Breaking News
संगीतकार गायक पंकज मालिक की पुण्य तिथि पर         ||           हार्दिक पटेल ने कहा देश तोड़ने की राजनीति करने वालों से राष्ट्रभक्ति का सार्टिफिकेट नहीं चाहिए         ||           करण जौहर की 'रणभूमि' 2020 में दिवाली पर होगी रिलीज         ||           रोजर फेडरर एटीपी रैंकिंग में नडाल को पछाड़कर शीर्ष पर पहुंचे         ||           रीता जोशी ने कहा उप्र की नई पर्यटन नीति से लोगों को मिलेगा रोजगार         ||           ड्युम्नी ने कहा साझेदारी की कमी से हारे         ||           प्रधानमंत्री मोदी ने कहा भारत प्रौद्योगिकी का फायदा उठाने की बेहतर स्थिति में         ||           सेंसेक्स 236 अंकों की गिरावट पर बंद         ||           मालदीव के राष्ट्रपति ने आपातकाल के विस्तार के लिए कहा         ||           मप्र में भाजपा के राज्यमंत्री छेड़छाड़ मामले में फंसे, पार्टी ने किया निलंबित         ||           गुंडप्पा विश्वनाथ ने कहा कोहली तोड़ सकते हैं सारे रिकॉर्ड         ||           एक खुबसूरत द्वीप सिर्फ महिलाओ के लिये, लेकिन कीमत भी है भारी भरकम !         ||           वेंकैया नायडू ने कहा विभिन्न जाति, संप्रदाय, धर्म, लिंग के बावजूद, भारत एक है         ||           आज का दिन :         ||           जेडीयू ने कहा भ्रष्टाचार की विरासत संभालने के लिए 'दंडवत' हो रहे तेजस्वी         ||           भाजपा ने गोरखपुर से उपेंद्र शुक्ल, फूलपुर से कौशलेंद्र पटेल को उम्मीदवार बनाया         ||           पाकिस्तानी विदेश मंत्री ख्वाजा रूस दौरे पर जाएंगे         ||           कतर ओपन जीतीं क्वितोवा, शीर्ष-10 में होगी वापसी         ||           हार्दिक पटेल मप्र में भाजपा के लिए मुसीबत बनेंगे         ||           मलेशिया में केबल कारों में फंसे 89 पर्यटकों को सकुशल निकाला गया         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> बाबरी मामले के सभी याचिकाकर्ता सिब्बल के समर्थन में आए

बाबरी मामले के सभी याचिकाकर्ता सिब्बल के समर्थन में आए


admin ,Vniindia.com | Wednesday December 06, 2017, 09:33:00 | Visits: 48







नई दिल्ली, 6 दिसम्बर (वीएनआई)| बाबरी मस्जिद-रामजन्मभूमि मामले के सभी याचिकाकार्ताओं समेत सुन्नी वक्फ बोर्ड ने कहा है कि वे सर्वोच्च न्यायालय में इस मामले की सुनवाई जुलाई 2019 तक टालने के वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल द्वारा दाखिल याचिका का समर्थन करते हैं।  उनलोगों ने जोर देकर कहा कि हाजी महबूब न तो सुन्नी वक्फ बोर्ड के सदस्य हैं और न हीं वह किसी अधिकार से बोर्ड का प्रतिनिधित्व करते हैं। हाजी महबूब इस मामले में एक कई वादियों में से एक वादी हैं, जिसने बुधवार को सिब्बल की याचिका से असहमति जताई थी।



बाबरी मस्जिद एक्शन कमेटी के सदस्य जफरयाब जिलानी ने कहा, सर्वोच्च न्यायालय में कपिल सिब्बल साहेब ने जो कुछ भी कहा, वह सोच-विचार कर और हमें विश्वास में लेने के बाद कहा। हम उनके रुख का पूरा समर्थन करते हैं। उन्होंने कहा कि यह महबूब का व्यक्तिगत विचार हो सकता है, लेकिन यह इस मामले से जुड़े किसी भी पक्ष का आधिकारिक रुख नहीं है। मामले में सुन्नी वक्फ बोर्ड के एक वकील शकील अहमद ने कहा, हाजी महबूब का उनके मुवक्किल से कोई संबंध नहीं है और वह सिर्फ एक अन्य वादी हैं। मामले के प्रमुख वादी और मुकदमे का खर्च वहन कर रहे ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड(एआईएमपीएलबी) ने भी कहा कि सिब्बल की याचिका सही है, जिसमें उन्होंने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी 2019 के लोकसभा चुनाव में राम मंदिर मुद्दे को भुना सकती है।



एआईएमपीएलबी के अध्यक्ष मौलाना वली रहमानी ने कहा, हम सर्वोच्च न्यायालय में कपिल सिब्बल की दलील से पूरी तरह सहमत हैं। मामले की सुनवाई 2019 के लोकसभा चुनाव तक टाल देनी चाहिए। सिब्बल ने मंगलवार को सर्वोच्च न्यायालय में बहस करते हुए प्रधान न्यायाधीश के समक्ष कहा कि बाबरी मस्जिद-रामजन्मभूमि मामले की सुनवाई जुलाई 2019 तक टाल देनी चाहिए। उन्होंने बहस के दौरान इस मुद्दे को भाजपा द्वारा राजनीतिकरण करने और वोट बैंक बनाने को आधार बनाकर इस मामले में अपना पक्ष रखा था। न्यायालय ने हालांकि दोनों पक्षों के तर्क सुनने के बाद याचिका खारिज कर दी और इस मामले की सुनवाई आठ फरवरी, 2018 से मुकर्रर कर दी। इस मामले के पहले पक्षकार हाशिम अंसारी के बेटे इकबाल अंसारी ने भी कहा कि उन्हें सिब्बल की दलील से कोई आपत्ति नहीं है।



Latest News



Latest Videos



कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें