Breaking News
लापरवाही से गाड़ी चलाने के आरोप में रहाणे के पिता हिरासत में         ||           लालू ने आरोप लगाया, जद (यू) ने आत्मचिंतन की दी सलाह         ||           कांग्रेस ने कहा सोनिया ने राजनीति नहीं छोड़ी है         ||           प्रियंका और कैटरीना पुरस्कार समारोह में प्रस्तुति देंगी         ||           उत्तर कोरिया पर जापान ने नए एकतरफा प्रतिबंध लगाए         ||           सेंसेक्स में 216 अंकों की तेजी पर बंद         ||           रूस में राष्ट्रपति चुनाव अगले साल 18 मार्च को         ||           अफरीदी ने टी-10 मैच में ली हैट्रिक         ||           भूमि पेडनेकर ने कहा मुझे मेकअप पसंद है         ||           कश्मीर में अलगाववादी नेता मीरवाइज हिरासत में लिए गए         ||           आस्ट्रेलिया एशेज सीरीज में खराब शुरुआत के बाद संभला         ||           तेजस्वी ने कहा एग्जिट पोल पर खुश होने वाले बिहार चुनाव परिणाम को याद करें         ||           आज का दिन:         ||           तीन तलाक पर विधेयक को मंत्रिमंडल की मंजूरी         ||           'न्यूटन' ऑस्कर की दौड़ से हुई बाहर         ||           सोनिया गाँधी ने कहा अब मेरी भूमिका रिटायर होने की         ||           करीना ने कहा सोहा सशक्त महिला हैं         ||           राजस्थान रॉयल्स का आईपीएल टीमों ने स्वागत किया         ||           सर्वोच्च न्यायालय ने आधार को लिंक करने की समय सीमा बढ़ाई         ||           प्रधानमंत्री मोदी ने सरदार पटेल को उनकी पुण्यतिथि पर याद किया         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> कांग्रेस ने कहा पूर्व सैनिकों पर कार्रवाई मोदी सरकार का 'सर्जिकल स्ट्राइक'

कांग्रेस ने कहा पूर्व सैनिकों पर कार्रवाई मोदी सरकार का 'सर्जिकल स्ट्राइक'


admin ,Vniindia.com | Tuesday October 31, 2017, 10:55:11 | Visits: 56







नई दिल्ली, 31 अक्टूबर (वीएनआई)| कांग्रेस ने आज जंतर-मंतर पर ओआरओपी की शांतिपूर्ण मांग कर रहे सेवानिवृत्त सैनिकों पर पुलिस कार्रवाई की तुलना 'सर्जिकल स्ट्राइक' से की और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि एक तरफ वह सैनिकों के साथ दिवाली मनाते हैं और दूसरी तरफ सैनिकों को ओआरओपी न देकर 'गंभीर अन्याय' करते हैं। 



कांग्रेस प्रवक्ता टॉम वटक्कन ने कहा, मोदी सरकार का राष्ट्रवाद का मुखौटा एकबार फिर सोमवार को उतर गया, जब सरकार ने दिल्ली पुलिस द्वारा शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे पूर्व सैनिकों, युद्ध लड़ने वालों और उनकी विधवाओं को जंतर मंतर से जबरदस्ती हटाया और उसके बाद गिरफ्तार भी करवाया। उन्होंने कहा कि ओआरओपी के लिए शांतिपूर्ण प्रदर्शन का यह 869वां दिन है और सरकार उनकी मांगों को सुनने के बदले उन पर 'सर्जिकल स्ट्राइक' कर रही है। उन्होंने कहा, यह पहली बार नहीं है कि पुलिस बल का प्रयोग पूर्व सैनिकों के खिलाफ किया गया है। प्रधानमंत्री हमारे सैनिकों के साथ दिवाली मनाते हैं, लेकिन ओआरओपी न देकर दिवाली के बाद उन्हीं लोगों के साथ अन्याय करते हैं।



वडक्कन ने कहा, "पहले उन्होंने 2015 में उन्हें हटाने के लिए उन पर लाठीचार्ज किया। उसके बाद एक पूर्व सैनिक को नवंबर 2016 में आत्महत्या करना पड़ा और सरकार अब एनजीटी के आदेश की आड़ में उन पर निशाना साध रही है। उन्होंने कहा कि जंतर मंतर राष्ट्रीय राजधानी के दिल (कनाट प्लेस) के पास स्थित रणनीतिक जगह है और संसद के पास है। इसकी अपनी एक महत्ता है और यह लोगों की आवाज को ताकत देता है। जंतर मंतर पर पुलिस की कार्रवाई सरकार तक अपनी बात पहुंचाने के आम लोगों के अधिकार का हनन है। कांग्रेस नेता ने कहा, हम यह आशा करते हैं कि देश इसकी समीक्षा करेगा कि जंतर-मंतर का ध्वनि प्रदूषण ज्यादा खतरनाक है या लोकतंत्र और असहमति पर असहिष्णुता बड़ा खतरा है। उन्होंने कहा, "हम मानते हैं कि पर्यावरण के प्रति चिंताएं दूर करने के लिए लोगों के लोकतांत्रिक अधिकारों के मूलभूत सिद्धांतों के साथ संघर्ष की स्थिति पैदा नहीं होनी चाहिए।"



Latest News




कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें