Breaking News
लापरवाही से गाड़ी चलाने के आरोप में रहाणे के पिता हिरासत में         ||           लालू ने आरोप लगाया, जद (यू) ने आत्मचिंतन की दी सलाह         ||           कांग्रेस ने कहा सोनिया ने राजनीति नहीं छोड़ी है         ||           प्रियंका और कैटरीना पुरस्कार समारोह में प्रस्तुति देंगी         ||           उत्तर कोरिया पर जापान ने नए एकतरफा प्रतिबंध लगाए         ||           सेंसेक्स में 216 अंकों की तेजी पर बंद         ||           रूस में राष्ट्रपति चुनाव अगले साल 18 मार्च को         ||           अफरीदी ने टी-10 मैच में ली हैट्रिक         ||           भूमि पेडनेकर ने कहा मुझे मेकअप पसंद है         ||           कश्मीर में अलगाववादी नेता मीरवाइज हिरासत में लिए गए         ||           आस्ट्रेलिया एशेज सीरीज में खराब शुरुआत के बाद संभला         ||           तेजस्वी ने कहा एग्जिट पोल पर खुश होने वाले बिहार चुनाव परिणाम को याद करें         ||           आज का दिन:         ||           तीन तलाक पर विधेयक को मंत्रिमंडल की मंजूरी         ||           'न्यूटन' ऑस्कर की दौड़ से हुई बाहर         ||           सोनिया गाँधी ने कहा अब मेरी भूमिका रिटायर होने की         ||           करीना ने कहा सोहा सशक्त महिला हैं         ||           राजस्थान रॉयल्स का आईपीएल टीमों ने स्वागत किया         ||           सर्वोच्च न्यायालय ने आधार को लिंक करने की समय सीमा बढ़ाई         ||           प्रधानमंत्री मोदी ने सरदार पटेल को उनकी पुण्यतिथि पर याद किया         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> भारतीय फिल्मकार वी. शातांराम के सम्मान में गूगल ने बनाया डूडल

भारतीय फिल्मकार वी. शातांराम के सम्मान में गूगल ने बनाया डूडल


admin ,Vniindia.com | Saturday November 18, 2017, 01:36:00 | Visits: 99







मुंबई, 18 नवंबर (वीएनआई)| दुनिया के सबसे बड़े सर्च इंजन गूगल ने आज प्रसिद्ध फिल्मकार, अभिनेता और लेखक शांताराम राजाराम वानकुद्रे की 116वीं जयंती के मौके पर उनके सम्मान में एक डूडल बनाया। 



शांताराम को वी. शांताराम व अन्नासाहेब के नाम से जाना जाता रहा है। रंग-बिरंगे डूडल में शांताराम को विचारशील मुद्रा में चित्रित किया गया है और उनके पास गुजरे जमाने में फिल्मों में इस्तेमाल होने वाला कैमरा, उनकी एक मराठी फिल्म व दो अन्य ब्लॉकबस्टर फिल्मों 'दो आंखे बारह हाथ' और 'झनक झनक पायल बाजे' के चित्रों की मदद से 'गूगल' शब्द बनाया गया है।  शांताराम का जन्म 18 नवंबर, 1901 को महाराष्ट्र के कोल्हापुर में एक मराठी जैन परिवार में हुआ था। उन्होंने भारतीय सिनेमा की शुरुआत करने वाले महान फिल्मकार धुंडिराज गोविंद फालके ऊर्फ दादासाहेब फालके द्वारा अपनी पहली फीचर फिल्म 'राजा हरिश्चंद्र' (1913) के जरिए भारतीय सिनेमा का इतिहास रचने के बमुश्किल सात साल बाद 20 साल की उम्र में एक मूक फिल्म से अभिनय शुरू किया था। 



इसके बाद बहुमुखी प्रतिभा से संपन्न शंताराम ने न केवल अभिनय जारी रखा बल्कि फिल्म निर्माण भी किया और अभिनय के साथ ही निर्माण-निर्देशन व पहले मराठी और बाद में हिंदी फिल्मों की पटकथा लेखन में अपनी छाप छोड़ी। शांताराम ने अपने फिल्मी करियर में वैश्विक रूप से प्रसिद्ध 'दो आंखें बाराह हाथ' (1957) के अलावा 'सुरेखा हरण' (1921), 'सिंहगढ़' (1923), 'स्त्री' (1961) और 'डॉ. कोटिनिस की अमर कहानी' (1946) समेत कई फिल्मों में अभिनय किया। शांताराम को दादा साहेब फाल्के (1985) और 1902 में मरणोपरांत देश के दूसरे सर्वोच्च सम्मान पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया। इनका निधन 30 अक्टूबर 1990 को 88 वर्ष का आयु में मुंबई में हुआ।



Latest News



Latest Videos



कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें