Breaking News
लीबिया में अगवा डॉक्टर की रिहाई की डब्ल्यूएचओ ने अपील की         ||           दलवीर भंडारी दूसरी बार आईसीजे न्यायाधीश बने         ||           रहमान ने कहा मैं और मजीदी दोनों विशिष्ट वर्ग के         ||           बिहार भाजपा अध्यक्ष ने अपने विवादित बयान पर दी सफाई         ||           प्रधानमंत्री मोदी ने आईसीजे में भंडारी के दोबारा चुने जाने को सराहा         ||           श्रीनगर में सबसे ठंडी रात, लेह में तापमान शून्य से 10.2 डिग्री नीचे         ||           लुधियाना कारखाना हादसे में मरने वालो की संख्या बढ़कर 10         ||           कमल हासन ने कहा दीपिका की स्वतंत्रता का सम्मान किया जाए         ||           तेल की कीमतों में ओपेक की बैठक से पहले गिरावट         ||           राजधानी दिल्ली में सुबह रहा हल्का कोहरा         ||           जिम्बाब्वे के राष्ट्रपति मुगाबे के खिलाफ महाभियोग की प्रक्रिया शुरू होगी         ||           शेयर बाजारों के शुरुआती कारोबार में तेजी का असर         ||           जेटली ने कहा संसद का शीतकालीन सत्र बुलाने में पहले भी देर हुई थी         ||           वीवो वी7 18990 की कीमत में लांच         ||           विराट कोहली ने लगाया अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट शतकों का अर्धशतक         ||           प्रधानमंत्री मोदी ने दासमुंशी के निधन पर शोक जताया         ||           फरहान अख्तर ने कहा संगीत की भाषा सार्वभौमिक         ||           सेंसेक्स 17 अंकों की तेजी पर बंद         ||           ममता ने कहा 'पद्मावती' विवाद दुर्भाग्यपूर्ण         ||           आखिरी दिन भारत ने दिखाया दम, पहला टेस्ट ड्रा         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> भारत से गहरे रिश्ते चाहते हैं वैश्विक प्रवासी संगठन

भारत से गहरे रिश्ते चाहते हैं वैश्विक प्रवासी संगठन


Vniindia.com | Thursday March 10, 2016, 04:50:00 | Visits: 336







वाशिंगटन, 10 मार्च (वीएनआई)। भारतीय मूल के प्रवासियों के वैश्विक संगठन (जीओपीआईओ) भारतीय मूल के उद्यमियों और व्यापारियों से भारत में निवेश करवाने के प्रयास में जुटा हुआ है। प्रवासी संगठन ने बताया, "भारत में निवेश और व्यापार के अनुकूल सरकार के साथ हमें प्रवासियों के लिए काफी अवसर दिख रहे हैं। हम भारत के विकास में भागीदार बनना चाहते हैं।" जीओपीआईओ के कार्यकारी उपाध्यक्ष नोएललाल ने कहा कि उनका संगठन दुनिया के सभी देशों में जहां भी प्रवासी भारतीय हैं, जाकर उन्हें भारत में निवेश के लिए प्रोत्साहित करेगा। संगठन के उपाध्यक्ष राम गाधावी ने गुजराती मूल के प्रवासी भारतीय लेखकों को अमेरिका में एकजुट किया था। अब वे वैश्विक जीओपीआईओ के मंच पर दुनिया के सभी प्रवासी भारतीय लेखकों को एक साथ लाना चाहते हैं। जीओपीआईओ के संस्थापक अध्यक्ष थॉमस अब्राहम जो इस जीओपीआईओ फाउंडेशन के ट्रस्टी भी हैं, ने कहा कि संगठन भारत और उन देशों में जहां प्रवासी भारतीय हैं, अपनी सामाजिक और कल्याणकारी गतिविधियां बढ़ाएंगी। इस संगठन का गठन 1989 में दुनिया भर के प्रवासी भारतीय लोगों के हितों को बढ़ावा देने के लिए किया गया था। इस संगठन के दुनिया के 24 देशों में 65 चेप्टर हैं और 200 आजीवन सदस्य हैं।



Latest News



Latest Videos



कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें