Breaking News
वार्नर ने कहा स्टोक्स ने कई लोगों की उम्मीदों को तोड़ा है         ||           अनंत कुमार ने कहा संसद के शीतकालीन सत्र की घोषणा जल्द         ||           विराट कोहली टेस्ट रैंकिंग में पांचवें स्थान पर पहुंचे         ||           राष्ट्रपति कोविंद हड़ताल के बीच मणिपुर पहुंचे         ||           सेंसेक्स 118 अंकों की तेजी पर बंद         ||           प्रियरंजन दासमुंशी के निधन पर विजय मल्होत्रा ने शोक जताया         ||           योगी आदित्यनाथ ने कहा राहुल गांधी वंशवाद की परम्परा को ही आगे बढ़ाएंगे         ||           कांग्रेस ने कहा गुजरात चुनाव के कारण संसद से बच रही है सरकार         ||           आज का दिन:         ||           छिल्लर की जीत पर शिवसेना ने भाजपा पर तंज कसे         ||           ममता ने कहा आधार संख्या जोड़ना समस्याओं से भरा         ||           भारतीय बास्केट में कच्चे तेल की कीमत 60.86 डॉलर प्रति बैरल         ||           माजिद मजीदी ने कहा अपने देश से ज्यादा भारत में मशहूर हूं         ||           पुतिन ने सीरिया युद्ध पर चर्चा के लिए असद से मुलाकात की         ||           इटली फुटबाल संघ के अध्यक्ष का इस्तीफा         ||           नौसेना का आरपीए विमान दुर्घटनाग्रस्त         ||           राजद अध्यक्ष के रूप में लालू की 10वीं बार ताजपोशी         ||           जद (यू) गुजरात में 50 से ज्यादा सीटों पर लड़ेगी चुनाव         ||           आसियान के साथ चीन सहयोग बढ़ाने के लिए तैयार         ||           लीबिया में अगवा डॉक्टर की रिहाई की डब्ल्यूएचओ ने अपील की         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> आईएईए ने कहा परमाणु समझौते का अनुपालन कर रहा है ईरान

आईएईए ने कहा परमाणु समझौते का अनुपालन कर रहा है ईरान


admin ,Vniindia.com | Tuesday November 14, 2017, 01:20:46 | Visits: 38







वियना, 14 नवंबर (वीएनआई)| अंतर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि ईरान ने छह प्रमुख शक्तिशाली देशों के साथ 2015 में किए गए परमाणु समझौते के प्रावधानों का अनुपालन करना जारी रखा है। 



समाचार एजेंसी ने आईएईए के हवाले से बताया कि ईरान ने समझौते के तहत समृद्ध यूरेनियम की अपनी सूची में शुद्धता और मात्रा की सीमा को बनाए रखा है, जो यह सुनिश्चित करता है कि वह (ईरान) कम समय में परमाणु हथियार नहीं विकसित कर सकता। आईएईए के निरीक्षकों के अनुसार, इसके अलावा हैवी वाटर का ईरानी भंडार, जिसमें से रेडियोधर्मी तत्व प्लूटोनियम को निकाला जा सकता है, अधिकतम सीमा के अधीन है। एक महीना पहले, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान के साथ हुए परमाणु समझौते को लेकर धमकी दी थी कि अगर इस समझौते की कुछ 'कमियां' दूर नहीं हुईं तो अमेरिका समझौते से अलग हो सकता है।



आईएईए ने अपनी रिपोर्ट में इस बात की पुष्टि की है कि उसके निरीक्षकों को ईरान में सभी आवश्यक सुविधाओं तक पहुंच मिल रही है और ईरान के परमाणु केंद्र इलेक्ट्रिॉनिक निगरानी जैसे समझौते के मुताबिक कार्यान्वित हो रहे हैं। जनवरी 2016 में हुए परमाणु समझौते के मुताबिक, इस्लामिक गणराज्य को 10 से 25 साल की अवधि तक कई विभिन्न परमाणु गतिविधियों को सीमित रखना होगा। इसके बदले में अमेरिका, रूस, चीन, फ्रांस, ब्रिटेन और जर्मनी ने ईरान पर लगे व्यापारिक, कूटनीतिक और परमाणु प्रतिबंधों को हटाने पर सहमति जताई थी। ट्रंप द्वारा इसे खराब समझौता कहकर दबाव बनाए जाने पर आईएईए के निदेशक जनरल युकिया अमानो ने पिछले हफ्ते संयुक्त राष्ट्र में अमेरिकी राजदूत निक्की हेली से मुलाकात करने के लिए अमेरिका की यात्रा की। अमानो ने इस समझौते को दुनिया में सबसे 'मजबूत परमाणु सत्यापन व्यवस्था' बताते हुए इस बात पर जोर दिया कि आईएईए निरीक्षकों को ईरान द्वारा समझौते का अनुपालन किए जाने के संबंध में निगरानी करने के लिए सभी सुविधा मिल रही है।



Latest News



Latest Videos



कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें