान कहते हैं, "इनाम से कुछ ज्यादा फर्क नहीं पड़ता। अधिक महत्वपूर्ण है कि जो कहानियां हम कहना चाहते हैं, वो दर्शकों तक सही तरीके से पहुंचे।"'पान सिंह तोमर' जैसी बायोग्राफी में काम कर चुके इरफान अपने जीवन पर फिल्म बनने को लेकर थोड़ा कश्मकश में हैं। बायोग्राफी के सवाल पर वह कहते हैं, "मैं खुद को इतना महत्व नहीं देता, लेकिन अगर भविष्य में कभी मेरे जीवन पर इस तरह की फिल्म बनती है तो इसमें कुछ बुरा नहीं है, लेकिन फिलहाल मुझे ऐसा होता नहीं दिखता।



इरफान में नीरस और बेदम फिल्म में भी जान फूंकने का हुनर है। वह चाहते हैं कि आज से 30 या 40 साल बाद लोग उन्हें उनके अभिनय की वजह से याद करें। हॉलीवुड में भी अपने काम का डंका बजा चुके इरफान का कहना है, "एक कलाकार के लिए सबसे अधिक मायने यह रखता है कि उसकी कला को पहचान मिले। मैं चाहता हूं कि मुझे लोग मेरे काम की वजह से जानें और इसी कोशिश में ताउम्र काम करता रहूंगा।" इरफान लीक से हटकर फिल्में करना पसंद करते हैं और वह इसकी वजह बताते हुए कहते हैं, "हमारी इंडस्ट्री बहुत तेजी से बदल रही है और इसके साथ ही ऑडियंस का रुझान भी बदला है। दर्शक चुन-चुनकर फिल्में देखने लगा है। आज हालत यह है कि आप करोड़ों रुपयों की फिल्में बनाते हैं और वे पिट जाती हैं, जबकि कई छोटी बजट की फिल्में जबरदस्त कमाई करती हैं। इसलिए हमें सचेत होना पड़ेगा कि हम दर्शकों को क्या परोस रहे हैं।--आईएएनएस



Latest News



Latest Videos



कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें