Breaking News
कौन कौन रहा अब तक फुटबॉल वर्डकप का चैंपियन         ||           आज का दिन :         ||           प्रधानमंत्री मोदी ने भारत-अफगानिस्तान टेस्ट को ऐतिहासिक बताया         ||           प्रधानमंत्री मोदी ने जीएसटी को ईमानदारी की जीत करार दिया         ||           उप्र के कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर मुख्यमंत्री योगी से नाराज, बोले-गर्मी बढ़ चुकी है         ||           फीफा विश्व कप 2018 : आज 11वें दिन के होने वाले मैच         ||           भारतीय हॉकी टीम ने चैंपियंस ट्रॉफी के पहले मैच में पाकिस्तान को 4-0 से हराया         ||           आईएएस पहली बार ले रहे है फि्ल्म सराहने का प्रशिक्षण         ||           अमित शाह ने कहा बीजेपी में सरकार गिरने पर 'भारत माता की जय' के नारे लगाते हैं         ||           अखिलेश यादव की सरकारी बंगले में तोड़फोड़ मामले में बढ़ सकती हैं मुश्किलें         ||           राफेल नडाल विंबलडन के लिए आत्मविश्वास से भरपूर         ||           प्रधानमंत्री मोदी ने कहा शिवराज सरकार ने विकास की नई गाथा लिखी         ||           बातें फुटबॉल वर्डकप की         ||           क्या सेशल्स बहाल करेगा भरोसा?         ||           चिदंबरम ने कहा राहुल को जेहादियों, नक्सलियों से सहानुभूति रखने वाला बताना गलत         ||           प्रधानमंत्री मोदी ने मप्र में सिंचाई परियोजना का डिजिटल लोकार्पण किया         ||           भाजपा अध्यक्ष अमित शाह जम्मू पहुंचे         ||           आज का दिन :         ||           प्रधानमंत्री मोदी भोपाल पहुंचे         ||           सुनिधि ने कहा रियलिटी शो की सफलता प्रतियोगियों पर निर्भर         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> दिनाकरण ने कहा खंडित आदेश से हम निराश नहीं

दिनाकरण ने कहा खंडित आदेश से हम निराश नहीं


admin ,Vniindia.com | Thursday June 14, 2018, 05:44:00 | Visits: 32







चेन्नई, 14 जून (वीएनआई)| अन्नाद्रमुक से दरकिनार नेता टी.टी.वी. दिनाकरण ने आज कहा कि एआईएडीएमके के 18 बागी विधायकों को अयोग्य ठहराने के मामले में मद्रास उच्च न्यायालय के खंडित आदेश से वह निराश नहीं हैं। 



मद्रास उच्च न्यायालय की मुख्य न्यायाधीश इंदिरा बनर्जी ने आज तमिलनाडु विधानसभा के अध्यक्ष पी. धनपाल द्वारा 18 विधायकों को अयोग्य ठहराए जाने के फैसले को बरकरार रखने के आदेश दिए, वहीं पीठ के अन्य न्यायाधीश एम. सुंदर ने विधानसभा अध्यक्ष के निर्णय को अवैध बताया। न्यायमूर्ति बनर्जी ने कहा कि विरोधाभाषी निर्णय की वजह से, इस मामले को अन्य पीठ को स्थांतरित किया जाएगा। दिनाकरण ने मीडिया से कहा, जन-विरोधी सरकार को कुछ और महीने का विस्तार मिल गया है। यह हमारे लिए निराशा नहीं है। हमने 50 प्रतिशत विजय प्राप्त कर ली है।



Latest News




कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें