Breaking News
ओडिशा में सड़क दुर्घटनाओं में 6 लोगो की मौत         ||           वयोवृद्ध माकपा नेता निर्मल मुखर्जी का निधन         ||           सर्वोच्च न्यायालय में 'पद्मावत' पर मध्य प्रदेश और राजस्थान की याचिका पर मंगलवार को सुनवाई         ||           राष्ट्रपति कोविंद और प्रधानमंत्री मोदी ने राष्ट्र को बसंत पंचमी की बधाई दी         ||           विश्व आर्थिक मंच में शामिल होने के लिए प्रधानमंत्री मोदी दावोस रवाना         ||           सिद्धांत कपूर ने कहा बहन श्रद्धा से स्पर्धा नहीं         ||           राजधानी दिल्ली में सुबह आंशिक बदली छाई, 10 ट्रेनें रद्द         ||           शेयर बाजारों के शुरुआती कारोबार में तेजी का असर         ||           काबुल हमले की संयुक्त राष्ट्र ने निंदा की         ||           काबुल हमले में मृतकों की संख्या बढ़कर 18 हुई         ||           पाकिस्तानी गोलीबारी में एक नागरिक की मौत         ||           अमेरिकी उपराष्ट्रपति माइक पेंस इजरायल पहुंचे         ||           नए मुख्य निर्वाचन आयुक्त बने ओम प्रकाश रावत         ||           केजरीवाल ने कहा भगवान ने इसी दिन के लिए हमें 67 सीटें दी थी         ||           अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप के विरोध में पूरे अमेरिका में महिलाओं की अगुआई में 'गुलाबी टोपी जुलूस         ||           डावोस मे विश्व आर्थिक मंच में महकेंगी भारतीय व्यजंनो की महक और योग की छटा         ||           गीता बाली की पुण्य तिथि पर         ||           केजरीवाल सरकार के 20 विधायक आज अयोग्य करार, राष्ट्रपति ने लगाई मुहर         ||           आज का दिन :         ||           भारत 4-नेशन्स इन्विटेशनल हॉकी टूर्नामेंट के पहले चरण के फाइनल में हारा         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> दिल्ली उच्च न्यायालय ने कहा सम-विषम, कृत्रिम बारिश पर विचार करे सरकार

दिल्ली उच्च न्यायालय ने कहा सम-विषम, कृत्रिम बारिश पर विचार करे सरकार


admin ,Vniindia.com | Thursday November 09, 2017, 03:41:35 | Visits: 90







नई दिल्ली, 9 नवंबर (वीएनआई)| दिल्ली उच्च न्यायालय ने आज कहा कि दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण की वजह से 'आपातकालीन स्थिति' पैदा गई है। अदालत ने दिल्ली सरकार से वाहनों के लिए सम-विषम योजना लाने और कृत्रिम बारिश (क्लाउड सीडिंग) कराने पर विचार के लिए कहा है। 



न्यायालय ने केंद्र से तत्काल प्रदूषण पर काबू पाने के लिए अल्पावधि उपायों को अपनाने के मद्देनजर दिल्ली और एनसीआर के अधिकारियों के साथ बैठक करने और इससे संबंधित रिपोर्ट मामले की अगली सुनवाई 16 नवंबर को पेश करने के लिए कहा। न्यायमूर्ति एस. रवीन्द्र भट और न्यायमूर्ति संजीव सचदेवा की पीठ ने पर्यावरण, वन और जलवायु नियंत्रण मंत्रालय के मुख्य सचिव को अपने दिल्ली, हरियाणा, पंजाब, राजस्थान और उत्तर प्रदेश के समकक्षों और प्रदूषण नियंत्रक एजेंसी के साथ प्रदूषण से निपटने के लिए तीन दिनों के अंदर बैठक करने के निर्देश दिए। पीठ ने कहा कि मुख्य सचिवों को वायु प्रदूषण को कम करने के लिए कृत्रिम बारिश कराने की संभावना पर विचार करना चाहिए। पीठ ने कहा कि यह बहुत महंगी प्रक्रिया नहीं है और बेंगलुरू ने इस प्रक्रिया को अपनाया है।



न्यायालय ने दिल्ली सरकार से वाहनों की सम-विषम योजना को वापस लाने पर भी विचार करने को कहा।  लेकिन, न्यायालय ने सरकार द्वारा पार्किं ग दर को चार गुणा बढ़ाने पर सवाल उठाए। अदालत ने कहा कि कोई अगर अस्पताल गया है तो उसे चार गुना अधिक पार्किं ग चार्ज देना होगा। न्यायालय ने कहा कि प्रदूषण के लिए पराली को जलाना 'प्रत्यक्ष खलनायक' है लेकिन अधिकारियों को इसके लिए और कारकों पर भी ध्यान देना चाहिए। सड़क और निर्माण गतिविधियों साथ ही वाहनों व ओद्यौगिक प्रदूषण भी इसके लिए जिम्मेदार हैं। न्यायालय ने दिल्ली सरकार को शहर में ट्रकों की आवाजाही को भी कड़ाई से नियंत्रित करने के आदेश दिए।



Latest News




कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें