Breaking News
आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में विराट कोहली शीर्ष पर बरकरार, पृथ्वी और पंत ने भी लगाई छलांग         ||           प्रधानमंत्री मोदी और चीनी राष्ट्रपति जिनपिंग नवंबर में अर्जेंटीना में मिलेंगे         ||           डॉनल्ड ट्रंप ने कहा चीन चाहकर भी एक सीमा के बाद जवाब नहीं दे सकता         ||           एमजे अकबर ने पत्रकार प्रिया रमानी के खिलाफ दर्ज कराया मानहानि का केस         ||           राहुल गांधी ने मध्य प्रदेश में प्रधानमंत्री मोदी पर बोला हमला         ||           अमित शाह ने कहा सपा, बसपा, कांग्रेस के लिए वोटबैंक हैं घुसपैठिए         ||           अफगानिस्तान में तालिबानी हमले में 18 सैनिकों की मौत         ||           देश के शेयर बाज़ारो के शुरूआती कारोबार में गिरावट असर         ||           दो दोस्तों के बीच संभल कर         ||           भारत ने दूसरे टेस्ट में वेस्टइंडीज को 10 विकेट से हराकर सीरीज 2-0 से जीती         ||           तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार पर अपराधों को लेकर हमला बोला         ||           एम्स से मनोहर पर्रिकर को छुट्टी मिली         ||           आज का दिन :         ||           शिवपाल यादव के मंच पर मुलायम की छोटी बहू अपर्णा पहुंचीं         ||           केंद्रीय मंत्री एमजे अकबर विदेश दौरे से लौटे         ||           ऋषभ पंत और रहाणे शतक के करीब, दूसरे दिन भारत ने बनाये 308/4 रन         ||           डोनाल्ड ट्रंप ने कहा लापता पत्रकार खाशोगी के बारे में सऊदी सुल्तान से चर्चा करूंगा         ||           छत्तीसगढ़ में चुनाव से पहले कांग्रेस नेता रामदयाल उइके ने बीजेपी का दामन थामा         ||           आज का दिन :         ||           पंजाब विधानसभा से आप विधायक एचएस फुल्का ने दिया इस्तीफा         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> डीजल वाहनों से निकलने वाला धुआं ज्यादा हानिकारक

डीजल वाहनों से निकलने वाला धुआं ज्यादा हानिकारक


admin ,Vniindia.com | Wednesday November 15, 2017, 09:28:00 | Visits: 242







नई दिल्ली, 15 नवंबर (वीएनआई)| वायु प्रदूषण आज देश और विदेश में एक बहुत विकराल समस्या के रूप में पनपता जा जा रहा है और खासकर वाहनों से निकलने वाला धुआं वायु प्रदूषण का बड़ा स्रोत हैं। डीजल से चलने वाले वाहन वायु प्रदूषण को हवा में सीधे छोड़कर और नाइट्रोजन ऑक्साइड व सल्फर ऑक्साइड का उत्सर्जन कर वायु प्रदूषण में और ज्यादा इजाफा करते हैं, जिससे वातावरण में और अधिक हानिकारण कण तैरने लगते हैं। 



इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) के अध्यक्ष पद्मश्री डॉ. के. के. अग्रवाल ने कहा, डीजल वाहनों से निकला उत्सर्जन खतरनाक रूप से अधिक होता है और इसका एक प्रमुख कारण है नाइट्रोजन ऑक्साइड व हवा में अधजले कणों का फैल जाना। लगभग 80-95 प्रतिशत डीजल के धुएं में जो बारीक कण मिले होते हैं, वे आकार में 0.1 माइक्रोन से भी छोटे होते हैं और वे फेफड़ों में गहरे तक समा सकते हैं। उन्होंने बताया कि ये कण सांस में अंदर जाकर हानिकारक प्रभाव डाल सकते हैं और फेफड़ों में सूजन पैदा कर सकते हैं। इनके कारण भविष्य में और अधिक बच्चों में दमा हो सकता है। डीजल का धुंआ गैसों और कई तरह के सूक्ष्म कणों से भरा होता है। डीजल वाहनों से नाइट्रोजन उत्सर्जन होता है, जिसे जमीनी स्तर का ओजोन माना जा सकता है। यह स्वास्थ्य के लिए बड़ा खतरा है। ओजोन प्रदूषण में अस्थमा जैसी श्वसन समस्या का खतरा बढ़ जाता है। डीजल नाइट्रोजन ऑक्साइड का एक प्रमुख स्रोत है। हवा में औद्योगिक विषाक्त पदार्थों को पार्किं सन रोग से जोड़कर देखा जाता है और इससे दिमागी सक्रियता में गिरावट आती है।



सेंटर फॉर ऑक्यूपेशनल एंड एन्वायरनमेंटल हेल्थ के निदेशक, डॉ. टी. के. जोशी ने कहा, डीजल के धुएं को अमेरिका की पर्यावरण संरक्षण एजेंसी (ईपीए) और विश्व स्वास्थ्य संगठन से संबद्ध इंटरनेशनल एजेंसी फॉर रिसर्च ऑन कैंसर द्वारा नंबर एक कार्सिनोजन की श्रेणी में रखा गया है। डीजल के धुएं के संपर्क में आने पर फेफड़ों के कैंसर का खतरा बढ़ जाता है। उन्होंने कहा, एक्सपोजर की सीमा के साथ जोखिम बढ़ता है। इसलिए भविष्य में फेफड़े के कैंसर के अधिक मामलों के लिए तैयार रहना होगा। डीजल के धुएं और मूत्राशय के कैंसर के बीच भी गहरा संबंध देखा गया है। डॉ. जोशी ने कहा, "बच्चों, बुजुर्गो, गर्भवती महिलाओं, धूम्रपान करने वालों और हृदय व श्वसन संबंधी समस्याओं से परेशान लोगों के लिए आम तौर पर वायु प्रदूषण बहुत अधिक घातक हो सकता है, इसलिए उन्हें अधिक सतर्क होना चाहिए।"   उन्होंने बताया कि अमेरिका स्थित नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एन्वायरनमेंटल हेल्थ साइंसेज द्वारा किए गए एक नए शोध से यह पता चला है कि वायु प्रदूषण के संपर्क में आने पर भ्रूण को तो बहुत ही अधिक नुकसान होने का खतरा रहता है। यह एक रहस्योद्घाटन के रूप में आया है और बहुत ही परेशान करने वाला डवलपमेंट है।"



Latest News




कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें