Breaking News
राहुल गाँधी ने कहा प्रधानमंत्री जब भी विदेश दौरे पर जाएं, नीरव को वापस लेते आएं         ||           आप पार्टी ने कहा हमारे नेताओं, कार्यकर्ताओं से मार-पीट की गई         ||           कोहली ने आईसीसी की टेस्ट और वनडे रैंकिंग में पार किए 900 अंक         ||           विवेक अग्निहोत्री की 'द ताशकंद फाइल्स' की शूटिंग दिल्ली में         ||           दिल्ली के उपराज्यपाल से केंद्र ने रपट मांगी         ||           भारत सेंचुरियन टी-20 में सीरीज जीतने के इरादे से उतरेगा         ||           राजनाथ ने कहा दिल्ली के मुख्य सचिव पर कथित हमले से 'गहरी पीड़ा' हुई         ||           सेंसेक्स 71 अंकों की गिरावट पर बंद         ||           अभिनेता श्याम के जन्मदिन पर         ||           मोरक्को के साथ रेल सहयोग समझौते को केंद्रीय मंत्रिमंडल की मंजूरी         ||           आज का दिन :         ||           राशिद की बदौलत अफगानिस्तान ने 4-1 से जीती सीरीज         ||           अग्नि 2 मिसाइल का भारत ने परीक्षण किया         ||           सीबीआई की पीएनबी घोटाले में पूछताछ जारी         ||           जम्मू एवं कश्मीर में हल्के भूकंप के झटके         ||           तेजस्वी ने नीतीश की जापान यात्रा पर कसा तंज         ||           आप और भाजपा में दिल्ली के मुख्य सचिव के साथ 'बदसलूकी' पर तकरार         ||           प्रधानमंत्री मोदी ने अरुणाचल, मिजोरम को स्थापना दिवस की बधाई दी         ||           भारतीय हॉकी टीम की सुल्तान अजलान शाह कप के लिए घोषणा         ||           ऋचा चड्ढा ने कहा मैं फिल्म की क्षमता के आधार पर ही हामी भरती हूं         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> ब्रिक्स मे भारत की बड़ी कामयाबी, चीन सहित ब्रिक्स देशो ्का पाक आतंकी गुटो का नाम ले कर आतंक से सख्ती से निबटने कड़ा संदेश

ब्रिक्स मे भारत की बड़ी कामयाबी, चीन सहित ब्रिक्स देशो ्का पाक आतंकी गुटो का नाम ले कर आतंक से सख्ती से निबटने कड़ा संदेश


admin ,Vniindia.com | Monday September 04, 2017, 02:15:36 | Visits: 236







खास बातें


1 सीमा पार से आतंक को झेल रहे भारत की चिंताओ को आज ब्रिक्स का बड़ा समर्थन मिला 2 आतंकवादसे निबटने का आह्वान करते हुए चीन सहित ब्रिक्स देशो ने लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मोहम्मद और तालिबान जैसे आतंकी गुटो की नाम ले कर आतंकी हरकतो कीनिंदा की. 3 ब्रिक्स के घोषणापत्र में कहा गया है कि कहीं भी किसी भी तरह और किसी का आतंकी हमला मंजूर नहीं. किसी भी तरह का आतंकवाद जायज नहीं
ब्रिक्स सम्मेलन4 सितंबर (वी एन आई)सीमा पार से आतंक को झेल रहे भारत की चिंताओ को आज ब्रिक्स का  बड़ा समर्थन मिला  चीन सहित ब्रिक्स देशो ने हर तरह के आतंकवाद ्को कड़ाई सेनिबटने  का आह्वान करते   हुए लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मोहम्मद और तालिबान  जैसे आतंकी गुटो की  नाम ले कर  आतंकी हरकतो कीनिंदा की.यह चेतावनी निश्चय ही  सीमा पार से आतंक को झेल रहे भारत की चिंताओ को  ब्रिक्स का समर्थन मिला है इसमें पाकिस्तान का  हालांकि सीधे तौर पर नाम नहीं लिया गया है, लेकिन उसकी जमीन से जो  आतंकी संगठन काम करते हैं, उनका साफतौर पर इसमें जिक्र किया गया है. कहा गया है कि कहीं भी किसी भी तरह और किसी का आतंकी हमला मंजूर नहीं. किसी भी तरह का आतंकवाद जायज नहीं.  नाम लेकर लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मोहम्मद और तालिबान की निंदा की. इसमें अलकायदा, हक्कानी और आईएस की भी निंदा की गई 


इस घोषणापत्र में कहा गया है कि आतंकवाद को बढ़ावा देने वालों को जवाबदेह ठहराना ज़रूरी है. आतंकवाद के ख़िलाफ़ अंतरराष्ट्रीय सहयोग ज़रूरी है और आतंकी संगठनों की वित्तीय मदद रोकी जाए.ब्रिक्स सम्मेलन  चीन के राष्ट्रपति ने कहा, 'ऐसे उपाय करें कि आतंकियों को छिपने की जगह न मिले'


ब्रिक्स की बैठक में पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि शांति और विकास के लिए सहयोग जरूरी है. एकजुट रहने पर शांति और विकास संभव है. उन्होंने कहा कि हमारे देश का युवा होना हमारी सबसे बड़ी ताकत है. भारत ने काले धन के खिलाफ जंग छेड़ी है. गरीबी से लड़ने के लिए स्वच्छता अभियान चलाया. हम स्वास्थ्य, शिक्षा और स्वच्छता का लक्ष्य लेकर चल रहे हैं. पीएम मोदी ने आगे का कि ब्रिक्स में पांचों देश एक बराबर हैं. ब्रिक्स बैंक ने कर्ज देना शुरू किया है, इससे पांच सदस्य देशों को फायदा होगा. वहीं शी चिनफिंग ने कहा कि हम सभी देशों के एक ही आवाज में सभी की समस्याओं को लेकर बोलना चाहिए, ताकि विश्व में शांति और विकास आगे बढ़ सके. मौजूदा समय में दुनिया के हालात को देखते हुए, ब्रिक्स देशों की जिम्मेदारी और भी बढ़ जाती है.


Latest News



Latest Videos



कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें