Breaking News
राहुल गाँधी ने कहा प्रधानमंत्री जब भी विदेश दौरे पर जाएं, नीरव को वापस लेते आएं         ||           आप पार्टी ने कहा हमारे नेताओं, कार्यकर्ताओं से मार-पीट की गई         ||           कोहली ने आईसीसी की टेस्ट और वनडे रैंकिंग में पार किए 900 अंक         ||           विवेक अग्निहोत्री की 'द ताशकंद फाइल्स' की शूटिंग दिल्ली में         ||           दिल्ली के उपराज्यपाल से केंद्र ने रपट मांगी         ||           भारत सेंचुरियन टी-20 में सीरीज जीतने के इरादे से उतरेगा         ||           राजनाथ ने कहा दिल्ली के मुख्य सचिव पर कथित हमले से 'गहरी पीड़ा' हुई         ||           सेंसेक्स 71 अंकों की गिरावट पर बंद         ||           अभिनेता श्याम के जन्मदिन पर         ||           मोरक्को के साथ रेल सहयोग समझौते को केंद्रीय मंत्रिमंडल की मंजूरी         ||           आज का दिन :         ||           राशिद की बदौलत अफगानिस्तान ने 4-1 से जीती सीरीज         ||           अग्नि 2 मिसाइल का भारत ने परीक्षण किया         ||           सीबीआई की पीएनबी घोटाले में पूछताछ जारी         ||           जम्मू एवं कश्मीर में हल्के भूकंप के झटके         ||           तेजस्वी ने नीतीश की जापान यात्रा पर कसा तंज         ||           आप और भाजपा में दिल्ली के मुख्य सचिव के साथ 'बदसलूकी' पर तकरार         ||           प्रधानमंत्री मोदी ने अरुणाचल, मिजोरम को स्थापना दिवस की बधाई दी         ||           भारतीय हॉकी टीम की सुल्तान अजलान शाह कप के लिए घोषणा         ||           ऋचा चड्ढा ने कहा मैं फिल्म की क्षमता के आधार पर ही हामी भरती हूं         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> भारत डोकलाम विवाद को दफन करने का इच्छुक

भारत डोकलाम विवाद को दफन करने का इच्छुक


admin ,Vniindia.com | Monday September 04, 2017, 10:17:10 | Visits: 145







शिएमेन, 4 सितम्बर (वीएनआई/आईएएनएस)| प्रधानमंत्री मोदी की चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से द्विपक्षीय मुलाकात से पहले मंगलवार को शिएमेन में हो रहे ब्रिक्स सम्मेनल से इतर भारत ने संकेत दिए हैं कि वह विवादित डोकलाम मुद्दे को दफन कर उससे आगे बढ़ना चाहता है। 



डोकलाम विवाद की वजह से भारत और चीन के बीच लगभग दो महीने तक गतिरोध था। सूत्र के मुताबिक, "हम भविष्य में सौहार्दपूर्ण संबंधों के लिए डोकलाम मुद्दे को दफन करना चाहते हैं।"  डोकलाम को लेकर चीन और भारत के बीच दो महीने तक चले सैन्य गतिरोध से द्विपक्षीय संबंध बुरी तरह प्रभावित हुए हैं। हालांकि, इस विवाद को बीते सप्ताह सुलझा लिया गया था और दोनों देशों की सेनाएं इस विवादित क्षेत्र से पीछे हट गई थीं। सूत्र ने बताया कि दोनों देशों के लिए इस मुद्दे से आगे बढ़ना महत्वपूर्ण है।



तीन दिवसीय ब्रिक्स सम्मेलन से इतरह मोदी और शी जिनपिंग की मुलाकात होगी। इस दौरान विभिन्न मुद्दों पर चर्चा हो सकती है। शी जिनपिंग ने रविवार को ब्रिक्स बिजनेस फोरम के उद्घाटन समारोह को संबोधित करते हुए कहा था कि लोग संघर्ष नहीं शांति चाहते हैं अंतर्राष्ट्रीय ज्वलंत मुद्दों को सुलझाना आवश्यक था। बीते सप्ताह चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने कहा था कि चीन इस विवाद को दीर्घकालीन समाधान चाहता है। इसके अलावा भारत ने आतंकवाद को लेकर ब्रिक्स के संयुक्त घोषणापत्र पर जोर दिया। इस पर रविवार रात तक विचार-विमर्श हुआ था। सूत्र ने बताया, हम आतंकवाद पर संयुक्त घोषणापत्र जारी होने की उम्मीद करते हैं। मोदी ब्रिक्स (ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका) के तीन दिवसीय सम्मेलन में शिरकत करने के लिए रविवार को शिएमेन पहुंच गए थे। चीन ने सम्मेलन के लिए विशेष अतिथि देशों के तौर पर मिस्र, केन्या, ताजिकिस्तान, मेक्सिको और थाईलैंड को भी आमंत्रित किया है।



Latest News



Latest Videos



कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें