Breaking News
वार्नर ने कहा स्टोक्स ने कई लोगों की उम्मीदों को तोड़ा है         ||           अनंत कुमार ने कहा संसद के शीतकालीन सत्र की घोषणा जल्द         ||           विराट कोहली टेस्ट रैंकिंग में पांचवें स्थान पर पहुंचे         ||           राष्ट्रपति कोविंद हड़ताल के बीच मणिपुर पहुंचे         ||           सेंसेक्स 118 अंकों की तेजी पर बंद         ||           प्रियरंजन दासमुंशी के निधन पर विजय मल्होत्रा ने शोक जताया         ||           योगी आदित्यनाथ ने कहा राहुल गांधी वंशवाद की परम्परा को ही आगे बढ़ाएंगे         ||           कांग्रेस ने कहा गुजरात चुनाव के कारण संसद से बच रही है सरकार         ||           आज का दिन:         ||           छिल्लर की जीत पर शिवसेना ने भाजपा पर तंज कसे         ||           ममता ने कहा आधार संख्या जोड़ना समस्याओं से भरा         ||           भारतीय बास्केट में कच्चे तेल की कीमत 60.86 डॉलर प्रति बैरल         ||           माजिद मजीदी ने कहा अपने देश से ज्यादा भारत में मशहूर हूं         ||           पुतिन ने सीरिया युद्ध पर चर्चा के लिए असद से मुलाकात की         ||           इटली फुटबाल संघ के अध्यक्ष का इस्तीफा         ||           नौसेना का आरपीए विमान दुर्घटनाग्रस्त         ||           राजद अध्यक्ष के रूप में लालू की 10वीं बार ताजपोशी         ||           जद (यू) गुजरात में 50 से ज्यादा सीटों पर लड़ेगी चुनाव         ||           आसियान के साथ चीन सहयोग बढ़ाने के लिए तैयार         ||           लीबिया में अगवा डॉक्टर की रिहाई की डब्ल्यूएचओ ने अपील की         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> छत्तीसगढ़ में जुटेंगे देशभर के 200 कृषि वैज्ञानिक

छत्तीसगढ़ में जुटेंगे देशभर के 200 कृषि वैज्ञानिक


admin ,Vniindia.com | Wednesday November 15, 2017, 10:18:00 | Visits: 29







रायपुर, 15 नवंबर । छत्तीसगढ़ की राजधानी में ग्रामीण कृषि मौसम सेवा राष्ट्रीय परियोजना की 11वीं वार्षिक समीक्षा बैठक का आयोजन 15 से 17 नवंबर तक किया जा रहा है। इसमें देशभर के 127 मौसम केंद्रों के लगभग 200 से अधिक वैज्ञानिक शामिल होंगे। राज्य के कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल बुधवार को दोपहर 3 बजे रायपुर स्थित कृषि महाविद्यालय के स्वामी विवेकानंद सभागार में इस बैठक का शुभारंभ करेंगे। 



कृषि विश्वविद्यालय के जनसंपर्क अधिकारी संजय नैय्यर ने बताया कि समीक्षा बैठक में देश के 127 मौसम केंद्रों के 200 से अधिक वैज्ञानिक शामिल हो रहे हैं। भरत शासन की ओर से वर्षा की भविष्यवाणी के आधार पर कृषकों को समसामयिक कृषि जानकारी प्रदान करने के लिए महत्वाकांक्षी परियोजना ग्रामीण कृषि मौसम सेवा के नाम से शुरू की गई है, जो पूरे भारत में 127 कृषि जलवायु इकाई में कृषि विश्वविद्यालयों के माध्यम से संचालित हो रही है। उन्होंने बताया कि वर्तमान में इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के कृषि मौसम विज्ञान विभाग के अंतर्गत छत्तीसगढ़ के तीनों कृषि जलवायु क्षेत्रों में यह परियोजना संचालित है। इस परियोजना के माध्यम से किसानों को मौसम आधारित कृषि मौसम सलाह सेवाएं पहुंचाने का कार्य प्रारंभ किया जा रहा है। छत्तीसगढ़ राज्य के कृषकों को अगले 5 दिनों के लिए मौसम आधारित कृषि सलाह सेवाएं मिल रही हैं। 



नैय्यर के मुताबिक, विस्तृत तकनीक एवं सूचना यंत्रों का उपयोग करते हुए छत्तीसगढ़ राज्य के 14 लाख अधिक किसानों को उनके मोबाइल पर एसएमएस के माध्यम से मौसम की जानकारी और कृषि सलाह दी जाएगी। उन्होंने बताया कि छत्तीसगढ़ राज्य देश का ऐसा राज्य है, जहां कृषि मौसम वेधशालों का विस्तृत नेटवर्क है। यहां 16 मौसम वेधशालाएं क्रियाशील हैं तथा तीन अन्य केंद्रों पर मौसम वेधशालाएं स्थापित करने का कार्य प्रगति पर है। रायपुर केंद्र की उपलिब्धयों को देखते हुए 14 दिसंबर 2016, को इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय की रायपुर इकाई को उड़ीसा कृषि महाविद्यालय, भुवनेश्वर में आयोजित कृषि मौसम सलाह सेवाओं की दसवीं वार्षिक समीक्षा बैठक में राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। -आईएएनएस



Latest News




कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें