Breaking News
सैमसंग का शुद्ध लाभ 52 फीसदी बढ़ा         ||           तेल की कीमतों में हल्की बढ़ोतरी         ||           शेयर बाजार हरे निशान पर खुले         ||           व्हाइट हाउस ने कहा उत्तर कोरिया सही दिशा में आगे बढ़ रहा         ||           पाकिस्तान में सड़क दुर्घटनाओं में 20 लोगो की मौत         ||           चेन्नई ने आईपीएल-11 में बेंगलोर को 5 विकेट से हराया         ||           पांड्या और कार्तिक विश्व एकादश की टीम का हिस्सा होंगे         ||           केशव मौर्य ने कहा विपक्षियों को सता रहा प्रधानमंत्री मोदी का डर         ||           अभिनेता श्याम की पुण्य तिथि पर         ||           आज का दिन :         ||           प्रधानमंत्री मोदी कर्नाटक के भाजपा उम्मीदवारों से संवाद करेंगे         ||           सेंसेक्स 115 अंकों की गिरावट पर बंद         ||           भारत और मंगोलिया व्यापार बढ़ाने, आतंकवाद से मिलकर मुकाबला करने पर सहमत         ||           सिद्धार्थ कौल को आईपीएल-11 में आचार संहिता के उल्लंघन पर फटकार         ||           2013 दुष्कर्म मामले में आसाराम बापू को उम्रकैद की सजा         ||           ब्रावो ने कहा हमें कैरिबियाई लोगों की मदद करने का मौका नहीं दिया गया         ||           जयवर्धने ने कहा किसी ने भी जिम्मेदारी नहीं ली         ||           भारत ने कहा धन की कमी के कारण संयुक्त राष्ट्र के शांति निर्माण प्रयासों में रुकावट         ||           फिल्म 'नमस्ते इंग्लैंड' का नया पोस्टर रिलीज         ||           सलमान खान ने कश्मीर में महबूबा मुफ्ती से मुलाकात की         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> छत्तीसगढ़ में जुटेंगे देशभर के 200 कृषि वैज्ञानिक

छत्तीसगढ़ में जुटेंगे देशभर के 200 कृषि वैज्ञानिक


admin ,Vniindia.com | Wednesday November 15, 2017, 10:18:00 | Visits: 79







रायपुर, 15 नवंबर । छत्तीसगढ़ की राजधानी में ग्रामीण कृषि मौसम सेवा राष्ट्रीय परियोजना की 11वीं वार्षिक समीक्षा बैठक का आयोजन 15 से 17 नवंबर तक किया जा रहा है। इसमें देशभर के 127 मौसम केंद्रों के लगभग 200 से अधिक वैज्ञानिक शामिल होंगे। राज्य के कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल बुधवार को दोपहर 3 बजे रायपुर स्थित कृषि महाविद्यालय के स्वामी विवेकानंद सभागार में इस बैठक का शुभारंभ करेंगे। 



कृषि विश्वविद्यालय के जनसंपर्क अधिकारी संजय नैय्यर ने बताया कि समीक्षा बैठक में देश के 127 मौसम केंद्रों के 200 से अधिक वैज्ञानिक शामिल हो रहे हैं। भरत शासन की ओर से वर्षा की भविष्यवाणी के आधार पर कृषकों को समसामयिक कृषि जानकारी प्रदान करने के लिए महत्वाकांक्षी परियोजना ग्रामीण कृषि मौसम सेवा के नाम से शुरू की गई है, जो पूरे भारत में 127 कृषि जलवायु इकाई में कृषि विश्वविद्यालयों के माध्यम से संचालित हो रही है। उन्होंने बताया कि वर्तमान में इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के कृषि मौसम विज्ञान विभाग के अंतर्गत छत्तीसगढ़ के तीनों कृषि जलवायु क्षेत्रों में यह परियोजना संचालित है। इस परियोजना के माध्यम से किसानों को मौसम आधारित कृषि मौसम सलाह सेवाएं पहुंचाने का कार्य प्रारंभ किया जा रहा है। छत्तीसगढ़ राज्य के कृषकों को अगले 5 दिनों के लिए मौसम आधारित कृषि सलाह सेवाएं मिल रही हैं। 



नैय्यर के मुताबिक, विस्तृत तकनीक एवं सूचना यंत्रों का उपयोग करते हुए छत्तीसगढ़ राज्य के 14 लाख अधिक किसानों को उनके मोबाइल पर एसएमएस के माध्यम से मौसम की जानकारी और कृषि सलाह दी जाएगी। उन्होंने बताया कि छत्तीसगढ़ राज्य देश का ऐसा राज्य है, जहां कृषि मौसम वेधशालों का विस्तृत नेटवर्क है। यहां 16 मौसम वेधशालाएं क्रियाशील हैं तथा तीन अन्य केंद्रों पर मौसम वेधशालाएं स्थापित करने का कार्य प्रगति पर है। रायपुर केंद्र की उपलिब्धयों को देखते हुए 14 दिसंबर 2016, को इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय की रायपुर इकाई को उड़ीसा कृषि महाविद्यालय, भुवनेश्वर में आयोजित कृषि मौसम सलाह सेवाओं की दसवीं वार्षिक समीक्षा बैठक में राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। -आईएएनएस



Latest News




कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें