Breaking News
आज का दिन :         ||           आईपीएल कार्यक्रम         ||           संघ लोक सेवा आयोग की सिविल सर्विसेज परीक्षा के लिए अधिसूचना         ||           माघ पूर्णिमा         ||           किडनी-लिवर बेचने वाले गिरोह का कानपुर पुलिस ने किया पर्दाफाश         ||           सहमति शिव सेना और बीजेपी में         ||           कुलभूषण जाधव केस मे इंटरनेशन कोर्ट में सुनवाई शुरू         ||           राहुल की मौजूदगी मे कांग्रेस में शामिल हुए सांसद कीर्ति आजाद         ||           मारा गया पुलवामा आतंकी हमले का मास्टरमाइंड ग़ाज़ी         ||           आज का दिन :         ||           आज का दिन :         ||           वायु शक्ति-2019         ||           क्रिकेट क्लब ऑफ इंडिया का अनूठा विरोध         ||           पुलवामा हमला-कश्मीर के पॉच अलगाववादी नेताओं की सुरक्षा हटाई गई         ||           महानायक शहीदों की आर्थिक मदद के लिए आगे आए हैं.         ||           Hyderabad Special Tomato Chutney         ||           ब्रिटेन ने अपने नागरिकों को पाकिस्तान से सटे सीमाई इलाकों से दूर रहने की सलाह दी         ||           पुलवामा आतंकी हमले पर चीन की संवेदना में पाकिस्तान व जैश का जिक्र नही         ||           ठोको ताली-सिद्धू का कपिल शर्मा शो से जाना पहले से तय था         ||           प्रधानमंत्री मोदी ने कहा हम छेाड़ते नहीं, किसी ने छेड़ा तो छोड़ते नहीं         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> चिदंबरम ने कहा सरकार पिछड़ा वर्ग विधेयक पर गंभीर नहीं

चिदंबरम ने कहा सरकार पिछड़ा वर्ग विधेयक पर गंभीर नहीं


admin ,Vniindia.com | Tuesday August 01, 2017, 06:21:27 | Visits: 121







नई दिल्ली, 1 अगस्त (वीएनआई)| कांग्रेस के दिग्गज नेता पी. चिदंबरम ने आज केंद्र सरकार पर संविधान संशोधन विधेयक के पारित होने को लेकर गंभीर न होने का आरोप लगाया। इस विधेयक में पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा दिए जाने की मांग की गई है। यह विधेयक सोमवार को राज्यसभा में पेश नहीं हो सका। 



चिदंबरम ने एक ट्वीट में कहा, कांग्रेस और विपक्षी दल ओबीसी विधेयक का समर्थन करते हैं। सरकार को विधेयकों को सुदृढ़ करने वाले संशोधनों को स्वीकार करना चाहिए। गौरतलब है सरकार को सोमवार को राज्यसभा में उस वक्त शर्मिदगी का सामना करना पड़ा, जब वह पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा देने के बिल को सुनिश्चित नहीं कर सके, जबकि विपक्ष एक महत्वपूर्ण प्रावधान में संशोधन करने में सफल रहा।



सरकार की आलोचना करते हुए पूर्व वित्तमंत्री ने कहा कि संशोधन कई दिनों तक उच्च सदन में लटका रहा, लेकिन सरकार ने विपक्ष को एक समझौते तक पहुंचने के कार्य में शामिल नहीं किया। चिदंबरम ने कहा, "सरकार पूरी तरह से तैयार नहीं थी और न ही दृढ़ थी। संविधान संशोधन गंभीर मसला है और सरकार बिल्कुल भी गंभीर नहीं है।



Latest News




कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें