Breaking News
मंत्रिमंडल की बारह वर्ष से कम उम्र की बच्चियों से दुष्कर्म पर मृत्युदंड को मंजूरी         ||           सहवाग ने कहा गांगुली के खिलाफ चैपल का मेल पहले मैंने देखा था         ||           परिणीति मेलबर्न की खूबसूरती से प्रभावित हुईं         ||           आज का दिन:         ||           जियोनी नए स्मार्टफोन 26 अप्रैल को लॉन्च करेगी         ||           शिवराज ने कहा बच्ची से दुष्कर्म और हत्या के दोषी को कड़ी सजा मिलेगी         ||           यशवंत सिन्हा ने भाजपा से नाता तोड़ा         ||           छग में नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में सीआरपीएफ का जवान शहीद         ||           फिल्म 'संजू' का टीजर मंगलवार सुबह होगा रिलीज         ||           पाकिस्तानी गोलीबारी में घायल जवान ने दम तोड़ा         ||           सोनाक्षी ने कहा आदित्य संग काम करने को उत्साहित हूं         ||           नॉर्डिक देशो से बढ़ती नजदीकी         ||           उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग का ऐलान, परमाणु परीक्षण अब नहीं होंगे         ||           अमेरिका और जापान के रक्षा प्रमुखों की बैठक         ||           नए राष्ट्रमंडल प्रमुख के तौर पर प्रिंस चार्ल्स जिम्मेदारी संभालेंगे         ||           राजधानी दिल्ली में सुबह सुहावना मौसम         ||           शेयर बाजार सामान्य मॉनसून की आहट से गुलजार         ||           चेन्नई ने राजस्थान को 64 रन से पीटा         ||           वाटसन का आईपीएल-11 में दमदार शतक, चेन्नई ने बनाये 204 रन         ||           जेटली ने कहा कांग्रेस राजनीतिक हथियार के तौर पर महाभियोग का कर रही है प्रयोग         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> चित्रकार नन्दलाल बोस की पुण्य तिथि पर

चित्रकार नन्दलाल बोस की पुण्य तिथि पर


admin ,Vniindia.com | Monday April 16, 2018, 05:21:42 | Visits: 32







खास बातें


1 चित्रकार नन्दलाल बोस की पुण्य तिथि पर

सुनील कुमार ,वी एन  आई ,नयी  दिल्ली 16 -04-2018



 



 



नंदलाल बोस का  जन्म: 3 दिसम्बर, 1882 को   मुंगेर   में  हुआ ;निधन  16 अप्रैल, 1966  को कोलकोता  में  हुआ  वे जाने  माने  चित्रकार थे। नंदलाल बोस ने संविधान की मूल प्रति का डिजाइन बनाया था। इनके प्रसिद्ध चित्रों में है--'डांडी मार्च', 'संथाली कन्या', 'सती का देह त्याग' इत्यादि है। नंदलाल बोस ने चित्रकारों और कला अध्यापन के अतिरिक्त इन्होंने तीन पुस्तिकाएँ भी लिखीं-रूपावली, शिल्पकला और शिल्प चर्चा। ये अवनीन्द्रनाथ ठाकुर के प्रख्यात शिष्य थे।



अपनी  पेंटिंग्स  में वे   इंडियन  स्टाइल  के  लिए  जाने  जाते  थे! उन्होंने  कला भवन,शांतिनिकेतन   में  प्रिंसिपल   के  रूप  में  भी कार्य  किया !



 



 



Latest News



Latest Videos



कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें