Breaking News
लीबिया में अगवा डॉक्टर की रिहाई की डब्ल्यूएचओ ने अपील की         ||           दलवीर भंडारी दूसरी बार आईसीजे न्यायाधीश बने         ||           रहमान ने कहा मैं और मजीदी दोनों विशिष्ट वर्ग के         ||           बिहार भाजपा अध्यक्ष ने अपने विवादित बयान पर दी सफाई         ||           प्रधानमंत्री मोदी ने आईसीजे में भंडारी के दोबारा चुने जाने को सराहा         ||           श्रीनगर में सबसे ठंडी रात, लेह में तापमान शून्य से 10.2 डिग्री नीचे         ||           लुधियाना कारखाना हादसे में मरने वालो की संख्या बढ़कर 10         ||           कमल हासन ने कहा दीपिका की स्वतंत्रता का सम्मान किया जाए         ||           तेल की कीमतों में ओपेक की बैठक से पहले गिरावट         ||           राजधानी दिल्ली में सुबह रहा हल्का कोहरा         ||           जिम्बाब्वे के राष्ट्रपति मुगाबे के खिलाफ महाभियोग की प्रक्रिया शुरू होगी         ||           शेयर बाजारों के शुरुआती कारोबार में तेजी का असर         ||           जेटली ने कहा संसद का शीतकालीन सत्र बुलाने में पहले भी देर हुई थी         ||           वीवो वी7 18990 की कीमत में लांच         ||           विराट कोहली ने लगाया अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट शतकों का अर्धशतक         ||           प्रधानमंत्री मोदी ने दासमुंशी के निधन पर शोक जताया         ||           फरहान अख्तर ने कहा संगीत की भाषा सार्वभौमिक         ||           सेंसेक्स 17 अंकों की तेजी पर बंद         ||           ममता ने कहा 'पद्मावती' विवाद दुर्भाग्यपूर्ण         ||           आखिरी दिन भारत ने दिखाया दम, पहला टेस्ट ड्रा         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> आहार से लें कैल्शियम न कि सप्लीमेंट से : आईएमए

आहार से लें कैल्शियम न कि सप्लीमेंट से : आईएमए


admin ,Vniindia.com | Monday July 17, 2017, 09:34:00 | Visits: 155







खास बातें


1 महिलाओं में कैल्शियम की कमी एक आम समस्या बनती जा रही है 2 हर दिन कैल्शियम से समृद्ध आहार लेना चाहिए 3 पत्तेदार साग-सब्जियों का अधिक सेवन करें

नई दिल्ली, 17 जुलाई (वीएनआई/आईएएनएस)। महिलाओं में कैल्शियम की कमी भारत के ग्रामीण व शहरी दोनों ही क्षेत्रों की एक आम समस्या बनती जा रही है। यह खानपान की बदलती आदतों के कारण हो रहा है। विशेष रूप से शहरी महिलाओं में पिछले कुछ दशकों में भोजन संबंधी आदतों में बड़ा बदलाव आया है। एक ताजा अध्ययन में इसका खुलासा हुआ है।



इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) के मुताबिक, लोग प्रसंस्कृत और पैक किए हुए खाद्य पदार्थो पर तेजी से निर्भर होते जा रहे हैं, जिस कारण शरीर को संपूर्ण आहार नहीं मिल पा रहा है। सलाह दी गई है कि कैल्शियम की मात्रा आहार से लेनी चाहिए न कि सप्लीमेंट से। आंकड़ों के मुताबिक, 14 से 17 साल आयु वर्ग की लगभग 20 प्रतिशत किशोरियों में कैल्शियम की कमी पाई गई है। हमारी हड्डियों का 70 प्रतिशत हिस्सा कैल्शियम फॉस्फेट से बना होता है। यही कारण है कि कैल्शियम हमारी हड्डियों की अच्छी सेहत के लिए सबसे महत्वपूर्ण पोषक तत्व होता है। महिलाओं को पुरुषों की तुलना में अधिक कैल्शियम की आवश्यकता होती है क्योंकि वे उम्र के साथ हड्डियों की समस्याओं से अधिक जूझती हैं।



आईएमए के अध्यक्ष पद्मश्री डॉ. के.के. अग्रवाल कहा, "कैल्शियम के अच्छे से अवशोषण के लिए हमारे शरीर को विटामिन डी की आवश्यकता होती है। विटामिन डी की कमी वाले लोगों में, कैल्शियम की कमी की संभावना अधिक होती है, भले ही वे कैल्शियम का भरपूर सेवन कर रहे हों। इसका कारण यह है कि शरीर आपके भोजन से कैल्शियम को अवशोषित करने में असमर्थ है। उन्होंने कहा कि विटामिन-डी रक्त में कैल्शियम की मात्रा को नियंत्रित करने के लिए जिम्मेदार है। विटामिन-डी का पर्याप्त सेवन कैल्शियम अवशोषण को बेहतर बनाने के साथ-साथ, हड्डियों की क्षति कम करता है। फ्रैक्चर का खतरा कम करता है और ऑस्टियोपोरोसिस रोग होने से रोकता है। कैल्शियम की कमी से कई समस्याएं हो सकती हैं, जैसे रक्त के थक्के बनना, रक्तचाप और हृदय की धड़कन बढ़ना, बच्चों में धीमा विकास, और कमजोरी व थकान। वृद्ध महिलाओं की तुलना में युवतियों को कैल्शियम की ज्यादा जरूरत होती है। कैल्शियम की बात करें तो, 9 से 18 साल आयु वर्ग की लड़कियों को 1300 मिलीग्राम कैल्शियम की जरूरत होती है, जबकि 19 से 50 साल की महिलाओं को 1000 मिलीग्राम कैल्शियम की जरूरत होती है। पचास वर्ष से अधिक उम्र की महिलाओं को 1200 मिलीग्राम की जरूरत होती है।



डॉ. अग्रवाल ने बताया, "कई लोग डॉक्टर से सलाह के बिना कभी भी कैल्शियम की खुराक लेने लगते हैं। अगर बताई गई मात्रा में ली जाए तो यह अतिरिक्त कैल्शियम हृदय की सेहत के लिए ठीक है। हालांकि, आहार से मिलने वाले कैल्शियम पर अधिक जोर दिया जाना चाहिए।"

कैल्शियम की मात्रा बढ़ाने के टिप्स :



* हर दिन कैल्शियम से समृद्ध आहार लेना चाहिए।



* अपने शरीर का भार बढ़ाये बिना कैल्शियम की मात्रा सही रखने के लिए वसा-रहित दूध पीना चाहिए।



* अन्य डेयरी उत्पादों में भी कैल्शियम होता है, जैसे कि दही और पनीर, लेकिन कम वसा वाली चीजों का ही चयन करें।



* पत्तेदार साग-सब्जियों का अधिक सेवन करें।



Latest News




कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें