Breaking News
मुबंई इंडियंस ने जहीर खान को डॉयरेक्टर नियुक्त किया         ||           प्रधानमंत्री मोदी ने कहा चार साल पहले किसने सोचा था कांग्रेस नेताओ को सजा होगी         ||           अरुण जेटली ने कहा सरकार ने उर्ज‍ित पटेल से नहीं मांगा इस्‍तीफा         ||           कमलनाथ ने कहा पंचायत के काम के लिए कोई मंत्रालय के चक्कर लगाए, ये बर्दाश्त नहीं         ||           सज्जन कुमार ने राहुल गांधी को पत्र लिख कांग्रेस से दिया इस्तीफा         ||           अमित शाह ने कहा 1984 दंगों में कांग्रेस नेताओं ने किया महिलाओं से बलात्कार         ||           अमेरिका ने कहा सीरिया में रह सकते हैं असद         ||           यूपी विधानसभा का आज से शीतकालीन सत्र         ||           ऑस्ट्रेलिया ने भारत को दूसरे टेस्ट में 146 रन से हराकर सीरीज में बराबरी की         ||           राजधानी दिल्ली पर सर्दी का सितम, उत्तर भारत में अलर्ट जारी         ||           उमर अब्दुल्ला ने कहा इस हाल में मनोहर पर्रिकर से काम कराना अमानवीय         ||           कमलनाथ ने किसानों की कर्जमाफी से जुड़ी फाइल पर किया हस्ताक्षर         ||           कमलनाथ ने मध्‍य प्रदेश के मुख्यमंत्री के तौर पर ली शपथ         ||           मालदीव के राष्‍ट्रपति पहली विदेश यात्रा पर भारत पहुंचे         ||           लोकसभा में विपक्ष के हंगामा बीच तीन तलाक बिल पेश         ||           कांग्रेस ने कहा कमलनाथ दोषी तो मोदी भी दोषी         ||           जेटली ने कहा सिख दंगो में कांग्रेस के पाप छुप नहीं सकते         ||           पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़े         ||           राजस्थान में अशोक गहलोत ने मुख्यमंत्री और सचिन पायलट ने उप मुख्यमंत्री पद की शपथ ली         ||           कांग्रेस नेता सज्जन कुमार को सिख विरोधी दंगों में उम्रकैद         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> एसोचैम ने कहा कॉरपोरेट जगत निजी क्षेत्र में आरक्षण के खिलाफ

एसोचैम ने कहा कॉरपोरेट जगत निजी क्षेत्र में आरक्षण के खिलाफ


admin ,Vniindia.com | Monday November 13, 2017, 05:02:11 | Visits: 161







नई दिल्ली, 13 नवंबर (वीएनआई)| भारतीय कॉरपोरेट जगत ने निजी क्षेत्र में आरक्षण लाने के किसी भी कदम का विरोध करने का फैसला किया है और कहा है कि इससे निवेश के माहौल पर असर पड़ेगा तथा विश्व बैंक द्वारा ईज ऑफ डूइंग बिजनेस में देश की रैकिंग बढ़ाने से जो धारणा में बदलाव हुआ है और उसे भी नकार देगा। एक शीर्ष उद्योग संगठन ने सोमवार को यह बात कही। 



एसोसिएट चेंबर ऑफ कॉमर्स (एसोचैम) के महासचिव डी. एस. रावत ने कहा, ऐसे समय में भारतीय अर्थव्यवस्था दुबारा तेजी हासिल करने के लिए सकारात्मक ट्रिगर्स की मांग कर रहे हैं, निजी क्षेत्र में आरक्षण को लेकर किसी राजनीतिक मांग से इसे झटका लगेगा। उद्योग पहले से ही वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) लागू करने की चुनौतियों से निपट रहा है, साथ ही नोटबंदी के अल्पकालिक असर का भी सामना कर रहा है। उन्होंने कहा, "राजनीतिक दलों को इसकी बजाए कि वे घरेलू और वैश्विक निवेशकों को गलत संकेत दें, ऐसा वातावरण बनाने पर ध्यान देना चाहिए, जिससे देश के आर्थिक गति को मदद मिले और निजी और सरकारी दोनों ही क्षेत्रों में लाखों नौकरियां पैदा हो।"



उन्होंने आगे कहा, एसोचैम हमेशा समाज के पिछड़े तबकों के लिए प्रभावी कदम उठाने पर जोर देता है। ऐसा ही विचार देश भर के भारतीय कारोबारी जगत का है, जो राष्ट्र निर्माण और आर्थिक वृद्धि में अमूल्य योगदान दे रहे हैं। हम अपने सदस्यों से स्थानीय उम्मीदवारों को रखने में वरीयता देने, उन्हें प्रशिक्षित करने की सलाह देते हैं। उन्होंने आगे कहा, "भारत बहुराष्ट्रीय कंपनियों का प्रमुख गंतव्य है और यहां व्यापार का वातारवण दोस्ताना बनाए रखने के लिए सभी उपाय करने चाहिए।



Latest News




कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें