Breaking News
कश्मीरी छात्रों पर हमले पर सुप्रीम कोर्ट नाराज़, केंद्र सरकार और 10 राज्यों को नोटिस         ||           आज का दिन :         ||           (भारत ऑस्ट्रेलिया सीरीज) )पीठ में खिंचाव के कारण हार्दिक पंड्या सीरीज से बाहर         ||           पुलवामा हमले के बाद केंद्र सरकार ने दी जवानों को हवाई यात्रा की सुविधा         ||           सऊदी जेलों में बंद 850 भारतीय कैदी रिहा होंगे, हज कोटा भी बढा         ||           आज का दिन :         ||           अयोध्या जमीन विवाद मामले में सुप्रीम कोर्ट में 26 फरवरी को सुनवाई होगी         ||           सर्वोच्च अदालत ने अनिल अंबानी को अवमानना का दोषी करार दिया         ||           भारत-सऊदी अरब के बीच 5 अहम समझौते,पीएम ने कहा "आतंकवाद समर्थक देशों पर दबाव डालेंगे"         ||           सऊदी युवराज सलमान की भारत यात्रा- आज पॉच समझौते होने की उम्मीद         ||           मोदी सरकार ने केंद्रीय कर्मचारियों के महंगाई भत्ते में तीन फीसदी की बढ़ोतरी         ||           सिक्किम की पुलवामा शहीदों के परिजनों को आर्थिक सहयाता और बच्चों को शिक्षा की घोषणा         ||           Sikkim CM proposes to sponsor education for kids of Pulwama martyres         ||           आज का दिन :         ||           आईपीएल कार्यक्रम         ||           संघ लोक सेवा आयोग की सिविल सर्विसेज परीक्षा के लिए अधिसूचना         ||           माघ पूर्णिमा         ||           किडनी-लिवर बेचने वाले गिरोह का कानपुर पुलिस ने किया पर्दाफाश         ||           सहमति शिव सेना और बीजेपी में         ||           कुलभूषण जाधव केस मे इंटरनेशन कोर्ट में सुनवाई शुरू         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> चुनाव आयुक्त ने कहा बिना संशोधन के पूरे देश में संभव नहीं एक साथ चुनाव

चुनाव आयुक्त ने कहा बिना संशोधन के पूरे देश में संभव नहीं एक साथ चुनाव


admin ,Vniindia.com | Tuesday August 14, 2018, 04:59:00 | Visits: 112







नई दिल्ली, 14 अगस्त, (वीएनआई) देश में फिर से एक साथ चुनाव कराने की मांग ने जोर पकड़ लिया है। वहीं मुख्य चुनाव आयुक्त ओपी रावत ने इस बारे में कहा है कि वर्तमान परिदृश्य में पूरे देश में एक साथ चुनाव संभव नहीं है। 



गौरतलब है भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने एक साथ चुनाव कराने को लेकर विधि आयोग को पत्र लिखकर एक बार फिर इस मुद्दे को गरमा दिया है। इस मसले पर अब मुख्य चुनाव आयुक्त ओपी रावत ने कहा है कि वर्तमान परिदृश्य में पूरे देश में एक साथ चुनाव संभव नहीं है। वहीं एनडीए सरकार में सहयोगी बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी कहा कि एक साथ चुनाव फिलहाल इस लोकसभा चुनाव के साथ संभव नहीं है। मुख्य चुनाव आयुक्त ओपी रावत ने कहा कि राज्य विधानसभाएं अगर सहमत हो जाएं तो एक साथ चुनाव कराना संभव है। कयास लगाए जा रहे हैं कि केंद्र सरकार अगले साल लोकसभा चुनावों के साथ 10-11 राज्यों के विधानसभा चुनाव भी कराने के प्रयास कर रही है। 



मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा कि अगर पूरे देश में एक साथ चुनाव कराने की बात तो बिना संशोधन के संभव नहीं दिखता। जैसा 11 राज्यों के चुनाव का मीडिया में आया तो उस तरह की स्थिति में एक साथ चुनाव कराए जा सकते हैं। मुख्य चुनाव आयुक्त ने आगे बताया कि एक साथ चुनाव को लेकर चुनाव आयोग 2015 में ही व्यापक सुझाव दे चुका है। चुनाव आयोग बता चुका है कि इसके लिए संविधान और जनप्रतिनिधित्व कानून में कौन-कौन से संशोधन कराने होंगे। ओपी रावत ने कहा कि इन संशोधनों के बाद अन्य जरूरतो में पर्याप्त वोटिंग मशी, अधिक सुरक्षाकर्मियों जैसी जरूरतों से भी अवगत करा दिया गया था। उन्होंने कहा कि एक साथ चुनाव बिल्कुल कराए जा सकते हैं। उन्होंने कहा कि देश के पहले 4 चुनाव 1967 तक एक साथ हुए हैं। मशीनें पर्याप्त हों, सुरक्षाकर्मी पर्याप्त हों और कानूनी प्रावधान हों, तो इसमें कोई दिक्कत नहीं है। 



Latest News



Latest Videos



कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें