Breaking News
शिवसेना ने कहा बीजेपी भगोड़े माल्या को 'मेक इन इंडिया' का ब्रांड अंबेसडर बना दे         ||           बीरेन सिंह ने कहा अगर मणिपुर का बंटवारा हुआ तो इस्तीफा दे दूंगा         ||           अनुष्का ने विराट कोहली के साथ पोस्ट की बेहद प्यारी तस्वीर         ||           जावडे़कर ने कहा खुद को मुसलमानों की पार्टी कहने वाली कांग्रेस घोर सांप्रदायिक         ||           आज का दिन : अरुणा आसफ अली         ||           अक्षय-करीना की जोड़ी बॉलीवुड में फिर दिखेगी         ||           सेंसेक्स 218 अंक की गिरावट पर बंद         ||           हरभजन सिंह ने कहा 50 लाख आबादी वाला क्रोएशिया फुटबॉल खेल रहा है और हम हिंदु-मुसलमान         ||           थोक महंगाई दर जून में 5.77 फीसदी, चार साल के उच्चतम स्तर पर         ||           रमेश पवार महिला क्रिकेट टीम के नए अंतरिम कोच बने         ||           प्रधानमंत्री की रैली में टेंट गिरने से 22 लोग घायल         ||           प्रधानमंत्री मोदी ने पश्चिम बंगाल की किसान रैली में विपक्ष पर फिर साधा निशाना         ||           राहुल गांधी ने महिला आरक्षण पर प्रधानमंत्री मोदी को लिखी चिट्ठी         ||           गिरिराज सिंह ने कहा राहुल देश को तोड़ने की साजिश कर रहे हैं         ||           उत्तराखंड के चमोली में बादल फटने भयंकर तबाही, जन-जीवन अस्त-व्यस्त         ||           जम्मू एवं कश्मीर के कुपवाड़ा में मुठभेड़ में एक आतंकी की मौत         ||           नोवाक जोकोविच चौथी बार विंबलडन चैंपियन बने         ||           प्रधानमंत्री मोदी की आज पं. बंगाल के मिदनापुर में किसान रैली         ||           राष्ट्रपति कोविंद और प्रधानमंत्री मोदी ने फ्रांस को दूसरी बार फीफा चैंपियन बनने पर दी बधाई         ||           शेयर बाजार के शुरूआती कारोबार में गिरावट का असर         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> दिवाली की रौशनी

दिवाली की रौशनी


admin ,Vniindia.com | Wednesday October 11, 2017, 05:53:33 | Visits: 230







खास बातें


1 दिवाली की रौशनी

  नयी  दिल्ली 11  -10-2017,सुनील कुमार ,वी एन  आई



 



भजन की फैक्ट्री  3  साल  पहले बंद हो गयी थी ,भजन  उस फैक्ट्री  में मजदूर  था !तीन  साल से उसका  परिवार  बड़ी किल्लतों  से जिंदगी  निकाल  रहा  था!परिवार  में उसकी पत्नी थी ,और एक  छोटा  बेटा था !छोटे मोटे   काम  कर के ,दिहाड़ी मजदूरी  कर के  वो परिवार  का पेट पाल  रहा था !आज दिवाली थी ,पत्नी घर के काम में व्यस्त  थी ,बच्चा पटाखों   के लिए  जिद  कर के रो रो  कर सो गया था   ,भजन अँधेरे  कमरे में उदासी  में बैठा  था ,दिमाग में यही विचार थे की लोग कितने  खुश हैं ,हर तरफ रौशनी है ,पटाखों  की आवाजें  आ  रही  हैं ,कितनी चहल पहल  है ,काश उसकी फैक्ट्री  बंद  न होती और वो भी बेटे  को पटाखे दिलवाता ,मिठाई  लाता ,कमरे  के अँधेरे में  और अपनी जिंदगी के अँधेरे  में उसे बहुत कुछ समानता  नज़र आ रही  थी!तभी हवा  का एक झोंका अपने साथ किसी  पुस्तक का फटा  हुआ  पन्ना साथ  ले कर आया  और पन्ना भजन के पैरों  के पास आ कर गिरा !भजन ने पन्ना  उठाया  उस पर कुछ पंक्तियाँ लिखी  थीं "कोई ऐसी  रात है जिसकी सुबह  न हुई  हो ",पंक्तियाँ  पढ़ते  ही ,भजन     ने कमरे में बल्ब  का स्विच  ऑन  किया   और बेटे को उठाते  हुए बोला "बेटे   उठो ,दिवाली की रौशनी देखो "          



 



Latest News




कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें