Breaking News
जेटली ने कहा आंध्र और बंगाल किसी को बचाने के लिए सीबीआई को रोकना चाहते हैं         ||           कांग्रेस ने प्रधानमंत्री मोदी पर किया पलटवार, उनको अपने दादा-दादी के बारे में नहीं पता         ||           उपेंद्र कुशवाहा ने कहा अब केवल प्रधानमंत्री से करेंगे बात         ||           आज का दिन :         ||           ममता बनर्जी ने कहा अमित शाह की रथ यात्रा नहीं 'रावण यात्रा' है         ||           भाजपा ने मध्य प्रदेश चुनाव के लिए जारी किया घोषणा पत्र         ||           पाकिस्तान के कराची में बम विस्फोट से दो लोगों की मौत         ||           प्रधानमंत्री मोदी आज पहली बार मालदीव में सोलेह के शपथ ग्रहण में होंगे शामिल         ||           जम्मू-कश्मीर में पंचायत चुनाव के पहले चरण में आज वोटिंग जारी         ||           संगीतकार रोशन की पुण्य तिथि पर         ||           राजा भैया ने जनसत्ता पार्टी नाम से नए राजनीतिक दल का ऐलान किया         ||           राहुल गांधी ने कहा 10 दिन के अंदर कांग्रेस के मुख्यमंत्री ने कर्ज माफ नहीं किया तो मुख्यमंत्री बदल दूंगा         ||           आज का दिन :         ||           सचिन पायलट ने कहा वसुंधरा राजे एकमात्र नेता जिन्होंने अमित शाह को उनकी जगह दिखाई         ||           सबरीमाला दर्शन करने पहुंचीं तृप्ति देसाई को कोच्चि एयरपोर्ट पर रोका         ||           दिल्ली सचिवालय के अंदर हेड कांस्टेबल ने मारी खुद को गोली         ||           दीपिका-रणवीर एक-दूसरे के हुए, शादी की पहली तस्वीर जारी         ||           आज का दिन : विनोबा भावे         ||           राहुल गांधी ने कहा फ्रांस ने सरकार को सौदे में कोई गारंटी नहीं दी         ||           सेंसेक्स 118 अंक की तेजी पर बंद         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> रूस के मॉस्‍को में तालिबान के साथ शांति वार्ता भारत मंच साझा करेगा

रूस के मॉस्‍को में तालिबान के साथ शांति वार्ता भारत मंच साझा करेगा


admin ,Vniindia.com | Friday November 09, 2018, 11:23:00 | Visits: 20







नई दिल्‍ली, 09 नवंबर, (वीएनआई) रूस की राजधानी मॉस्‍को में आज अफगानिस्तान मुद्दे पर होने वाली बैठक में भारत पहली बार इतिहास में आतंकी संगठन तालिबान के साथ अनाधिकारिक तौर पर वार्ता करेगा। 



विदेश मंत्रालय की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार एक बहुपक्षीय मीटिंग के दौरान भारत इस वार्ता का हिस्‍सा होगा। हालांकि भारत की ओर से यह साफ कर दिया गया है कि यह उसकी हिस्सेदारी 'गैर-अधिकारिक' स्तर पर होगी। सरकार ने इसके साथ ही भारत की स्थिति स्पष्ट करते हुए कहा है कि शांति के सभी प्रयासों का नेतृत्व और नियंत्रण अफगान लोगों के हाथ में होने चाहिए। गौरतलब है कि अफगानिस्‍तान में शांति कायम करने के मकसद से रूस इस वार्ता की मेजबानी कर रहा है। रूस की ओर से कई देशों जैसे अमेरिका, पाकिस्‍तान और चीन के साथ भारत को भी इसका आमंत्रण दिया गया है। वहीं तालिबान भी इस मीटिंग का हिस्‍सा होगा।



भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने जानकारी देते हुए कहा, हमें पता है कि रूसी प्रशासन 9 नवंबर को मॉस्को में एक बैठक की मेजबानी कर रहा है।' उन्होंने कहा भारत ऐसे सभी प्रयासों का समर्थन करता है जिससे अफगानिस्तान में शांति और सुलह के साथ एकता, विविधता, सुरक्षा, स्थायित्व और खुशहाली आए। भारत की यह नीति रही है कि इस तरह के प्रयास अफगान-नेतृत्व, अफगान-मालिकाना हक और अफगान-नियंत्रित होनी चाहिए और इसमें अफगानिस्तान की सरकार की भागीदारी होनी चाहिए। हमारी हिस्सेदारी गैर-अधिकारी स्तर पर होगी। वहीं विदेश मंत्रालय के पूर्व सचिव अमर सिन्हा, अफगानिस्तान में भारत के राजदूत रहे हैं और टीसीए राघवन, पाकिस्तान में भारत के पूर्व उच्चायुक्त के तौर पर कार्यरत रहे हैं। ये दोनों ही इस बैठक में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे। 



Latest News



Latest Videos



कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें