Breaking News
मायावती ने कहा भाजपा सरकार के दलित-विरोधी रवैये का परिणाम है कालपी की घटना         ||           कांग्रेस ने बीएचयू मामले में मोदी-योगी का पुतला फूंका, सिर मुंड़ाया         ||           मोदी और शाह ने बीएचयू की घटना पर योगी से बात की         ||           प्रधानमंत्री मोदी ने कहा भ्रष्टाचार के विरुद्ध लड़ाई जारी, मेरा कोई रिश्तेदार नहीं         ||           बीएचयू मामले में सपाई गिरफ्तार, अखिलेश ने कहा 'डंडे मातरम'         ||           चोटिल एश्टन भारत के खिलाफ जारी वनडे सीरीज से बाहर हुए         ||           भारतीय बास्केट में कच्चे तेल की कीमत 55.77 डॉलर प्रति बैरल         ||           सेंसेक्स 296 अंकों की गिरावट पर बंद         ||           भारत दौरे के लिए न्यूजीलैंड टीम की घोषणा, नीशम और ब्रूम बाहर         ||           बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने अर्थव्यवस्था की प्रशंसा की, राहुल गाँधी पर बोला हमला         ||           नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक रूप में राजीव महर्षि ने शपथ ली         ||           पीवी सिंधु पद्म भूषण, पहलवान जाधव पद्म श्री के लिए नामांकित         ||           आज का दिन :         ||           अंतर्राष्ट्रीय संसदों को पत्र भेजकर उत्तर कोरिया ने डोनाल्ड ट्रंप की निंदा की         ||           डोनाल्ड ट्रंप ने उत्तर कोरिया सहित 8 देशों पर यात्रा प्रतिबंध लगाया         ||           पूर्व पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ पाकिस्तान लौटे         ||           तृणमूल से मुकुल रॉय 6 साल के लिए निलंबित         ||           मुकुल रॉय ने तृणमूल कांग्रेस छोड़ने का ऐलान किया         ||           कांग्रेस ने बीएचयू हिंसा पर मोदी की चुप्पी पर उठाए सवाल         ||           मुलायम ने कहा अखिलेश मेरा बेटा है, लेकिन उसके निर्णयों से सहमत नहीं         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> भारत से गहरे रिश्ते चाहते हैं वैश्विक प्रवासी संगठन

भारत से गहरे रिश्ते चाहते हैं वैश्विक प्रवासी संगठन


Vniindia.com | Thursday March 10, 2016, 04:50:00 | Visits: 260







वाशिंगटन, 10 मार्च (वीएनआई)। भारतीय मूल के प्रवासियों के वैश्विक संगठन (जीओपीआईओ) भारतीय मूल के उद्यमियों और व्यापारियों से भारत में निवेश करवाने के प्रयास में जुटा हुआ है। प्रवासी संगठन ने बताया, "भारत में निवेश और व्यापार के अनुकूल सरकार के साथ हमें प्रवासियों के लिए काफी अवसर दिख रहे हैं। हम भारत के विकास में भागीदार बनना चाहते हैं।" जीओपीआईओ के कार्यकारी उपाध्यक्ष नोएललाल ने कहा कि उनका संगठन दुनिया के सभी देशों में जहां भी प्रवासी भारतीय हैं, जाकर उन्हें भारत में निवेश के लिए प्रोत्साहित करेगा। संगठन के उपाध्यक्ष राम गाधावी ने गुजराती मूल के प्रवासी भारतीय लेखकों को अमेरिका में एकजुट किया था। अब वे वैश्विक जीओपीआईओ के मंच पर दुनिया के सभी प्रवासी भारतीय लेखकों को एक साथ लाना चाहते हैं। जीओपीआईओ के संस्थापक अध्यक्ष थॉमस अब्राहम जो इस जीओपीआईओ फाउंडेशन के ट्रस्टी भी हैं, ने कहा कि संगठन भारत और उन देशों में जहां प्रवासी भारतीय हैं, अपनी सामाजिक और कल्याणकारी गतिविधियां बढ़ाएंगी। इस संगठन का गठन 1989 में दुनिया भर के प्रवासी भारतीय लोगों के हितों को बढ़ावा देने के लिए किया गया था। इस संगठन के दुनिया के 24 देशों में 65 चेप्टर हैं और 200 आजीवन सदस्य हैं।



Latest News



Latest Videos



कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें