Breaking News
स्मृति ने कहा कांग्रेस मुखिया के परिवार ने खुद को ही दिए भारत रत्न         ||           आज का दिन:         ||           मोदी ने कहा कांग्रेस ने केरल में परियोजनाओं को सालों लटकाए रखा         ||           डॉनल्ड ट्रंप ने कहा चीन और भारत के साथ संबंध रखना अच्छा है         ||           देश के शेयर बाज़ारो के शुरूआती कारोबार में तेजी का असर         ||           संतों व श्रद्धालुओं के पहले शाही स्नान के साथ कुम्भ 2019 का आगाज         ||           कुमारस्वामी ने येदुरप्पा पर विधायकों के खरीद-फरोख्त का आरोप लगाया         ||           प्रशांत भूषण सीबीआई के अंतरिम निदेशक नागेश्वर राव की नियुक्ति के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंचे         ||           कन्हैया कुमार ने देशद्रोह मामले में चार्जशीट दायर होने पर कहा थैंक यू मोदी जी         ||           अमेरिका की खाड़ी विवाद खत्म करने की अपील         ||           लाईब्रेरी मज़ाक नही विकास की राह है         ||           प्रयागराज कुंभ में सिलेंडर ब्लास्ट से दिगंबर अखाड़े में लगी आग         ||           हिजबुल मुजाहिद्दीन का आतंकी सरफराज जम्‍मू कश्‍मीर के बांदीपोरा से पकड़ा गया         ||           मुंबई में सातवें दिन भी जारी है बेस्ट बसों की हड़ताल         ||           राजधानी दिल्ली में ठंड बढ़ी, कोहरे के कारण 12 ट्रेनें लेट         ||           आज का दिन :         ||           राम माधव ने कहा राहुल गांधी के विदेश दौरे का मतलब देश की छवि को खराब करना         ||           उद्धव ने कहा शिवसेना को हराने वाला पैदा नहीं हुआ         ||           कांग्रेस ने कहा यूपी में सभी 80 सीटों पर अकेले लड़ेंगे         ||           राष्ट्रपति ने सवर्णों को 10 फीसदी आरक्षण बिल को दी मंजूरी         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> भारत से गहरे रिश्ते चाहते हैं वैश्विक प्रवासी संगठन

भारत से गहरे रिश्ते चाहते हैं वैश्विक प्रवासी संगठन


Vniindia.com | Thursday March 10, 2016, 04:50:00 | Visits: 710







वाशिंगटन, 10 मार्च (वीएनआई)। भारतीय मूल के प्रवासियों के वैश्विक संगठन (जीओपीआईओ) भारतीय मूल के उद्यमियों और व्यापारियों से भारत में निवेश करवाने के प्रयास में जुटा हुआ है। प्रवासी संगठन ने बताया, "भारत में निवेश और व्यापार के अनुकूल सरकार के साथ हमें प्रवासियों के लिए काफी अवसर दिख रहे हैं। हम भारत के विकास में भागीदार बनना चाहते हैं।" जीओपीआईओ के कार्यकारी उपाध्यक्ष नोएललाल ने कहा कि उनका संगठन दुनिया के सभी देशों में जहां भी प्रवासी भारतीय हैं, जाकर उन्हें भारत में निवेश के लिए प्रोत्साहित करेगा। संगठन के उपाध्यक्ष राम गाधावी ने गुजराती मूल के प्रवासी भारतीय लेखकों को अमेरिका में एकजुट किया था। अब वे वैश्विक जीओपीआईओ के मंच पर दुनिया के सभी प्रवासी भारतीय लेखकों को एक साथ लाना चाहते हैं। जीओपीआईओ के संस्थापक अध्यक्ष थॉमस अब्राहम जो इस जीओपीआईओ फाउंडेशन के ट्रस्टी भी हैं, ने कहा कि संगठन भारत और उन देशों में जहां प्रवासी भारतीय हैं, अपनी सामाजिक और कल्याणकारी गतिविधियां बढ़ाएंगी। इस संगठन का गठन 1989 में दुनिया भर के प्रवासी भारतीय लोगों के हितों को बढ़ावा देने के लिए किया गया था। इस संगठन के दुनिया के 24 देशों में 65 चेप्टर हैं और 200 आजीवन सदस्य हैं।



Latest News



Latest Videos



कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें