Breaking News
कैप्टन अमरिंदर ने कहा पाकिस्तानी जनरल से सिद्धू की झप्पी के पक्ष में नहीं         ||           पहलवान सुशील कुमार एशियन गेम्स से बाहर         ||           सेना ने पाकिस्तान की घुसपैठ का प्रयास नाकाम किया, एक आतंकी ढेर         ||           भारत की पहली पारी 329 पर सिमटी, भोजन कल तक इंग्लैंड ने 46/0 रन बनाये         ||           अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थियां बेटी ने गंगा में विसर्जित की         ||           हार्दिक पटेल अनशन से पहले समर्थकों सहित हिरासत में लिए गए         ||           एशियाई खेलो में अपूर्वी चंदेला और रवि कुमार की जोड़ी ने दिलाया भारत को पहला पदक         ||           मुख्यमंत्री योगी ने बकरीद पर शांति व्यवस्था के लिए दिए निर्देश         ||           लंदन पुलिस ने दाउद इब्राहिम के फाइनेंस मैनेजर को हिरासत में लिया         ||           आज का दिन : मास्टर विनायक         ||           अटल बिहारी वाजपेयी का अस्थि विसर्जन आज हरिद्वार में         ||           केरल में खत्म हुआ रेड अलर्ट, राहत कार्य में तेजी         ||           विराट और रहाणे ने पारी को संभाला, भारत ने पहले दिन बनाये 307/6 रन         ||           एसबीआई ने दो करोड़ रुपये देकर केरल बाढ़ पीड‍़‍ितों की मदद की         ||           बीजेपी ने कहा सिद्धू का बाजवा के गले मिलना जघन्य अपराध है, राहुल गांधी सफाई दें         ||           अखिलेश यादव के होटल निर्माण पर हाईकोर्ट ने लगाई रोक         ||           पूर्व संयुक्त राष्ट्र महासचिव कोफी अन्‍नान का 80 वर्ष की आयु में निधन         ||           इसो एलबेन ने साइकिलिंग चैम्पियनशिप में इतिहास रचते हुए भारत को पहला पदक दिलाया         ||           प्रियंका चोपड़ा का निक जोनस साथ हुआ रोका         ||           इंग्लैंड ने टॉस जीता, भारत को पहले बल्लेबाज़ी का न्योता         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> नवरात्र के दूसरे दिन मां ब्रह्मचारिणी की करे पूजा

नवरात्र के दूसरे दिन मां ब्रह्मचारिणी की करे पूजा


admin ,Vniindia.com | Monday March 19, 2018, 01:02:00 | Visits: 137







नई दिल्ली 19 मार्च (वीएनआई) कल से वासंतिक नवरात्र शुरू हो गया है। इस बार की नवरात्रि मान्यता के आधार पर केवल 8 दिन की ही हैं। इसमें 24 मार्च को अष्टमी की पूजन की जाएगी। इस दिन श्रद्धालु माता के महागौरी रूप की आराधना करते हैं। इसके बाद 25 तारीख को श्रीराम नवमी मनाई जाएगी, साथ ही माता की नवमी पूजन भी की जाएगी। आज वासंतिक नवरात्रि का दूसरा दिन है और आज नवदुर्गा के दूसरे स्वरूप की पूजा की जा रही है. लेकिन खास बात ये है कि आज ही नवदुर्गा के तीसरे स्वरूप की भी उपासना की जा रही है. यानी आज नवरात्रि की तिथि भले ही दूसरी है लेकिन दूसरा और तीसरा नवरात्रा दोनों आज ही हैं.यानि इस बार एक नवरात्रा कम होगा क्योंकि आज मां के दूसरे और तीसरे दोनों स्वरूप की पूजा की जा रही है है. 



नवरात्र के दूसरे दिन भगवती मां ब्रह्मचारिणी की पूजा का विधान है। ब्रह्मचारिणी देवी भगवती दुर्गा की नौ शक्तियों का दूसरा स्वरूप ब्रह्मचारिणी का है। यहां ब्रह्म शब्द का अर्थ तपस्या से है और ब्रह्मचारिणी अर्थात् तप की चारिणी – तप का आचरण करने वाली। शास्त्रों ने कहा भी है कि वेदस्तत्वं तपो ब्रह्म। माता का स्वरूप पूर्ण ज्योर्तिमय एवं अत्यंत भव्य है। उनके दाहिने हाथ में जप की माला एवं बायें हाथ में कमण्डलु है।साधक एवं योगी इस दिन अपने मन को भगवती मां के श्री चरणों मे एकाग्रचित करके स्वाधिष्ठान चक्र में स्थित करते हैं और मां की कृपा प्राप्त करते हैं।  ज्योतिषाचार्यों के अनुसार माता अपने पूर्व जन्म में हिमालय की पुत्री के रूप में उत्पन्न हुई थी। तब नारदजी के उपदेश से भगवान शंकरजी को पति रूप में पाने के लिए कठिन तपस्या की थी। ऐसी तपस्या करने के बाद इनका नाम ब्रह्मचारिणी पड़ा। तपस्या कई हजार वर्षों तक करने के बाद बिना खाये-पिये रहने के कारण इनका एक नाम अर्पणा भी पड़ा। इनकी इस तपस्या से तीनों लोकों में हाहाकार मच गया। सभी देव, ऋषि, मुनि उनकी सराहना करने लगे। अंत में ब्रह्माजी ने आकाशवाणी के द्वारा कहा हे देवी आज तक ऐसी कठिन तपस्या किसी ने नहीं की। इसलिए भगवान शिव तुम्हें पति रूप में प्राप्त होंगे।



मां जगदम्बा का यह दूसरा रूप भक्तों और सिद्धों को अनंत फल देने वाला है। इनकी उपासना से मनुष्य में तप, त्याग, वैराग्य, सदाचार की वृद्धि होती है। मां ब्रह्मचारिणी की कृपा से सर्वत्र सिद्धि और विजय की प्राप्ति होती है और मनुष्य का मन कर्तव्य पथ से विचलित नहीं होता। मां सबके भण्डार भरती है। 

मां ब्रह्मचारिणी की उपासना करने का मंत्र बहुत ही आसान है। मां जगदम्बे की भक्ति पाने के लिए इसे कंठस्थ कर नवरात्रि में द्वितीय दिन इसका जाप करना चाहिए।

मंत्र इस प्रकार है:

या देवी सर्वभू‍तेषु माँ ब्रह्मचारिणी रूपेण संस्थिता।



Latest News




कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें