Breaking News
लालू ने कहा बिहार में 'महाजंगलराज'         ||           मायावती ने कहा मप्र और छत्तीसगढ़ में माहौल भाजपा के खिलाफ         ||           राष्ट्रपति कोविंद ने कहा आईसीएमएम का सैन्य औषधि में शानदार काम         ||           पाक आतंकी हाफिज की रिहाई पर भारत के क्षोभ के बाद अमरीका ने पाक से कहा उसे फौरन गिरफ्तार कर मुकदमा चलाओ         ||           ममता बनर्जी ने कहा राष्ट्रीय स्तर पर विपक्ष के साथ काम करने को तैयार         ||           राहुल गाँधी ने पोरबंदर में मछुआरा समुदाय को संबोधित किया         ||           नही हटेगी दिल्ली मेट्रो की पहचान बन चुकी करोल बाग स्थित विशालकाय हनुमान जी की मूर्ति अपने स्थान से         ||           पीवी सिंधु हांगकांग ओपन के सेमीफाइनल में पहुंचीं         ||           भाजपा ने गुजरात चुनाव के लिए उम्मीदवारों की 5वीं सूची जारी         ||           भारतीय गेंदबाज़ो के सामने लंकाई हुए चित, पहले दिन की समाप्ति पर भारत 11/1 रन         ||           ममता बनर्जी ने कहा 'पद्मावती' का बंगाल में स्वागत         ||           भारतीय बास्केट में कच्चे तेल की कीमत 61.57 डॉलर प्रति बैरल         ||           सेंसेक्स 91 अंकों की तेजी पर बंद         ||           आज का दिन:         ||           आयुष्मान की अगली फिल्म 'बधाई हो'         ||           राजधानी दिल्ली में चलती बस में किशोरों ने युवक का गला रेता         ||           एशेज के पहले टेस्ट का दूसरा दिन गेंदबाजों के नाम         ||           निर्वाचन आयोग ने कहा आर.के.नगर उपचुनाव 21 दिसंबर को         ||           संसद का शीतकालीन सत्र 15 दिसंबर से शुरू         ||           नागपुर टेस्ट के दूसरे सत्र में श्रीलंका की रनगति बढ़ी, 151/4 रन         ||           
close
Close [X]
अब तक आपने नोटिफिकेशन सब्‍सक्राइब नहीं किया है. अभी सब्‍सक्राइब करें.

Home >> देश-भक्ति की लौ

देश-भक्ति की लौ


admin ,Vniindia.com | Saturday August 12, 2017, 03:52:08 | Visits: 138







खास बातें


1 देश-भक्ति की लौ

   नयी  दिल्ली 12-08-2017,सुनील कुमार ,वी एन  आई



 



वो  शहीद ,अपनी   शहादत  पर



लोगों    की  आँखों   में  आंसू  नहीं



एक  आग  देखना   चाहता  था,



वो  आग जो  हर  नौजवान  के दिल



में देश  भक्ति  की  लौ  जला  सके!



 



   वो जांबाज़ कुछ  देर   और



किसी   गोली का  निशाना 



नहीं    बनना  चाहता था



ताकि  20 ,30   को  नहीं



वो   दुश्मन के    कई    जथ्थों  को



 मौत  की  नींद  सुला सके        



 



 क्या  अजीब    जज्बा  था  उस जांबाज़  का



   वो   जंग के  मैदान  में जाना    चाहता था



 ताकि शहीदों  में   अपना नाम  लिखवा सके



 और तिरंगे    में  लिपटा  अपने गाँव 



वापस आ  सके     



 



 



 



 



Latest News




कमेंट लिखें


आपका काममें लाइव होते ही आपको सुचना ईमेल पे दे दी जायगी

पोस्ट करें


कमेंट्स (0)


Sorry, No Comment Here.

संबंधित ख़बरें