Breaking News
अखिलेश यादव ने कहा योगी सरकार का श्वेत पत्र सफेद झूठ         ||           सेंसेक्स 2 अंक की गिरावट पर बंद         ||           शिवराज सिंह चौहान ने नवरात्रि की शुभकामनाएं दीं         ||           भारतीय बास्केट में कच्चे तेल की कीमत 54.76 डॉलर प्रति बैरल         ||           आम आदमी पार्टी ने कहा ईंधन कीमतों को अंतर्राष्ट्रीय बाजार से जोड़ा जाए         ||           बीसीसीआई ने पद्म भूषण के लिए धौनी के नाम की सिफारिश की         ||           क्रेग ब्राथवेट अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में गेंदबाजी कर सकेंगे         ||           मद्रास उच्च न्यायालय ने कहा अगले आदेश तक कोई बहुमत परीक्षण नहीं         ||           हर्षवर्धन ने कहा अनिल कपूर ने बिंद्रा पर बायोपिक की तैयारी शुरू की         ||           राहुल गाँधी ने कहा मोदी सरकार के खिलाफ जनता में बढ़ रहा है गुस्सा         ||           भारी बारिश से मुंबई में उड़ानें प्रभावित         ||           विश्वकप 2019 में श्रीलंका को वेस्टइंडीज की हार से मिला प्रवेश         ||           जापान बैडमिंटन ओपन में जीते किदांबी, प्रणॉय, समीर         ||           नीतीश कुमार के उद्घाटन करने के पूर्व ही बिहार में टूटा नहर सिंचाई परियोजना बांध         ||           पाकिस्तान सीमा के पास बीएसएफ ने दो तस्कर मार गिराए         ||           पंजाब में पटाखे के गोदाम में विस्फोट, पांच लोगो की मौत         ||           नोएडा में पुलिस के साथ मुठभेड़ में 1 अपराधी ढेर         ||           राजधानी दिल्ली में धूपभरी सुबह, बारिश होने की संभावना         ||           उप्र में आंशिक बदली, बूंदबांदी के आसार         ||           मेक्सिको में तेज भूकंप के झटके, 149 लोगो की मौत         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> भारत डोकलाम विवाद को दफन करने का इच्छुक

भारत डोकलाम विवाद को दफन करने का इच्छुक


admin ,Vniindia.com | Monday September 04, 2017, 10:17:10 | Visits: 38







शिएमेन, 4 सितम्बर (वीएनआई/आईएएनएस)| प्रधानमंत्री मोदी की चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से द्विपक्षीय मुलाकात से पहले मंगलवार को शिएमेन में हो रहे ब्रिक्स सम्मेनल से इतर भारत ने संकेत दिए हैं कि वह विवादित डोकलाम मुद्दे को दफन कर उससे आगे बढ़ना चाहता है। 



डोकलाम विवाद की वजह से भारत और चीन के बीच लगभग दो महीने तक गतिरोध था। सूत्र के मुताबिक, "हम भविष्य में सौहार्दपूर्ण संबंधों के लिए डोकलाम मुद्दे को दफन करना चाहते हैं।"  डोकलाम को लेकर चीन और भारत के बीच दो महीने तक चले सैन्य गतिरोध से द्विपक्षीय संबंध बुरी तरह प्रभावित हुए हैं। हालांकि, इस विवाद को बीते सप्ताह सुलझा लिया गया था और दोनों देशों की सेनाएं इस विवादित क्षेत्र से पीछे हट गई थीं। सूत्र ने बताया कि दोनों देशों के लिए इस मुद्दे से आगे बढ़ना महत्वपूर्ण है।



तीन दिवसीय ब्रिक्स सम्मेलन से इतरह मोदी और शी जिनपिंग की मुलाकात होगी। इस दौरान विभिन्न मुद्दों पर चर्चा हो सकती है। शी जिनपिंग ने रविवार को ब्रिक्स बिजनेस फोरम के उद्घाटन समारोह को संबोधित करते हुए कहा था कि लोग संघर्ष नहीं शांति चाहते हैं अंतर्राष्ट्रीय ज्वलंत मुद्दों को सुलझाना आवश्यक था। बीते सप्ताह चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने कहा था कि चीन इस विवाद को दीर्घकालीन समाधान चाहता है। इसके अलावा भारत ने आतंकवाद को लेकर ब्रिक्स के संयुक्त घोषणापत्र पर जोर दिया। इस पर रविवार रात तक विचार-विमर्श हुआ था। सूत्र ने बताया, हम आतंकवाद पर संयुक्त घोषणापत्र जारी होने की उम्मीद करते हैं। मोदी ब्रिक्स (ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका) के तीन दिवसीय सम्मेलन में शिरकत करने के लिए रविवार को शिएमेन पहुंच गए थे। चीन ने सम्मेलन के लिए विशेष अतिथि देशों के तौर पर मिस्र, केन्या, ताजिकिस्तान, मेक्सिको और थाईलैंड को भी आमंत्रित किया है।



Latest News



Latest Videos



कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें